Submit your post

Follow Us

यूपी के स्कूल में नमक-रोटी खाते बच्चों का वीडियो बनाने वाला पत्रकार फंस गया

2.52 K
शेयर्स

कुछ दिनों पहले यूपी के मिर्ज़ापुर से एक मामला सामने आया था. पिछले महीने की तारीख 22 अगस्त. एक सरकारी प्राइमरी स्कूल में कुछ बच्चे बैठकर मिड-डे मील खा रहे हैं. और मिड-डे के नाम पर खा रहे रोटी और नमक. इस मामले का वीडियो सामने आया. और वीडियो एकदम से वायरल हो गया.

मिर्ज़ापुर प्रशासन हरकत में आ गया और मिड-डे मील बनवाने के लिए ज़िम्मेदार टीचर को सस्पेंड कर दिया. डीएम सामने आये और कहा कि हम दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करेंगे. खुद कैमरे पर कबूला कि ऐसा लम्बे समय से हो रहा है. बिलकुल गलत है. अब जिस पत्रकार ने इस मामले का वीडियो बनाया था, पलटकर यूपी प्रशासन ने उसके ही खिलाफ मुकदमा दर्ज कर दिया है.

पत्रकार पवन जायसवाल एक लोकल अखबार जनसंदेश टाइम्स के लिए काम करते हैं. पवन पर अब आरोप लगाए जा रहे हैं कि उन्होंने ग्राम प्रधान प्रतिनिधि के साथ मिलकर फर्जीवाड़ा किया है और सरकारी काम में बाधा पैदा की. पुलिस ने उनके खिलाफ आईपीसी की धाराओं 120-B, 186, 193 और 420 के तहत मुकदमा दर्ज किया है. शनिवार 31 अगस्त को.

FIR Against journalist Pawan Jaiswal Mirzapur case
पवन जायसवाल पर हुए FIR का पहला पृष्ठ

इस एफआईआर में उलटे पवन जायसवाल पर ही आरोप लगाये गए हैं. जालसाज़ी के. कहा गया है कि प्रधान प्रतिनिधि राजकुमार पाल ने सुनियोजित तरीके से पत्रकार पवन जायसवाल को फोन किया. पवन मिर्जापुर के सिऊर गांव के प्राथमिक विद्यालय पहुंचे. 22 तारीख को. कहा गया है कि जब तक पत्रकार पवन कुमार जायसवाल प्राथमिक विद्यालय पहुंचे, तब तक विद्यालय की रसोई में सिर्फ रोटी ही बन सकी थी. प्रधान प्रतिनिधि राजकुमार पाल और पवन कुमार जायसवाल ने मिलकर बच्चों को रोटी और नमक बंटवा दिया.

पवन कुमार जायसवाल पर आरोप लगाये जा रहे हैं कि उन्होंने सरकारी काम में बाधा पहुंचाई और रोटी नमक खाते बच्चों का धोखे से वीडियो बनाया. इस बारे में हमने पवन कुमार जायसवाल से बात की. उन्होंने कहा,

“मुझे गांव वाले बहुत दिनों से बता रहे थे कि बच्चों को कभी रोटी-नमक, चावल-नमक, या पतली डाल परोसी जा रही थी. मैं 22 तारीख को स्कूल गया. वहां पर उस दिन भी नमक-रोटी परोसा जा रहा था. मैंने मौके का वीडियो बनाया. वीडियो वायरल हो गया.”

इसके बाद मिर्ज़ापुर प्रशासन हरकत में आया. जिलाधिकारी अनुराग पटेल पहुंचे स्कूल. पता चला कि सच में गड़बड़ हो रही थी. मीडिया से कहा कि कार्रवाई होकर रहेगी. लेकिन कार्रवाई की अपनी गति थी, और पत्रकार पवन जायसवाल पर केस होने की अपनी गति.

Journalist Pawan Kumar Jaiswal
पत्रकार पवन जायसवाल, जिन पर मुकदमा दर्ज हुआ है.

पवन जायसवाल ने कहा,

“इस मसले पर डीएम तो सामने आए. लेकिन कुछ ही दिनों बाद उन्होंने कई पत्रकारों के सामने मुझसे कहा कि आपकी हरकत की वजह से जिले की बहुत बदनामी हुई है. आप पर मुकदमा दर्ज किया जाएगा.”

और पवन पर मुकदमा दर्ज हो गया. कहते हैं कि आरोप बेबुनियाद हैं. आज वे मंडलायुक्त से मिलेंगे और ज़रुरत पड़ी तो इलाहाबाद हाईकोर्ट भी जाएंगे. यूपी में इसके पहले भी पत्रकारों पर मुकदमे दर्ज होते रहे हैं. कुछ ही दिनों पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मज़ाक करने के बाद एक पत्रकार को यूपी पुलिस दिल्ली से उठा ले गयी थी. जिसके बाद बहुत हंगामा हुआ था.

इस बारे में हमने मिर्जापुर के डीएम से अनुराग पटेल से बात करने की कोशिश की. पता चला कि व्यस्त हैं. उनका जवाब आते ही बताया जाएगा कि उन्होंने इस पूरे मामले और खुद पर लगे आरोपों पर क्या कहा.

देखिए इस मामले का वीडियो

मिर्ज़ापुर के इस प्राइमरी स्कूल में मिड-डे मील योजना का हाल देखिए

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

आमिर खान की अगली फिल्म 'लाल सिंह चड्ढा' का मोशन पोस्टर आ गया, इस दिन रिलीज होगी

नया लुक देखकर लग रहा है कुछ धमाकेदार होने वाला है.

लड़की के साथ बदतमीजी करने पर टीचर ने डांटा, लड़के ने भीड़ बुलाकर मास्टर को खूब पिटवाया

ये वारदात है UP की. टीचर को बहुत चोट आई. फ्रैक्चर हो गया है. इस वारदात का एक विडियो भी वायरल है.

ऋषभ ने कभी न सोचा होगा कि विराट कोहली को बड्डे विश करना इतना महंगा पड़ेगा

फैन्स ने न सिर्फ पंत को मधुमक्खी की तरह घेरा बल्कि ट्रोलिंग के डंक मार-मार के उन्हें पस्त भी कर दिया.

उजड़ा चमन से विवाद खत्म हुआ तो फिल्म बाला पर एक और बड़ी मुसीबत आ गई

फिल्म की रिलीज़ में सिर्फ दो दिन बचे हैं और फिल्म बनाने वालों को कोर्ट ने नोटिस भेज दिया

'राधे' फिल्म की शूटिंग से सलमान ने वीडियो शेयर किया, लोग टूट-टाटकर देख रहे हैं

इंटरनेट न बैठ जाए कसम से.

बांदा: सरकारी दफ्तर में कर्मचारी हेलमेट लगाकर काम करते हैं, वजह काफ़ी दुखी करने वाली है

यहां सड़क से ज्यादा कमरे के अंदर हेलमेट लगाना जरूरी है.

ज़िंदा जलाई गई तहसीलदार को बचाने की कोशिश करने वाले ड्राइवर की भी मौत

ड्राइवर के परिवार में आठ महीने की प्रेगनेंट पत्नी और दो साल का एक बेटा है.

एक परिवार ने अनुष्का-विराट को घर बुलाया, चाय पिलाई, बिना ये जाने कि दोनों स्टार हैं

इस ग्रामीण परिवार और उनकी सादगी ने अनुष्का को भावुक कर दिया.

अधिकारी को बल्ले से पीटने वाले आकाश विजयवर्गीय ने ऐसा काम किया कि मोदी माफ़ नहीं कर पाएंगे

आकाश विधायक हैं, बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के बेटे हैं.

छोटे भाई की हत्या की, डेड बॉडी के साथ जो किया वो और भी डरावना है

मकान मालिक को शक हुआ, तो पता चला 18 घंटे पहले ही हो चुका था सबकुछ.