Submit your post

रोजाना लल्लनटॉप न्यूज चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं !

Follow Us

कमर तक बर्फ में प्रेगनेंट महिला को स्ट्रेचर पर लेकर दौड़े सेना के जवान

5
शेयर्स

कश्मीर में भारी बर्फबारी हो रही थी. उसी में फंस गई एक महिला. लेबर पेन से जूझती हुई महिला. कोई अनहोनी नहीं हुई. उसको टाइम से अस्पताल पहुंचाया गया. वहां उसने जुड़वां बच्चों को जन्म दिया. और मौके पर काम कौन आया? वही हमेशा की संकट मोचन भारतीय सेना.

पूरी बात सुनो. उत्तरी कश्मीर में बांदीपुरा जिला है. फ्राइडे यानी जुम्मे अर्थात शुक्रवार की बात है. पनार आर्मी कैंप में कंपनी कमांडर के पास फोन आया. एक गांव से एक आदमी अपनी प्रेगनेंट वाइफ गुलशन बेगम की मदद करने की गुहार लगा रहा था. मौसम महा खराब था. बर्फ गिर रही थी. पारा माइनस सात डिग्री था. बाहर सड़कों पर बर्फ ही बर्फ थी. गाड़ी निकलना असंभव था. लेकिन इमरजेंसी की बात. मदद पहुंचानी जरूरी थी.

ये है बर्फ का हाल. राइजिंग कश्मीर वाले निसार उल हक के ट्विटर हैंडल से है तस्वीर
ये है बर्फ का हाल. राइजिंग कश्मीर वाले निसार उल हक के ट्विटर हैंडल से है तस्वीर

बांदीपुरा राष्ट्रीय राइफल्स के जवान गांव पहुंचे. जहां से मदद की गुहार की गई थी. वहां महिला को स्ट्रेचर पर लिटाया और दौड़ लगा दी. कमर तक बर्फ में ढाई किलोमीटर चलकर आर्मी एंबुलेंस तक पहुंचाया. वहां से एंबुलेंस पर जिला अस्पताल भेजा गया. वहां पहले से अफसरों ने बात करके सारे इंतजाम करवा रखे थे. क्योंकि एक एक मिनट कीमती था. तैयारी में देरी मुश्किल पैदा कर सकती थी.

हिंदुस्तान टाइम्स अखबार की खबर के मुताबिक वहां पता चला कि महिला प्रेगनेंट है. डिलिवरी नॉर्मल नहीं होगी. ऑपरेशन करना पड़ेगा. तो भागकर श्रीनगर अस्पताल पहुंचाया गया. वहां सीजेरियन डिलिवरी हुई. दो बच्चे पैदा हुए. जच्चा बच्चे तीनों स्वस्थ थे, क्योंकि टाइम से मदद पहुंच गई थी.


 

लल्लनटॉप न्यूज चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं !

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें
Indian Army rescues pregnant woman stuck in heavy snow

टॉप खबर

रफाएल पर 'द हिंदू' का एक और खुलासा, लेकिन क्या इसमें जानकर कुछ छिपाया गया?

'द हिंदू' के मुताबिक सरकार ने रफाएल से एंटी-करप्शन क्लॉज़ हटाया...

सुप्रीम कोर्ट ने क्या कहा, जिसे ममता-मोदी दोनों तरफ के लोग अपनी जीत मान रहे हैं

CBI और कोलकाता पुलिस की लड़ाई असल में ममता और मोदी की लड़ाई मानी जा रही है...

सीबीआई को लेकर मोदी सरकार से क्यों टकरा रही हैं ममता बनर्जी

जानिए कोलकाता से लेकर दिल्ली तक क्यों बरपा है हंगामा, क्या-क्या हुआ अब तक?

CBI पहुंची थी कोलकाता कमिश्नर के घर, पुलिस ने टीम को ही हिरासत में ले लिया

मोदी बनाम ममता की लड़ाई अब पुलिस बनाम सीबीआई, ममता बनर्जी धरने पर.

'5 लाख तक टैक्स नहीं' ये सुनने के बाद कन्फ्यूजन क्यों फैला?

अंतरिम बजट आ गया है. आपके लिए क्या निकलकर आया, वो जानो.

इन्कम टैक्स पर मोदी सरकार का सबसे बड़ा ऐलान

गाइए - 'जिसका मुझे था इंतज़ार, वो घड़ी आ गई.'

हम पकौड़ों में रोज़गार तलाश रहे थे, बेरोजगारी 45 साल के टॉप पर पहुंच गई

रिसी हुई रिपोर्ट का रहस्योद्घाटन कि रोजगार के नाम पर तो रायता फ़ैल चुका है.

क्या है मायावती सरकार में हुआ 1400 करोड़ का स्मारक घोटाला, जिसमें ED ने छापा मारा है

सवा चार लाख का हाथी, बांटे गए 60 लाख. जमके लूट मची थी!

महात्मा गांधी की हत्या के तीन आरोपी, जिनके अभी भी जिंदा होने की आशंका है

गांधीजी के पड़पोते तुषार का कहना है कि ये अकेली लापरवाही नहीं थी!

गांधी की हत्या में RSS की क्या भूमिका थी?

इस सवाल पर दशकों से सिर धुना जा रहा है, गांधीजी की डेथ एनिवर्सरी पर जानिए कुछ इनसाइट्स.