Submit your post

Follow Us

लंदन में वो मुलाकात न हुई होती तो KBC में कभी नज़र नहीं आते अमिताभ बच्चन

5
शेयर्स

टीवी पर कुछ शो जो बेहद पसंद किए जाते हैं, उनमें से एक है ‘कौन बनेगा करोड़पति’. शो का 11वां सीजन चल रहा है और तीसरे सीजन के अलावा शो के होस्ट सिर्फ अमिताभ बच्चन रहे हैं. हालांकि एक वक्त ऐसा भी था जब अमिताभ टीवी के इस टॉप शो को करना नहीं चाहते थे. दरअसल वो टीवी पर ही काम नहीं करना चाहते थे. लेकिन मेकर्स ने उन्हें मना लिया. कैसे? इसके बारे में खुद सिद्धार्थ बसु ने दैनिक भास्कर को दिए एक इंटरव्यू में बताया है. वो शो के डायरेक्टर और क्रिएटिव हैड हैं. और साल 2000 में उन्हीं की प्रोडक्शन कंपनी बिग सिनर्जी ने इसमें पैसा लगाया था.

चैनल ने साल 2000 में सिद्धार्थ को ‘कौन बनेगा करोड़पति’ के लिए अप्रोच किया था. उन्हें शो का फॉर्मेट पता था. लेकिन शो के होस्ट का नाम तय नहीं था. सिद्धार्थ के मुताबिक, तब दो सुपरस्टार्स पर बात चल रही थी. सचिन तेंदुलकर और अमिताभ बच्चन. अमिताभ का नाम फाइनल हुआ.

Dd
‘कौन बनेगा करोड़पति’ का तीसरा सीजन शाहरुख खान ने होस्ट किया था.

सिद्धार्थ ने कहा-

अमिताभ का नाम तय होने पर मैं ज्यादा संतुष्ट था. क्योंकि हमें आइडिया था कि वो शो के फॉर्मेट और चैनल के कल्चर के हिसाब से काम कर सकेंगे.

लेकिन असली पेंच तब आया जब अमिताभ को ‘केबीसी’ ऑफर हुआ, लेकिन उनकी तरफ से कोई खास रिस्पॉन्स नहीं आया. दरअसल अमिताभ टीवी पर काम करने को लेकर कंफ्यूजन में थे. अमिताभ को उनके परिचित लोगों ने टीवी पर काम न करने की सलाह दी थी. तब कहा जाता था कि फिल्मों के स्टार का टीवी पर आने का मतलब है कि उसका फिल्मी करियर पूरी तरह खत्म.

अमिताभ रिस्क नहीं उठाना चाहते थे. लेकिन अपनी कंपनी एबीसीएल (अमिताभ बच्चन कॉर्पोरेशन लिमिटेड) फेल होने के बाद आर्थिक संकट भी था. तब अमिताभ शो के मेकर्स से मिलने को राजी हुए.

सिद्धार्थ ने कहा-

हमारी लंदन में मुलाकात हुई, जहां मैंने उन्हें शो ‘हू वांट्स टू बी मिलियनेयर’ दिखाया. उनका जवाब आया- अगर हम भी सब कुछ इसी तरह से करें तो मैं शो करने के लिए तैयार हूं.

बस इसके बाद बात बन गई. और अमिताभ ‘केबीसी’ होस्ट करते नजर आए. अभी शो का 11वां सीजन चल रहा है और शो की पॉपुलैरिटी बरकरार है.


Video : बाल्ड-बाल्ड देखें या बाल-बाल बचें, जानने के लिए पहले ‘बाला’ का रिव्यू देखिए

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

नेहरु से इतना प्यार? मोदी अब बिना कांग्रेस के नेहरू का ख्याल रखेंगे

एक भी कांग्रेस का नेता नहीं. एक भी नहीं.

शरद पवार बोले- महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लगने से बचाना है, तो बस एक ही तरीका है

शिवसेना के साथ मिलकर सरकार बनाने की मिस्ट्री पर क्या कहा?

मोदी को क्लीन चिट न देने वाले चुनाव अधिकारी को फंसाने का तरीका खोज रही सरकार!

11 कंपनियों से सरकार ने कहा, कोई भी सबूत निकालकर लाओ

दफ़्तर में घुसकर महिला तहसीलदार पर पेट्रोल छिड़का, फिर आग लगाकर ज़िंदा जला दिया

इस सबके पीछे एक ज़मीन विवाद की वजह बताई जा रही है. जिसने आग लगाई, वो ख़ुद भी झुलसा.

दिल्ली के तीस हजारी कोर्ट में पुलिस और वकीलों के बीच झड़प, गाड़ियां फूंकी

पुलिस और वकील इस झड़प की अलग-अलग कहानी बता रहे हैं.

US ने जारी किया विडियो, देखिए कैसे लादेन स्टाइल में किया गया बगदादी वाला ऑपरेशन

अमेरिका ने इस ऑपरेशन से जुड़े तीन विडियो जारी किए हैं.

लल्लनटॉप कहानी लिखिए और एक लाख रुपये का इनाम जीतिए

लल्लनटॉप कहानी कंपटीशन लौट आया है. आपका लल्लनटॉप अड्डे पर पहुंचने का वक्त आ गया है.

अमेठी: पुलिस हिरासत में आरोपी की मौत, 15 पुलिसवालों के खिलाफ केस दर्ज

मौत कैसे हुई? मजिस्ट्रेट जांच के आदेश दिए गए हैं.

PMC खाताधारकों ने बीजेपी नेता को घेरा, तो पुलिस ने उन्हें बचाकर निकाला

RBI के साथ मीटिंग करने पहुंचे थे.

इस विदेशी सांसद को कश्मीर आने का न्योता दिया फिर कैंसल कर दिया, वजह हैरान करने वाली है

सांसद ने ऐसी शर्त रख दी थी कि विदेशी डेलिगेशन का हिस्सा नहीं बन पाए.