Submit your post

Follow Us

हिन्दू युवा वाहिनी का जिला अध्यक्ष दिवाली की रात बच्चों से गोलियां चलवाता रहा था

3.28 K
शेयर्स

दिल्ली में सुप्रीम कोर्ट ने पटाखों की बिक्री पर बैन लगाया था. कारण ये दिया था कि एक दिवाली की रात में इतने पटाखे फटते हैं कि इलाका धुआं-धुआं हो जाता है. बात भी सही थी. साल 2016 की दिवाली ने बहुत से सवालों को जन्म दिया था. खैर, कुछ लोग इस फ़ैसले के विरोध में भी आ गए. उन्हें ये फ़ैसला धर्म विरोधी मालूम दिया. लोग कहते हैं कि हम मज़ेदार तरीके से खबर लिख देते हैं. लेकिन कई बार बात ही इतनी मज़ेदार होती है. जैसे ये धर्म विरोधी फ़ैसले वाली बात. खैर, मसला ये भी नहीं है. मसला ये है कि एक जनाब तो पटाखों से ही ऊपर उठ गए. और उन्होंने वो काम किया जो गैर कानूनी घोषित ही है. इस बार से नहीं बल्कि न जाने कबसे. जीतेंद्र त्यागी नाम के एक आदमी ने गाज़ियाबाद में हवाई फायरिंग की. सिर्फ इसलिए क्यूंकि उस दिन दिवाली थी. उत्तर प्रदेश में हर्ष फायरिंग गैर कानूनी है.

जीतेंद्र त्यागी असल में हिन्दू युवा वाहिनी का जिला अध्यक्ष है. ये वही हिन्दू युवा वाहिनी है जिसे स्वयं उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अप्रैल 2002 में बनाया था. हिन्दू युवा वाहिनी ज़ोर शोर से गोरक्षा, इति रोमियो स्क्वायड वगैरह में संलिप्त पाई जाती रही है. और इसी के जिला अध्यक्ष जीतेंद्र त्यागी का एक वीडियो सामने आया है जिसमें वो सरेआम गोलियां चला रहे हैं.

जीतेंद्र यादव सिर्फ गोलियां चलाने तक ही नहीं रुका. वीडियो में उसे नाबालिग बच्चों से गोलियां चलवाते देखा जा सकता है. दो लड़कियों को गोली चलाते देखा जा सकता है और ये सारा काम जीतेंद्र त्यागी की देख-रेख में संपन्न होता दिखाई दे रहा है. वीडियो देखिये:

जीतेंद्र त्यागी की कहानी भी कम मज़ेदार नहीं है. ये वही बदमाश है जिसे दादरी काण्ड के हफ़्ते भर बाद दादरी जाते वक़्त गिरफ़्तार कर लिया गया था. गिरफ्तारी से ठीक पहले इसने कहा था कि ये दादरी में रहने वाले हिन्दुओं को धन और हथियार मुहैया करवाएगा. याद दिला दिया जाए कि दादरी वही जगह है जहां अख़लाक़ को फ्रिज में गाय का मांस रखने के शक में गांव वालों ने पीट-पीट कर मार दिया गया था. ये वही जगह है जहां अख़लाक़ को मारने वाले आरोपी की लाश को तिरंगे में लपेट के रखा गया था. ये एक ऐसा सम्मान है जो सैनिकों को और राजनेताओं को मिलता है.

dadri
अख़लाक़ को मारने का आरोपी रवि सिसोदिया

इसके अलावा जीतेंद्र त्यागी को योगी आदित्यनाथ ने मुख्यमंत्री बनने पर बिना इजाज़त जुलूस निकालने के बाद गिरफ़्तार कर लिया गया था. इन्होंने 3,000 लोगों की भीड़ के साथ जुलूस निकालने की कोशिश की थी और साथ ही जुलूस में काफी मोटरसाइकिलें और कार शामिल थीं.


 ये भी पढ़ें:

‘बाहुबली 2’ का ये रिकॉर्ड तोड़ने से चूक गई ‘गोलमाल अगेन’

कहानी उस शख्स की, जिसने बताया कि नक्शे पर तिब्बत कैसा दिखता है

जिस लड़के ने इंडिया से वर्ल्ड कप छीन लिया था, उसकी एक उंगली टूटी हुई थी

दीवाली पर नैहर लौटीं दो बहनों की कहानी


 क्या सोनिया गांधी के इस खास जज ने दीवाली पर बैन किए हैं पटाखे?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें
Hindu Yuva Vahini District Head Jeetendra Tyagi caught on camera firing in the air on the night of Diwali

टॉप खबर

कांग्रेस को वोट देने की वजह से भाजपाई भाई ने धड़ाधड़ तीन गोलियां उसपर चला दीं

स्टोरी में एक तीसरा भाई भी है जिसके चलते आगे कुआं पीछे खाई वाली स्थिति बनी.

ड्यूटी पर लौटे विंग कमांडर अभिनंदन के साथियों का जोश देख आप भी खुश हो जाएंगे

अभिनंदन ने एक मैसेज भी दिया है.

सनी देओल ने 'ढाई किलो का हाथ' वाला डायलॉग मारा, कर्नल राठौड़ ने 'निशाना' कांग्रेस की ओर मोड़ दिया

राजस्थान के रोड शो में सनी को देखने के लिए 'बेताब' लोगों ने 'गदर' मचा रक्खा था, लेकिन सनी पाजी 'बॉर्डर' क्रॉस करके यूपी चले गए.

राहुल गांधी के पूर्व बिजनेस पार्टनर को कांग्रेस के वक्त मिला था डिफेंस ऑफसेट कॉन्ट्रेक्ट!

रफाल पर मोदी सरकार को घेर रहे थे, खुद वैसे ही आरोपों में घिर गए हैं.

499 नंबर पाकर हंसिका और करिश्मा ने CBSE टॉप किया

मेरिट लिस्ट में पहली पांच टॉपर लड़कियां हैं!

मसूद अज़हर के अंतरराष्ट्रीय आतंकी घोषित होने से भारत को क्या फर्क पड़ेगा?

हर बार चीन रोक लगा देता था, इस बार चीन ने भी समर्थन कर दिया.

भारतीय आर्मी ने जिस 'हिम मानव' के पैर की तस्वीरें जारी की थी, उसके अब और कई फोटो आए हैं

नई तस्वीरों में हिम मानव के पैरों के निशान की लंबाई नापी जा रही है.

दिल्ली में कॉन्स्टेबल ने ट्रेन के नीचे कुचलने से महिलाओं-बच्चों को बचाया, लेकिन खुद नहीं बच पाया

ट्रैक पर एक नहीं बल्कि दोनों तरफ से ट्रेन आ रही थी.

चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने यौन उत्पीड़न के आरोपों के जवाब में ये 9 बातें बोलीं

एक महिला के गंभीर आरोपों को लेकर हुई सुनवाई में तीन जजों की बेंच ने एक बहुत बड़ा दावा किया.

BJP प्रवक्ता पर जूता फेंकने वाला क्यों नाराज था, 2 दिन पहले की 4 FB पोस्ट से पता चला

खुद आयकर के चंगुल में फंसा है जूता फेंकने वाला शक्ति भार्गव.