Submit your post

Follow Us

नवाज़ शरीफ को किस मामले में मिली सात साल जेल की सजा?

597
शेयर्स

नवाज शरीफ़. पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री. पाकिस्तान की अकांउटिबिलिटी कोर्ट ने उन्हें सात साल जेल की सज़ा सुनाई है. ये सज़ा मिली है अल-अज़ीज़िया स्टील मिल्स करप्शन के केस में. नवाज के वकील ने कोर्ट से दरख्वास्त की कि उन्हें लाहौर की कोट लखपत जेल भेजा जाए. कोर्ट ने उनकी अपील मान ली. नवाज़ को मिली सज़ा में शामिल है-

सात साल की जेल
221 करोड़ और 13 करोड़ रुपये का जुर्माना
संपत्ति जब्त करने का आदेश

कौन-कौन से केस थे नवाज़ के खिलाफ?

पनामा पेपर्स में नाम आने के बाद से ही नवाज शरीफ के लिए दिक्कतें शुरू हुईं. वो भ्रष्टाचार के मामलों में फंसते चले गए. जुलाई 2017 में सुप्रीम कोर्ट ने नवाज़ के खिलाफ फैसला दिया. उन्हें न केवल प्रधानमंत्री के पद से हटाया, बल्कि अकाउंटिबिलिटी अथॉरिटीज़ को उनके खिलाफ केस चलाने को भी कहा था. जो तीन मामले नवाज़ के खिलाफ चलाए गए, वो थे- ऐवनफील्ड प्रॉपर्टीज़, अल-अज़ीज़िया और फ्लैगशिप इन्वेस्टमेंट. सितंबर 2017 में नेशनल अकाउंटिबिलिटी ब्यूरो (NAB) ने नवाज शरीफ और उनके परिवार के खिलाफ केस फाइल किए. तब से लेकर अब तक नवाज़ लगभग 165 बार अकाउंटिबिलिटी कोर्ट के सामने पेश हो चुके हैं.

इसके पहले कौन से केस में फैसला आया था?

जुलाई 2018 में अकाउंटिबिलिटी जज ने एवनफील्ड प्रॉपर्टीज का फैसला सुनाया. नवाज़, उनकी बेटी मरियम और दामाद कैप्टन मुहम्मद सफ़दर (रिटायर्ड) को सज़ा सुनाई गई. नवाज़ को मिली 10 साल की जेल, मरियम को मिली सात साल जेल और सफ़दर को मिली एक साल की जेल. सितंबर में सुप्रीम कोर्ट ने ये सज़ाएं सस्पेंड कर दीं. तीनों को जमानत भी दे दी. NAB ने कोर्ट के इस फैसले के खिलाफ अपील की हुई है.

नवाज़ शरीफ अब आने वाले टाइम में जेल में मिलेंगे.
नवाज़ शरीफ अब आने वाले टाइम में जेल में मिलेंगे.

अभी किस केस में सज़ा हुई है?

जिस केस में नवाज़ को सज़ा हुई है, वो सऊदी अरब में अल-अज़ीज़िया और हिल मेटल एस्टेबलिशमेंट खोले जाने से जुड़ा है. NAB जांच कर रही थी कि शरीफ परिवार ने विदेश में कंपनियां कैसे खोलीं और इनके लिए संसाधन कैसे जुटाए गए. नवाज की तरफ से कोर्ट में कहा गया था कि उनके पिता मियां मुहम्मद शरीफ ने साल 1974 में संयुक्त अरब अमीरात के अंदर गल्फ स्टील मिल्स (GSM) की नींव रखी. इस GSM के 75 फीसद शेयर अब्दुल्ला कायद अहली और उनकी कंपनी को बेच दिए गए. वहां से इसका नाम हुआ अहली स्टील मिल्स(ASM). बाकी के 25 फीसद शेयर फिर 1980 में इसी ASM को बेच दिए गए. इससे जो मुनाफ़ा आया, वो क़तर के शाही परिवार में निवेश किया गया.

नवाज के मुताबिक, उनके पिता मियां मुहम्मद शरीफ ने ही सऊदी अरब में अल-अज़ीज़िया और हिल मेटल इस्टेबलिश्मेंट खोलने के लिए नवाज के बेटों- हुसैन और हसन को पैसे दिए थे. साथ में, फ्लैगशिप एन्वेस्टमेंट और 16 और कंपनियों को शुरू करने का पैसा भी यहीं से आया. मगर शरीफ परिवार की तरफ से दिए गए इन तर्कों से प्रॉसिक्यूशन सहमत नहीं था. उसका कहना था कि शरीफ परिवार ये बताने में नाकाम रहा है कि विदेशों में कंपनियां खोलने के लिए पैसा कहां से आया. सरकारी वकील ने इसे आय से अधिक संपत्ति जमा करने का मामला बताया. नवाज के खिलाफ ये बात भी गई कि उनकी तरफ से कहा गया था कि उनके पिता ने कतर के शाही परिवार के साथ निवेश किया था. मगर इस बात की तस्दीक करने के लिए कतर के प्रिंस शेख हामद जॉइंट इन्वेस्टिगेशन टीम (JIT) के सामने पेश नहीं हुए. डिफेंस का कहना था कि JIT ने प्रिंस की गवाही लेने की गंभीरता से कोशिश ही नहीं की. वरना उनका कहा सच साबित हो जाता.

किस केस में बरी हुए हैं नवाज़?

फ्लैगशिप इन्वेस्टमेंट वाले केस से नवाज़ को बरी कर दिया गया है.


वीडियो-भारत में पाकिस्तान बनाने की धमकी देने वाला टीटी

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें
Former PM of Pakistan Nawaz Sharif convicted for seven years in Al-Azizia case

क्या चल रहा है?

झारखंड के खूंटी में 5 लड़कियों के साथ जंगल में गैंगरेप हुआ था, कोर्ट ने फादर अल्फोंस को दोषी माना

अदालत इस मामले में 15 मई को सजा सुनाएगी.

रमज़ान के महीने में मार्केट से गायब कैसे हो गया रूह-अफज़ा?

पाकिस्तान कह रहा है, हमसे ले लो.

ऑस्ट्रेलिया ने वर्ल्ड कप की टीम में बदलाव कर दिया है

प्रदर्शन सुधरेगा या बिगड़ेगा?

20वें ओवर में 300 से ऊपर का स्ट्राइक रेट रखने वाले धोनी को जब बुमराह ने रनों के लिए तरसा दिया

वर्ल्ड कप से पहले बुमराह के नाम पर दुनिया भर से बल्लेबाजों के कान खड़े हो रहे होंगे.

तू-तड़ाक कह-कहलवा कर ओबामा ने मोदी का फायदा उठा लिया!

तुम तो ठहरे परदेसी, साथ क्या निभाओगे?

जुड़वा भाइयों की किडनैपिंग, हत्या करने वाले बहुत बड़े केस के एक आरोपी ने जेल में फांसी लगाई

इस खबर को सुनकर उन जुड़वा बच्चों के बाप ने वही कहा, जो शायद हर बाप कहता.

जानिए रेप के आरोपी एक्टर करण ओबेरॉय की बहन ने उनके बारे में क्या बोला है

''जिस लड़की ने शारीरिक संबंध बनाने के लिए मैसेज किया उसी ने रेप केस में फंसा दिया.''

चेन्नई बेशक किंग हो मगर 2010 से मुंबई के आगे तो पानी ही भर रही है

चेन्नई अपने घरेलू मैदान पर मुंबई के खिलाफ क्यों नहीं जीत पा रही है?

अलवर गैंग रेप केस: 12 दिन, 14 टीमें, 5 अपराधी और गिरफ्तार हुआ सिर्फ एक

पहले चुनावों के चलते पुलिस इस केस में एक कॉन्स्टेबल तक नहीं लगा पा रही थी, अब 14 टीमें जुट गईं.

स्टीफन हॉकिंग वाली बीमारी से जूझ रहे विनायक की एग्ज़ाम्स के दौरान मौत, रिज़ल्ट आया तो सब हैरान

यकीन कीजिए विनायक की कहानी आपको ज़िंदगी के हर एग्ज़ाम में मोटिवेट करेगी.