Submit your post

Follow Us

नेताजी का आख़िरी सिपाही ये क्यूं कहता था कि सुभाष चंद्र बोस विमान हादसे में नहीं मरे?

43.46 K
शेयर्स

नेताजी सुभाष चंद्र बोस की आज़ाद हिंद फौज के आखिरी सिपाही निजामुद्दीन ने 6 फरवरी, 2017  को आजमगढ़ के मुबारकपुर में आखिरी सांस ली. तब वो 116 साल के थे. निजामुद्दीन नेताजी के पर्सनल ड्राइवर भी थे और बॉडीगार्ड भी. कर्नल निजामुद्दीन आजमगढ़ में अपनी पत्नी अजबुल निशा और अपने छोटे बेटे शेख अकरम के साथ रहते थे. निशा की उम्र भी 107 साल है.

colonel-nizamuddin_30_05_2015
कर्नल निजामुद्दीन की फाइल फोटो

ये वही निजामुद्दीन हैं,  मंच पर जिनके पैर छूकर नरेंद्र मोदी ने आशीर्वाद लिया था. बनारस में अपना लोकसभा चुनाव प्रचार शुरू किया था. फिर मोदी प्रधानमंत्री भी बने. पिछले साल नेताजी से जुड़ी फाइलों को सार्वजनिक करने की प्रधानमंत्री की घोषणा के बाद निजामुद्दीन की बूढ़ी आंखों में उम्मीद की नई चमक दिखाई दी थी. उस समय निजामुद्दीन ने कहा था कि उनके गायब होने के रहस्य से पर्दा हटाने के लिए जान देने में भी पीछे नहीं रहूंगा. वो इस बात पर भी जोर देते थे कि फाइलों के अलावा बोस को लेकर बने मुखर्जी आयोग की रिपोर्ट भी सार्वजनिक की जाए.

Untitled design (47)
2014 में मोदी के साथ मंच साझा करते कर्नल निजामुद्दीन

 

‘नेताजी विमान हादसे में नहीं मरे थे’

कर्नल निजामुद्दीन नेताजी सुभाष चंद्र बोस के 1945 में विमान हादसे में मारे जाने वाली थ्योरी का सिरे से खंडन करते थे. उनका दावा था कि आजादी के वक्त नेताजी जिंदा थे. उनका ये भी कहना था कि कुछ लोगों ने अपना हित साधने के लिए जान बूझ के नेताजी की मौत की अफवाह उड़ाई थी. निजामुद्दीन के मुताबिक वो खुद नेताजी को क्रैश के 3-4 महीने बाद बर्मा- थाईलैंड बॉर्डर पर छोड़ के आए थे.

आजाद हिंद फौज का आईकार्ड अपने पास सुरक्षित रखे निजामुद्दीन से पिछले दिनों नेताजी की परपोती राज्यश्री चौधरी ने मुलाकात की थी. नेताजी से उनसे आखिरी मुलाकात के बारे में जब राज्यश्री ने पूछा तो निजामुद्दीन बोले,

‘मैं वो दिन जीते जी कभी नहीं भूल सकता हूं. मैंने बर्मा-थाईलैंड बॉर्डर पर सीतांगपुर नदी के पास कार से उतारा था. मैं उनके साथ खुद भी जाना चाहता था लेकिन उन्होंने यह कहकर वापस भेज दिया कि हम आजाद भारत में मिलेंगे. इसके बाद नेताजी से मेरी कोई मुलाकात नहीं हुई.’

 

Untitled design (43)
कर्नल निजामुद्दीन, नेताजी सुभाष चंद्र बोस के बॉडीगार्ड और पर्सनल ड्राइवर थे.

जब नेताजी ने निजामुद्दीन को बोला ‘कर्नल’:

निजामुद्दीन एक वाकया सुनाया करते थे,

एक बार बर्मा के घने जंगल में मैं और नेता जी साथ थे. नेता जी ने मुंह पोंछने के लिए जेब से रुमाल निकाली तो गिर गई.जैसे ही मैं रुमाल उठाने के लिए झुका तो झाड़ी से नेताजी को निशाने पर लेकर करके तीन गोलियां चलीं. मैं नेताजी के सामने आ गया और तीनों गोलियां मेरी पीठ में लग गईं. जवाबी फायरिंग में झाड़ी में छिपे अंग्रेज दुश्मन की मौत हो गई. फिर मैं बेहोश हो गया. जब होश आया तो नेताजी को मैंने अपने ऊपर झुका हुआ पाया. उसी समय नेताजी ने मुझे ‘कर्नल’ कहकर पुकारा था. मैंने नेताजी से कहा था कि मुझे पद नहीं मेरा देश और आपका साथ प्यारा है. आजाद हिंद फौज के क्रांतिकारी सिपाही डा. लक्ष्मी सहगल ने बंदूक की संगीन गर्म करके मेरी पीठ पर लगी गोलियों को निकाला था.

netaji-subhas-chandra-boses-driver-nizamuddin-is-no-more
नेताजी की परपोती राज्यश्री चौधरी गोलियों के निशानों की तस्वीर खींचती हुईं

इसी के साथ आजाद हिंद फौज अब बस डाक्यूमेंट्स और किस्सों में रह गई. निजामुद्दीन इस फौज के आखिरी सिपाही थे.

ये भी पढ़ें:

वो क्रांतिकारी जिसकी धरपकड़ के लिए अंग्रेजों ने पूरी CID लगा रखी थी

गांधी जी से नहीं इस नेता से डरते थे अंग्रेज, लॉर्ड क्लीमेंट एटली ने ख़ुद किया था ख़ुलासा

आग लगा के रख देगा ‘तिलक’, बोलने वाले नेता की कहानी

2017 आते-आते हल्दीघाटी का युद्ध महाराणा प्रताप जीत गए

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

विधानसभा में पॉर्न देखते पकड़ाए थे, BJP ने उपमुख्यमंत्री बना दिया

और BJP ने देश में पॉर्न पर प्रतिबंध लगाया हुआ है.

आईफोन होने से इतनी बड़ी दिक्कत आएगी, ब्रिटेन में रहने वालों ने नहीं सोचा होगा

मामला ब्रेग्जिट से जुड़ा है. लोग फॉर्म नहीं भर पा रहे.

पूर्व CBI जज ने कहा, ज़मानत के लिए भाजपा नेता ने की थी 40 करोड़ की पेशकश

और अब भाजपा के "कुबेर" गहरा फंस चुके हैं.

आशीर्वाद मांगने पहुंचे खट्टर, आदमी ने खुद को आग लगा ली

दो बार मुख्यमंत्री से मिला, फिर भी नहीं लगी नौकरी.

नेटफ्लिक्स पर आने वाली शाहरुख़ की 'बार्ड ऑफ़ ब्लड' में कश्मीर क्यूं खचेर रहा है पाकिस्तान?

पाकिस्तानी आर्मी के प्रवक्ता के बयान पर सोशल मीडिया कहने लगा 'पीछे तो देखो'.

केरल बाढ़ के हीरो आईएएस कन्नन गोपीनाथन ने कश्मीर मसले पर नौकरी छोड़ते हुए ये बातें कही हैं

नौकरी छोड़ दी. अब न कोई सेविंग्स है, न ही रहने को अपना ख़ुद का घर.

धरती पर क्राइम तो रोज़ होते हैं, लेकिन पहली बार अंतरिक्ष में हुए क्राइम की खबर आई है

अंतरिक्ष में रहते क्राइम करने की बात चौंकाती है.

अरुण जेटली नहीं रहे, यूएई से पीएम मोदी ने कुछ यूं किया याद

गौतम गंभीर ने जेटली को पिता तुल्य बताया.

रफाल के अलावा फ्रांस से और क्या-क्या लाने वाले हैं पीएम मोदी?

इस बड़े मुद्दे पर भारत की तगड़ी मदद करने वाला है फ्रांस.

चंद्रमा पर पहुंचने वाला है चंद्रयान-2, कैसे करेगा काम?

चंद्रयान के एक-एक दिन का हिसाब दे दिया है