Submit your post

Follow Us

वर्ल्ड कप 2019 जीतने के लिए इंग्लैंड ने 27 साल पहले वाला टोटका किया है

518
शेयर्स

क्रिकेट वर्ल्ड कप 2019 सिर पर है. टीमें इंग्लैंड पहुंच रही हैं. वर्ल्ड कप जीतना सबका मकसद है और यही मकसद इस टूर्नामेंट का सबसे ज्यादा रोमांचक बनाता है. कोई अपनी टीम बदल रहा है तो कोई अपनी टीम की जर्सी बदलकर टीम में नया जोश भरने की कोशिश कर रहा है. ऐसी ही एक कोशिश इंग्लैंड की टीम ने की है. 21 मई को इंग्लैंड ने अपनी टीम में कुछ बदलाव किए और साथ में नई टीम जर्सी भी लॉन्च की. इस नेवी ब्लू जर्सी की खास बात ये है कि ये इंग्लैंड की 1992 वर्ल्ड कप जर्सी से मिलती है. यही वो साल है जब पहली बार सभी 9 टीमें रंग बिरंगी जर्सी में खेलने उतरीं थी.

इंग्लैंड की टीम उसी वर्ल्ड कप में फाइनल में पहुंची थी. ये उनका तीसरा वर्ल्ड कप फाइनल था. पहली बार कलरफुल ड्रेस में खेला जाने वाला फाइनल जो पाकिस्तान और इंग्लैंड के बीच में हुआ था. उसके बाद 27 साल बीत चुके हैं जबसे इंग्लैंड वर्ल्ड कप फाइनल में नहीं पहुंची है. इंग्लैंड की टीम इससे पहले भी 1979 और 1987 में वर्ल्ड कप फाइनल में पहुंची थी. मगर जीत कभी नसीब नहीं हुई. 1999 का वर्ल्ड कप भी इंग्लैंड में ही हुआ था मगर इंग्लैंड टीम के लिए ये भी खराब ही रहा था. 1992 में फाइनल में पहुंचने के बाद इंग्लैंड की टीम के लिए ब्लू कलर लकी नहीं रहा. 1999 में वो ग्रुप स्टेज से ही बाहर हो गए और फिर 2003 और 2015 में भी यही हाल हुआ. 1996 में वो क्वार्टरफाइनल्स और 2007 और 2011 में सुपर 8 तक ही पहुंचे.

अब इंग्लैंड को ये उम्मीद है कि 1992 की वो ड्रेस पहनने से इस बार टीम की तकदीर बदल जाएगी. मगर ये दुनिया भी जानती है कि इस वक्त इंग्लैंड की टीम कितनी संतुलित और अटैकिंग लग रही है. इंग्लैंड इसी वजह से कईयों के लिए वर्ल्ड कप जीतने की फेवरिट बन चुकी है. हाल ही में निपटी सीरीज में पाकिस्तान के खिलाफ 5 वनडे मैचों की सीरीज में इंग्लैंड एक भी मैच नहीं हारी. मगर इंग्लैंड को ये भी ध्यान रखने की जरूरत है कि 1992 वर्ल्ड कप में पाकिस्तान ने ही उन्हें फाइनल में  हराकर वर्ल्ड कप जीता था.


लल्लनटॉप वीडियो भी देखें-

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें
England gets back to their 1992 World Cup final charm by switching to old team jersey

टॉप खबर

राहुल गांधी के पत्र की चार ख़ास बातें, तीसरी वाली में सारे देश की दिलचस्पी है

आज राहुल गांधी ने आखिरकार इस्तीफा दे ही दिया.

आकाश विजयवर्गीय पर मोदी बहुत नाराज़ हुए, उतना ही जितना साध्वी प्रज्ञा पर हुए थे!

"अफ़सोस! दिल से माफ़ नहीं कर पाएंगे."

नुसरत जहां के खिलाफ़ जिस फतवे पर बवाल मचा, वैसा फ़तवा जारी ही नहीं हुआ

निखिल से शादी के बाद सिन्दूर-साड़ी में संसद पहुंची थीं नुसरत

क्या ज़ायरा ने इस्लाम के लिए फ़िल्म लाइन छोड़ दी?

जिन चीज़ों से रील लाइफ में लड़कर सुपर स्टार बनीं, निजी ज़िंदगी में वो लड़ाई ही छोड़ दी है.

मायावती ने गठबंधन क्या तोड़ा, खुद की लुटिया ही डुबो ली है

गठबंधन तोड़कर अखिलेश और माया चवन्नी भर सीटें भी नहीं जीत रहे हैं.

खट्टर सरकार रेपिस्ट बाबा की जेल से छुट्टी का समर्थन कर रही, लेकिन जानिए ऐसा होना संभव क्यूं नहीं

जेल से छुट्टी क्यों चाह रहा है बलात्कारी बाबा राम रहीम?

चमकी बुखार में जिनके बच्चे मरे, उन्होंने विरोध किया तो केस दर्ज हो गया

बिहार में एक दो नहीं पूरे 39 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज हुआ है.

चमकी बुखार से पीड़ित परिवार से मिलने गए सांसद-विधायक को लोगों ने बंधक बना लिया

उधर सुप्रीम कोर्ट ने राज्य और केंद्र सरकार को नोटिस भेज दिया है.

जिन SP अजय पाल शर्मा को हीरो बताया जा रहा, उन्होंने "रेपिस्ट" पर गोली चलाई ही नहीं

न वो मौके पर थे, न रेप की वजह से गोली चली और न ही "रेपिस्ट" की मौत हुई.

पंजाब में गुरु ग्रंथ की बेअदबी के आरोपी और डेरा सच्चा सौदा के अनुयायी मोहिंदर की जेल में हत्या

जानिए क्या है पूरा मामला जिसके चलते पूरे पंजाब में अफवाहों और कानाफूसियों का माहौल है और सीएम ने भी लोगों से शांति बनाए रखने की रिक्वेस्ट की है.