Submit your post

रोजाना लल्लनटॉप न्यूज चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं !

Follow Us

वो पांच जवान, जो बड़गाम हेलिकॉप्टर क्रैश में शहीद हुए

2.60 K
शेयर्स

# स्कॉड्रन लीडर निनाद मंडावगने की बेटी पिछले हफ्ते ही 2 साल की हुई थी. वो घर नहीं जा पाए. क्योंकि भारत-पाक के बीच तनाव बढ़ रहा था. इंडियन एयरफोर्स के सभी पायलटों की छुट्टियां कैंसल कर दी गई थीं. अब वो कभी घर जा नहीं पाएंगे. उनको आखिरी बार घर ले जाया जाएगा. क्योंकि बडगाम में क्रैश हुए MI 17 हेलिकॉप्टर में निनाद भी सवार थे. वो इसके पायलट थे. TOI के मुताबिक निनाद के पिता अनिल मंडावगने ने कहा कि-

मुझे मेरे बेटे पर गर्व है. उसने देश के लिए प्राण न्यौछावर कर दिए. वो मानसिक तौर पर मज़बूत था. और जब से एयर फोर्स जॉइन की थी, वो किसी भी हालात का सामना करने के लिए तैयार था.

हादसे के कुछ ही देर बाद आर्मी ने इलाके को अपने कंट्रोल में कर लिया
हादसे के कुछ ही देर बाद आर्मी ने इलाके को अपने कंट्रोल में कर लिया.

# दूसरी ओर चंडीगढ़ में भी माहौल गमगीन था. जगदीश कांसल के इकलौते बेटे सिद्धार्थ वशिष्ठ भी बडगाम क्रैश में शहीद हुए हैं. सिद्धार्थ इंडियन एयर फोर्स में स्कॉड्रन लीडर थे. उनकी पत्नी आरती भी एयर फोर्स में स्कॉड्रन लीडर हैं. आजकल छुट्टी पर थीं. लेकिन भारत-पाक के बीच बढ़ते तनाव के कारण छुट्टी रद्द हो गई. कुछ ही दिनों में ड्यूटी जॉइन करने वाली थीं. शायद किस्मत को ये कबूल ना था.
दोनों की शादी 2013 में हुई थी. दोनों का 2 साल का बेटा है- अंगद. हिंदुस्तान टाइम्स की खबर के मुताबिक, सिद्धार्थ फौजी बैकग्राउंड से आते थे. वो फौज में सेवाएं देने वाली परिवार की चौथी पीढ़ी थे. इससे पहले उनके पिता, दादा और परदादा फौज में रहकर देश की सेवा कर चुके हैं. सिद्धार्थ के पिता जगदीश कांसल के मुताबिक सिद्धार्थ अपने मामा से इंस्पायर थे. सिद्धार्थ के मामा विनीत भारद्वाज भी इंडियन एयर फोर्स में विंग कमांडर थे. 2002 में एक MiG 21 क्रैश में वो शहीद हुए थे.

चार भाई-बहनों में सिद्धार्थ सबसे छोटे थे. वो 31 साल के थे और 2010 में ग्रेजुएशन पूरी करने बाद इंडियन एयर फोर्स का हिस्सा बने थे. सिद्धार्थ का परिवार मूल रूप से हरियाणा के अंबाला जिले में हमीदपुर गांव से है.

बडगाम साउथ कश्मीर का इलाका है. पिछले दिनों में कश्मीर के इस हिस्से में तनाव बढ़ा है.
बडगाम साउथ कश्मीर का इलाका है. पिछले दिनों में कश्मीर के इस हिस्से में तनाव बढ़ा है.

# हरियाणा के एक और कोना है झज्जर. वहां के भदानी गांव में भी मातम पसरा है. क्योंकि गांव ने अपने जांबाज़ बेटे विक्रांत के खोया है. शहादत की खबर मिलते ही पूरा गांव विक्रांत के घर जुट गया. सभी को दिल में रोष था. विक्रांत एयर फोर्स में सार्जेंट थे. उनके पिता कृष्ण सहरावत ने सरकार से अपील की है कि इस समस्या का पक्का इलाज ढूंढ़ा जाए. कहा-

रोज़-रोज़ की लड़ाई खत्म हो ताकि माओं की गोद सूनी ना हो और पत्नियों के सुहाग सलामत रहें.

विक्रांत के पिता अपने दूसरे बेटे को भी सेना में भेजना चाहते हैं. ताकि दुश्मनों को सबक सिखाया जा सके.

बडगाम हमले में यूपी के भी 2 जवान शहीद हुए.

# कॉरपोरल पंकज कुमार मथुरा के रहने वाले थे. पंकज के पिता नौबत सिंह भी आर्मी में सूबेदार थे. पंकज 27 साल के थे. 2015 में उनकी शादी मेघा से हुई थी. दोनों का 15 महीने का एक बेटा है- रुद्राक्ष. पंकज ने 2012 में एयर फोर्स जॉइन की थी. पंकज ने 2 फरवरी को ही दोबारा ड्यूटी जॉइन की थी. पंकज का परिवार अब इस समस्या का पक्का हल चाहता है.

सरकार ने इस क्रैश का कारण टेक्निकल फेल्यर बताया है
सरकार ने इस क्रैश का कारण टेक्निकल फेल्यर बताया है.

# पंकज के पक्के वाले दोस्त थे कॉरपोरल दीपक पांडे. कानपुर के रहने वाले थे. एक हफ्ता पहले ही वापस ड्यूटी जॉइन की थी. दीपक ने अपनी मां से आखिरी बार बात एक दिन पहले ही की थी. ड्यूटी पर लौटते वक्त दीपक ने मां से वादा किया था कि अगली बार आएंगे और उनकी पसंद की लड़की से शादी करेंगे. लेकिन अब ऐसा नहीं होगा. अब दीपक नहीं आएंगे.


वीडियो- इमरान खान प्रेस कॉन्फ्रेंस: अब आतंक पर बात करने को तैयार पाकिस्तान

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें
Indian Air force personnel killed in MI 17 Helicopter crash in Budgam

क्या चल रहा है?

इंडिया ने अपने हाथ से जीत ऐसे फेंकी जैसे रोहित शर्मा ने अपना बल्ला

ऑस्ट्रेलिया से टी20 सीरीज के साथ साथ वनडे सीरीज भी हार गए.

जानिए किस जमीन सौदे को लेकर राहुल-प्रियंका को घेर रही है भाजपा

स्मृति ईरानी ने क्या-क्या इल्जाम लगाए कांग्रेस नेताओं पर...

भुवी ने पैट कमिंस को जिस तरह से आउट किया, इसके लिए कोहली स्पेशल थैंक्स कहेंगे

कोहली जिस चीज में कच्चे हैं, भुवी ने उसमें सही निर्णय लिया.

ऑस्ट्रेलिया 175/1 थी, फिर 272/9 हो गई और ऐसा करके इंडिया ने फाइनल में अपनी नाक बचा ली है

ख्वाजा ने फिर 100 मारे, मगर आखिर में इंडिया ने गलती सुधार ली.

क्या आतंकी मसूद अजहर को आज ग्लोबल आतंकी घोषित किया जाने वाला है?

दो बार पहले नहीं हुआ था क्योंकि चीन ने रोड़े अटकाए थे, इस बार क्या होगा?

शेन वार्न ने बता दिया है कि अबकी IPL का प्लेयर ऑफ दी टूर्नामेंट कौन बनेगा

इनकी भविष्यवाणियां अक्सर सच होती है और लोग शक करते हैं कि ये फिक्सिंग में तो लिप्त नहीं हैं!

रविशंकर प्रसाद ने राहुल गांधी की तरफ से आतंकी को 'जी' कहने पर सफाई दी!

हालांकि सफाई तो अपने लिए थी लेकिन मैटर तो दोनों का सेम है.