Submit your post

Follow Us

न्यूजीलैंड की मस्जिदों में फायरिंग करने वाले ने 74 पन्नों में कौन सी 11 वजहें बताईं

4.60 K
शेयर्स

15 मार्च का दिन. दोपहर को न्यूजीलैंड के क्राइसचर्च में दो मस्जिदों पर एक हथियारबंद शूटर ने अंधाधुंध गोलियां बरसा दीं. 27 से ज्यादा लोगों के मरने की खबर आ रही है. यहां बांग्लादेश की क्रिकेट टीम भी नमाज़ पढ़ने पहुंची थी. खिलाड़ियों को भागकर मैदान वापस मैदान पर पहुंचना पड़ा. न्यूजीलैंड और बांग्लादेश के बीच तीसरा टेस्ट रद्द कर दिया गया. न्यूजीलैंड पुलिस ने इस हमलावर को हिरासत में ले लिया है.

मगर सबसे खास बात ये कि इस 28 साल के ऑस्ट्रेलियाई युवक ने इन दो मस्जिदों पर हमला करने से पहले 74 पेज का एक मेनिफेस्टो अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर शेयर किया था. हालांकि न्यूजीलैंड पुलिस ने इस युवक का ट्विटर हैंडल सस्पेंड कर दिया है, मगर ये मेनिफेस्टो मीडिया में मौजूद है. इसमें इस युवक ने अपने हमले के पीछे कई वजहें बताई हैं. एक नजर डालिए इन 11 वजहों पर जिसे इस मेनिफेस्टो में शामिल किया है.

Untitled design (61)
घटनास्थल पर राहत पहुंचाते पुलिसकर्मी और दाएं उस मेनिफेस्टो का कवर पेज जिसे हमलावर ने रिलीज किया है.

1. जब तक एक भी व्हाइट आदमी जिंदा है, तब तक वो अपने मुल्क पर बाहरी आक्रमणकारियों को कब्जा करने नहीं देगा. वो हमारी जमीन पर कभी कब्जा नहीं कर पाएंगे और वो हमारी जगह कभी नहीं ले पाएंगे.
मैं ये हमला उन हजारों हजार लोगों की जान के बदले में कर रहा हूं जो इन बाहरी आक्रमणकारियों ने यूरोप में सदियों से ली हैं.

2. मैं ये हमला उन इस्लामिक लोगों से बदले के लिए कर रहा हूं जिन्होंने हमें सालों तक जेल में बंद रखा.

3. मैं ये हमला यूरोपियन जमीन पर हुए अनेकों आतंकी हमलों में मारे गए लोगों की जान के बदले में कर रहा हूं.

4. मैं ये हमला एब्बा एकरलंद की जान का बदला लेने के लिए कर रहा हूं (एब्बा 11 साल की वो लड़की थी जिसकी स्वीडन के स्टॉकहोम में हुए आंतकी हमले में अप्रैल 2017 में जान चली गई थी )

5. मैं ये हमला सीधे तौर पर यूरोप में बाहरी लोगों के आकर बसने को रोकने के लिए है. मैं उन्हें डराकर और मारकर खत्म कर दूंगा.

6. मैं अपने लोगों के राजनीतिक दुश्मनों को बता देना चाहता हूं कि अगर हमारे लोगों को नजरांदाज किया गया तो आखिर में इसी तरह की घटनाएं होंगी.

7. मैं हिंसा और बदले की भावना फैलाकर अपने यूरोपियन लोगों और इन बाहरियों के बीच में फूट पैदा करना चाहता हूं.

8. मैं उस बात का भी बदला लेना चाहता हूं जहां अपनी पहचान और अपनी जमीन को बचाने के लिए यूरोपियन औरतों, मर्दों और बच्चों ने कभी न खत्म होने वाली लड़ाई में अपनी जान दी है. उन लोगों ने सिर्फ इसलिए जान दी क्योंकि वो इस विदेशी गंदगी से अपनी जमीन छुड़ाना चाहते थे.

9. मैं ये करके दिखाना चाहता हूं कि सीधा एक्शन कैसे किया जा सकता है. मैं उन लोगों को रास्ता दिखा रहा हूं जो मेरी तरह सोचते हैं और अपने पूर्वजों की जमीन को इन विदेशी आक्रमणकारियों से छुड़ाना चाहते हैं. मैं बताना चाहता हूं कि वो अकेले ऐसे नहीं हैं.

10. मैं डर का वो माहौल बनाना चाहता हूं जहां बदलाव के लिए ही सबसे क्रांतिकारी, मजबूत और भीषण प्रयास किए जाएंगे.

11. मैं इतिहास के थमते पैंडुलम को गति देना चाहता हूं, मैं वेस्टर्न सोसाइटी को अस्थिर करके एकजुट होने पर मजबूर करना चाहता हूं ताकि वो वर्तमान की सुखवादी, स्वार्थी और व्यर्थवादी सोच से बाहर निकलें जो पश्चिमी सोच पर हावी हो चुकी है.

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें
New Zealand shooter pens down his reasons behind attack on Christchurch Mosques in a 74 page manifesto

टॉप खबर

सूरत में कोचिंग सेंटर में लगी आग, 14 छात्रों समेत 15 लोगों की मौत

जान बचाने के लिए छत से कूदे कई लोग

कांग्रेस को वोट देने की वजह से भाजपाई भाई ने धड़ाधड़ तीन गोलियां उसपर चला दीं

स्टोरी में एक तीसरा भाई भी है जिसके चलते आगे कुआं पीछे खाई वाली स्थिति बनी.

ड्यूटी पर लौटे विंग कमांडर अभिनंदन के साथियों का जोश देख आप भी खुश हो जाएंगे

अभिनंदन ने एक मैसेज भी दिया है.

सनी देओल ने 'ढाई किलो का हाथ' वाला डायलॉग मारा, कर्नल राठौड़ ने 'निशाना' कांग्रेस की ओर मोड़ दिया

राजस्थान के रोड शो में सनी को देखने के लिए 'बेताब' लोगों ने 'गदर' मचा रक्खा था, लेकिन सनी पाजी 'बॉर्डर' क्रॉस करके यूपी चले गए.

राहुल गांधी के पूर्व बिजनेस पार्टनर को कांग्रेस के वक्त मिला था डिफेंस ऑफसेट कॉन्ट्रेक्ट!

रफाल पर मोदी सरकार को घेर रहे थे, खुद वैसे ही आरोपों में घिर गए हैं.

499 नंबर पाकर हंसिका और करिश्मा ने CBSE टॉप किया

मेरिट लिस्ट में पहली पांच टॉपर लड़कियां हैं!

मसूद अज़हर के अंतरराष्ट्रीय आतंकी घोषित होने से भारत को क्या फर्क पड़ेगा?

हर बार चीन रोक लगा देता था, इस बार चीन ने भी समर्थन कर दिया.

भारतीय आर्मी ने जिस 'हिम मानव' के पैर की तस्वीरें जारी की थी, उसके अब और कई फोटो आए हैं

नई तस्वीरों में हिम मानव के पैरों के निशान की लंबाई नापी जा रही है.

दिल्ली में कॉन्स्टेबल ने ट्रेन के नीचे कुचलने से महिलाओं-बच्चों को बचाया, लेकिन खुद नहीं बच पाया

ट्रैक पर एक नहीं बल्कि दोनों तरफ से ट्रेन आ रही थी.

चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने यौन उत्पीड़न के आरोपों के जवाब में ये 9 बातें बोलीं

एक महिला के गंभीर आरोपों को लेकर हुई सुनवाई में तीन जजों की बेंच ने एक बहुत बड़ा दावा किया.