Submit your post

Follow Us

कमर तक बर्फ में प्रेगनेंट महिला को स्ट्रेचर पर लेकर दौड़े सेना के जवान

13.77 K
शेयर्स

कश्मीर में भारी बर्फबारी हो रही थी. उसी में फंस गई एक महिला. लेबर पेन से जूझती हुई महिला. कोई अनहोनी नहीं हुई. उसको टाइम से अस्पताल पहुंचाया गया. वहां उसने जुड़वां बच्चों को जन्म दिया. और मौके पर काम कौन आया? वही हमेशा की संकट मोचन भारतीय सेना.

पूरी बात सुनो. उत्तरी कश्मीर में बांदीपुरा जिला है. फ्राइडे यानी जुम्मे अर्थात शुक्रवार की बात है. पनार आर्मी कैंप में कंपनी कमांडर के पास फोन आया. एक गांव से एक आदमी अपनी प्रेगनेंट वाइफ गुलशन बेगम की मदद करने की गुहार लगा रहा था. मौसम महा खराब था. बर्फ गिर रही थी. पारा माइनस सात डिग्री था. बाहर सड़कों पर बर्फ ही बर्फ थी. गाड़ी निकलना असंभव था. लेकिन इमरजेंसी की बात. मदद पहुंचानी जरूरी थी.

ये है बर्फ का हाल. राइजिंग कश्मीर वाले निसार उल हक के ट्विटर हैंडल से है तस्वीर
ये है बर्फ का हाल. राइजिंग कश्मीर वाले निसार उल हक के ट्विटर हैंडल से है तस्वीर

बांदीपुरा राष्ट्रीय राइफल्स के जवान गांव पहुंचे. जहां से मदद की गुहार की गई थी. वहां महिला को स्ट्रेचर पर लिटाया और दौड़ लगा दी. कमर तक बर्फ में ढाई किलोमीटर चलकर आर्मी एंबुलेंस तक पहुंचाया. वहां से एंबुलेंस पर जिला अस्पताल भेजा गया. वहां पहले से अफसरों ने बात करके सारे इंतजाम करवा रखे थे. क्योंकि एक एक मिनट कीमती था. तैयारी में देरी मुश्किल पैदा कर सकती थी.

हिंदुस्तान टाइम्स अखबार की खबर के मुताबिक वहां पता चला कि महिला प्रेगनेंट है. डिलिवरी नॉर्मल नहीं होगी. ऑपरेशन करना पड़ेगा. तो भागकर श्रीनगर अस्पताल पहुंचाया गया. वहां सीजेरियन डिलिवरी हुई. दो बच्चे पैदा हुए. जच्चा बच्चे तीनों स्वस्थ थे, क्योंकि टाइम से मदद पहुंच गई थी.


 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

अरुण जेटली नहीं रहे, यूएई से पीएम मोदी ने कुछ यूं किया याद

गौतम गंभीर ने जेटली को पिता तुल्य बताया.

रफाल के अलावा फ्रांस से और क्या-क्या लाने वाले हैं पीएम मोदी?

इस बड़े मुद्दे पर भारत की तगड़ी मदद करने वाला है फ्रांस.

चंद्रमा पर पहुंचने वाला है चंद्रयान-2, कैसे करेगा काम?

चंद्रयान के एक-एक दिन का हिसाब दे दिया है

विंग कमांडर अभिनंदन को पकड़ने वाला पाकिस्तानी सैनिक मारा गया!

पाकिस्तानी आर्मी की तस्वीर में अभिनंदन को पकड़े हुए दिखा था अहमद खान.

नकली दूध बेचा, पुलिस ने आतंकियों वाला NSA लगा दिया

सरकार ने तो पहले ही कह दिया था.

कांग्रेस और सपा छोड़कर भाजपा में आए नेताओं ने मोदी के बारे में क्या कहा?

वो भी कल लखनऊ में...

कश्मीर में बैन के बाद भी किसकी मेहरबानी से गिलानी इस्तेमाल कर रहे थे फोन-इंटरनेट?

बैन के चार दिन बाद तक गिलानी के पास इंटरनेट और फोन था. प्रशासन को इसकी भनक भी नहीं थी.

पीएम मोदी ने छठवीं बार लाल किले पर फहराया तिरंगा, 92 मिनट के भाषण में नया क्या था?

पीएम मोदी ने अपने कार्यकाल की उपलब्धियां गिनाई.

बीफ़-पोर्क के नाम पर ज़ोमैटो कर्मचारियों को भड़काने वाले लोकल भाजपा नेता निकले!

और एक नहीं, कई हैं ऐसे. देखिए तो...

यूपी के एक और अस्पताल में 32 बच्चों की मौत, डॉक्टरों को कारण का पता नहीं

किसी ने कहा था, "अगस्त में तो बच्चे मरते ही हैं"