Submit your post

Follow Us

BJP ने बड़बोली प्रज्ञा ठाकुर को चुप कराने का आईडिया निकाल लिया है

529
शेयर्स

मालेगांव धमाकों की आरोपी और भाजपा सांसद प्रज्ञा ठाकुर. नरेंद्र मोदी ने कहा था कि दिल से माफ़ नहीं कर सकते. क्यों? क्योंकि प्रज्ञा ठाकुर का नाम मालेगांव बम धमाके की प्रमुख आरोपी के तौर पर आया था. प्रज्ञा बड़बोली मानी जाती हैं. गोबर से अपना कैंसर ठीक कर दिया. और सुषमा स्वराज, बाबूलाल गौड़ और अरुण जेटली के निधन के बाद कहा कि विपक्ष काले जादू और मारक शक्तियों का उपयोग कर रहा है, इस वजह से भाजपा के वरिष्ठ नेता मारे जा रहे हैं.

अब भाजपा की भद्द पिटी तो पार्टी को होश आया. और प्रज्ञा को चुप कराने का इंतजाम कर लिया गया. क्या इंतज़ाम? ठाकुर को बाक़ायदे बताया गया है कि अगली बार अगर कुछ गड़बड़ बोलती हैं, तो आपके खिलाफ गंभीर कार्रवाई की जाएगी.

भाजपा में मौजूद सूत्रों ने बताया है कि साध्वी प्रज्ञा को कहा गया है कि वे पब्लिक में न बोलें और ऐसे विवादित बयान न दें.

हिन्दुस्तान टाइम्स की मानें तो भाजपा के मध्य प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह ने ये कदम उठाए हैं. उनके बयानों से बवाल उठा. एक हफ्ते पहले तक प्रज्ञा ठाकुर मध्य प्रदेश में अरुण जेटली की स्मृति में होने वाले कार्यक्रमों में बोलने के लिए पार्टी नेतृत्त्व को स्लिप भेज रही थीं, लेकिन पार्टी नेतृत्त्व ने उनकी मांग को हर बार दरकिनार किया.

पार्टी के एक नेता ने हिन्दुस्तान टाइम्स से बातचीत करते हुए कहा,

“हम फिर से ऐसा होते दुहरा नहीं सकते थे. सोमवार को प्रज्ञा ठाकुर ने ऐसी मांग की थी. लेकिन बाबूलाल गौड़ भोपाल से आने वाले नेता थे और प्रज्ञा खुद भोपाल से सांसद हैं. पार्टी को आभास हुआ है कि जब भी वे बोलती हैं, तो हर बार वो गलत ही करती हैं.”

लेकिन प्रज्ञा के सहयोगी जेपी शर्मा ने कहा है कि प्रज्ञा को बोलने से क्या कोई रोक सकता है? जब मीडिया ने जेपी शर्मा से पूछा कि अब उन्हें कई कार्यक्रमों में क्यों नहीं बुलाया जा रहा है, खासकर एक हालिया कार्यक्रम में जिसे भोपाल के मेयर ने आयोजित किया था, तो शर्मा ने कहा कि प्रज्ञा जी की तबीयत ठीक नहीं थी, इसलिए खुद ही वे नहीं गयीं.

और पार्टी के कार्यकर्ता प्रज्ञा के साथ काम नहीं करना चाहते. चुनाव के परिणाम आए महीने बीत चुके हैं लेकिन प्रज्ञा ने भोपाल में खुद के प्रतिनिधि की नियुक्ति नहीं की है. इस बारे में गप्पबाज़ी शुरू हुई तो बात सामने आई कि दरअसल पार्टी के कार्यकर्ता प्रज्ञा ठाकुर के साथ काम नहीं करना चाह रहे हैं. इसकी वजह प्रज्ञा का गिरता ग्राफ है.

हाल में ही बीजेपी का सदस्यता अभियान ख़त्म हुआ है. पार्टी दावे कर रही है. और इसी बीच प्रज्ञा ठाकुर की बयानबाज़ी चल रही थी. एक और नेता ने मीडिया से कहा,

“हम उनके बयानों से सहमत नहीं हैं. हम इस समय भाजपा के सदस्यता अभियान में व्यस्त हैं. उनके बयानों से हमारी मुहिम को नुकसान पहुंच रहे हैं, जिनके लिए हम इतनी मेहनत कर रहे हैं.”


लल्लनटॉप वीडियो : RBI और मोदी सरकार के बीच लेनदेन पर ये सात विद्वानों ने क्या बोला है?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

10 साल के बच्चे ने ISRO को लेटर लिखकर वो बात कह दी, जिसका ख़याल किसी को नहीं आया

लेटर पढ़कर किसी के भी हौसले बुलंद हो सकते हैं.

एशिया कप: लग रहा था कि पाकिस्तान जीत जाएगा फिर ये बॉलर आया और पासा पलट गया

अर्जुन आज़ाद और तिलक वर्मा ने शतक लगाए और सेमीफाइनल में पहुंच गई टीम.

मोदी सरकार 2.0 के 100 दिन पूरे होने पर राहुल गांधी ने बधाई दी है

ऐसी बधाई जिसे मोदी स्वीकार करना नहीं चाहेंगे.

धोनी के रिटायरमेंट के सवाल पर टीम के कोच रहे कुंबले ने क्या-क्या कहा?

क्यों कुंबले ने कहा कि वक्त आ गया है कि अब सेलेक्टर्स को धोनी से बात करनी चाहिए.

भारत के चंद्रयान 2 पर नासा ने जो कहा, उसे सुनकर आप गर्व से भर जाएंगे

अब तो पूरी दुनिया ने कह दिया है कि भारत ने जो किया है, उसे करना किसी और के लिए मुश्किल था.

सुनील शेट्टी ने बताया, किन लोगों की वजह से करते थे एक से एक खतरनाक स्टंट

अपने करियर के शुरू का क़िस्सा सुनील शेट्टी ने शेयर किया.

कोहली बोले, जब टीम चेज करते हुए हार जाती तो मुझे लगता था मैं होता तो जिता देता

कोहली ने बताया, किस तरह पिता की मौत उनके करियर का टर्निंग पॉइंट बन गई.

उन्नाव रेप केस : दो हफ्ते में पता चल जाएगा कि कुलदीप सेंगर दोषी है या नहीं

सुप्रीम कोर्ट ने ऐसा आदेश दिया है कि अब अस्पताल ही कोर्ट बन जाएगा

मिशन चंद्रयान-2: पीएम मोदी ने बताया, क्यों इसरो से जल्दी निकल गए थे

पीएम ने कहा कि हमें अपने वैज्ञानिकों पर गर्व है.

दर्शक की गाली पर डेविड वार्नर का रिएक्शन देखने लायक था

वार्नर के दिन अच्छे नहीं चल रहे.