Submit your post

Follow Us

मुस्लिम युवक को पीटने और 'जय श्री राम' के नारे लगवाने के मामले की सीसीटीवी फुटेज में क्या दिखा?

1.34 K
शेयर्स

गुरुग्राम में एक मुस्लिम युवक बरकत आलम से मारपीट, टोपी गिराने और धार्मिक नारे लगवाने के मामले में पीड़ित युवक खुद ही सवालों के घेरे में है. कहानी के अलग-अलग वर्जन सामने आ रहे हैं. रिपोर्ट्स के मुताबिक़ उसने अपनी पुलिस में दर्ज कराई गई एफआईआर में कुछ कहा, मीडिया में अलग बयान दिया.और सीसीटीवी फुटेज कुछ अलग कहानी बता रहे हैं. गुरुग्राम पुलिस ने पूरे मामले की जांच के लिए एसआईटी का गठन किया है.

एफआईआर में क्या लिखवाया?
पीड़ित मोहम्मद बरकत आलम की ओर से दर्ज कराई गई एफआईआर के मुताबिक-

‘मैं हसनपुर वार्ड नंबर 2 टेगरा बेगूसराय बिहार का रहने वाला हूं. फिलहाल मीट मार्केट जैकमपुरा गुरुग्राम में रहता हूं. मैं सिलाई का काम सीखने के लिए गुरुग्राम आया था. मैं कल दिनांक 25.5.19 को समय रात करीब 10.15 पर सदर बाजार मस्जिद से नमाज पढ़कर आ रहा था. जब मैं श्याम स्वीट्स, सदर बाजार के सामने पहुंचा, जहां पर एक मोटर साइकिल पर 4 आदमी थे और 2 पैदल चल रहे थे. पैदल चल रहे आदमियों ने मेरे साथ मारपीट की. और कहा कि आप इस इलाके में टोपी पहनकर नहीं जा सकते. इन दोनों ने मेरे साथ मारपीट की. इन्होंने शराब पी रखी थी. मोटर साइकिल पर 4 आदमी थे, उन्होंने मेरे से कुछ नहीं कहा. और उन्होंने मेरे को गालियां दीं. और वे मोटर साइकिल वाले मौके से भाग गए. दोनों व्यक्तियों ने मुझे जान से मारने की धमकी है. उन सभी का नाम-पता नहीं जानता हूं. सामने आने पर पहचान सकता हूं. मोटर साइकिल का नंबर भी नहीं देख सका.’

बरकत की ओर से लिखाई गई एफआईआर.
बरकत की ओर से लिखाई गई एफआईआर.

अहम सवालः एफआईआर में कहीं भी इस बात का ज़िक्र नहीं है कि आरोपियों ने बरकत से ‘जय श्री राम’ और ‘भारत माता की जय’ के नारे लगवाए.

मीडिया को क्या बयान दिया?
बरकत आलम ने 26 मई के दिन जब मीडिया को बयान दिए, तब उसने कहा कि उससे धार्मिक नारे लगवाए गए. देखें ‘हिंदुस्तान टाइम्स’ में छपा बरकत का एक बयान-

‘घटना उस वक्त हुई, जब मैं सदर बाजार एरिया के जामा मस्जिद में नमाज के बाद घर जा रहा था. बाइक पर सवार 4 शख्स और पैदल चल रहे 2 लोगों ने मुझे रोका. पैदल चलने वालों में से एक ने मुझे डंडे से मारा. और कहा कि इस एरिया में टोपी नहीं पहनने दूंगा. टोपी उतारो. मैंने उससे कहा कि मैं मस्जिद से लौट रहा हूं. जब मैंने टोपी उतारने से इंकार कर दिया तो मुझे पीटा और जबरदस्ती टोपी उतार दी. जब मैंने विरोध किया तो उसने मुझसे ‘जय श्री राम’ और ‘भारत माता की जय’ के नारे लगवाए.’

The youth was returning home after offering Namaz in a mosque when the incident took place.https://t.co/Lo78KnLsqn

— India Today (@IndiaToday) May 26, 2019

बरकत ने आगे कहा कि

‘उन 2 लोगों में से एक ने मुझे थप्पड़ मारा. मैं जमीन पर गिर गया. मैं विरोध कर रहा था, लेकिन किसी ने मेरा साथ नहीं दिया. उनमें से एक ने मुझे डंडे से पीटा. उसने मुझे जय श्री राम और भारत माता की जय के नारे लगाने के लिए कहा. जब मैंने इनकार कर दिया तो उसने मुझे पोर्क खिलाने की धमकी दी. मेरा कुर्ता भी फट गया. जब मैं रोने लगा तो वे भाग गए.’

अहम सवालः धार्मिक नारे लगवाने के आरोप मीडिया में उसने अपनी मर्जी से लगाए या किसी ने उसको ऐसा करने के लिए कहा? या फिर सच में उसके साथ ऐसा हुआ? और एफआईआर में पूरी बात नहीं दर्ज की गई?

सीसीटीवी फुटेज में क्या दिखा?
सीसीटीवी फुटेज इस पूरी घटना की दूसरी ही कहानी बता रहे हैं. गुरुग्राम पुलिस कमिश्नर मोहम्मद अकील ने इंडिया टुडे से जुड़े पत्रकार हिमांशु मिश्रा को बताया कि-

वारदात वाली रात ही पुलिस ने इलाके के सारे सीसीटीवी फुटेज खंगाल लिए थे. एक सीसीटीवी में वारदात पूरी तरह से कैद हो गई है. उसमें देखने से पता लगा है कि बरकत अकेले ही अपने घर की तरफ रात दस बजे के करीब वापस जा रहा था. तभी उसे किसी ने पीछे से आवाज दी. लेकिन वो नहीं रुका. जब दुबारा आवाज लगाई तो बरकत रुक गया. और एक युवक आया, उसने बरकत के सर पर हाथ मारा. जिससे उसकी टोपी गिर गई. फुटेज बहुत साफ नहीं होने की वजह से ये नहीं पता लगा पाया कि टोपी नीचे गिरी या बरकत ने उसे पकड़ लिया. लेकिन बरकत का बयान है कि उसकी टोपी गिर गई थी. इसके साथ उस आरोपी युवक ने बरकत से कहा कि इस इलाके में टोपी पहनना मना है.

पुलिस का सवालः गुरुग्राम पुलिस कमिश्नर ने सवाल उठाया कि वारदात वाली रात बरकत ने नारे वाली बात शिकायत में नहीं दी थी. लेकिन अगले दिन उसने ये बात कही कि उस आरोपी युवक ने उससे ‘भारत माता की जय’ और ‘जय श्री राम’ के नारे लगाने को कहा. वो इस बात की भी जांच कर रहे हैं कि क्या कोई ऐसा शख्स तो नहीं है जो बरकत को गुमराह करके झूठ बुलवा रहा है.

कमिश्नर का कहना है कि आरोपी शराब के नशे में था, और अब तक की जांच में ये बात साफ है कि ये एक महज आपराधिक वारदात है और अपराधी का कोई धर्म नहीं होता है. इस मामले में अब तक किसी संगठन के हाथ होने का भी कोई सबूत नहीं मिला है. उन्हें आरोपी के कुछ सुराग मिले हैं, और उन्हें उम्मीद है कि आरोपी जल्द उनकी गिरफ्त में होगा. आरोपी पास के ही इलाके का रहने वाला है.

बहरहाल, इस एक घटना के बहुत से वर्जन सुनाई दे रहे हैं. देखते हैं जांच में क्या सामने आता है?


वीडियोः गुरुग्राम में मुस्लिम परिवार पर हमले का वीडियो रोंगटे खड़े करने वाला है

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

भाजपा के पूर्व केंद्रीय मंत्री स्वामी चिन्मयानंद पर आरोप लगाने वाली लड़की गायब हो गई

पहले भी रेप का आरोप लगा था स्वामी चिन्मयानन्द पर.

क्या वाकई अब एक रुपए में मिलेंगे सैनिटरी पैड्स?

जिन दुकानों पर मिलेंगे, उन दुकानदारों की बातें भी सुन लें.

28 सितंबर को दिल्ली में इंडिया टुडे का 'माइंड रॉक्स', फिल्मी हस्तियां समेत कई दिग्गज होंगे शामिल

रजिस्ट्रेशन करने का तरीका समझ लें, सीधा अपने नेताओं से सवाल करने का मौका मिलने वाला है.

जिस परिवार पर 'गैंग्स ऑफ वासेपुर' बनी थी, उसमें असल में पंगा हो गया

'फैजल खान' के भांजों ने अपना अलग गैंग बना लिया है.

ईद 2020 की रिलीज़ पर अक्षय-सलमान में जो लफड़ा हो रखा था, उसमें एक और ट्विस्ट आ गया

सलमान ने गोल-मोल ट्वीट करके सबको उलझा दिया है.

क्रिकेटर हर्शेल गिब्स ने आलिया भट्ट को नहीं पहचाना, आलिया ने जवाब दे दिया

हर्शेल गिब्स यानी 6 गेंदों में 6 छक्के और आलिया यानी गली बॉय की सफ़ीना.

प्रेगनेंट औरत 20 किलोमीटर पैदल चलकर डॉक्टर के पास पहुंची, लेकिन घर ज़िंदा न आ सकी

बेशक बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ, लेकिन मां को न भूल जाओ.

'पति झगड़ता ही नहीं, मुझे तलाक़ चाहिए': एक ऐसा डिवोर्स केस जिसने जज को कन्फ्यूज कर दिया

दोनों तरफ की दलीलें सुनकर सर पकड़ लेंगे.

सौरव दादा ने दिवंगत नेता को शुभकामनाएं दे डालीं, ट्रोलर्स बोले,'हमें भी यही वाला स्टफ चाहिए'

'दादा, 2003 के वर्ल्ड कप में फील्डिंग चुनने के बाद ये आपकी दूसरी बड़ी ग़लती है.'

बीकानेर: रेप किया, फिर बॉडी जलाकर नहर में फेंक दी

रेप करने वाला कथित तौर पर सरपंच का रिश्तेदार है, इसलिए पुलिस चुप है.