Submit your post

Follow Us

सपा की हार पर मंथन को मीटिंग हुई, मुलायम ने अखिलेश को झाड़ के रख दिया

5.87 K
शेयर्स

लोकसभा चुनाव में करारी हार के बाद समाजवादी पार्टी में विचार का दौर चल रहा है. बसपा और राष्ट्रीय लोकदल के साथ मिलकर सपा ने चुनाव लड़ा. परिवार की दो सीटें, धर्मेन्द्र यादव की बदायूं और अक्षय प्रताप यादव की सीट फिरोजाबाद, भी गंवा बैठे. डिम्पल यादव भी कन्नौज से चुनाव हार गयीं. पार्टी के बहुतेरे बड़े नाम भी अपना चुनाव बचा नहीं सके.

सोमवार को पार्टी के लखनऊ कार्यालय में हार को लेकर मंथन मीटिंग हो रही थी. राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव पार्टी में थे. पार्टी के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव भी मीटिंग में पहुंचे. सूत्रों की मानें तो मुलायम सिंह यादव ने नाकामी के लिए पार्टी के नेताओं की जमकर क्लास लगायी.

इसके पहले जब सपा और बसपा में गठबंधन के बाद सीटों का बंटवारा हुआ था तो भी मुलायम सिंह यादव ने अखिलेश यादव के इस फैसले पर आपत्ति ज़ाहिर की थी. सूत्र बताते हैं कि सपा और बसपा ने जब 38-38 सीटें बांट लीं तो मुलायम ने अखिलेश से तभी कहा था कि “आधी सीटें तो तुम पहले ही हार गए.”

चर्चा रही है कि मुलायम सिंह यादव सपा-बसपा गठबंधन के पक्ष में नहीं थे. कल की मीटिंग में उन्होंने गठबंधन के औचित्य पर भी बात की तो अखिलेश यादव के परफॉरमेंस पर भी बात की. मीटिंग में मौजूद एक सपा नेता बताते हैं –

“नेताजी ने कोर्स करेक्शन यानी रास्ता सुधारने की बात की है. उन्होंने नेताओं से कहा कि पार्टी को गठबंधन से ज्यादा ज़रुरत ज़मीनी स्तर पर काम करने की है.”

सूत्रों के अनुसार, मुलायम सिंह यादव ने अक्षय यादव, धर्मेन्द्र यादव और डिम्पल यादव के चुनाव हारने पर अखिलेश और बाकी नेताओं से कहा –

“तुम लोग तो घर की सीट भी नहीं बचा सके.”

बैठक में मौजूद नेताओं के मुताबिक़ मुलायम सिंह यादव बसपा को मिली बढ़त से खासे नाराज़ दिखे. उन्होंने कहा कि पिछले लोकसभा में एक भी सीट न जीतने वाली बसपा इस बार दस सीटें जीतकर आ गयी. उन्होंने कहा कि सपा ने अपनी मजबूत सीटें बसपा के खाते में दे दीं और खुद ऐसी सीटों पर लड़ी, जिस पर पार्टी कभी मजबूत नहीं रही.

एक पार्टी नेता के मुताबिक़ मीटिंग में मुलायम सिंह यादव ने शिवपाल के पार्टी में न रहने को भी हार का एक बड़ा कारण करार दिया
एक पार्टी नेता के मुताबिक़ मीटिंग में मुलायम सिंह यादव ने शिवपाल के पार्टी में न रहने को भी हार का एक बड़ा कारण करार दिया

बैठक में कुछ नेताओं ने हार के कुछेक कारण गिनाने शुरू किए तो मुलायम सिंह यादव ने उन्हें भी डांट दिया.

सूत्रों के अनुसार मुलायम सिंह यादव ने अखिलेश यादव के करीबियों और उनके प्रचार के तरीके पर भी सवाल उठाया. उन्होंने कहा कि अखिलेश जिन लोगों से घिरे रहते हैं, उनकी मदद से चुनाव मजबूत नहीं होता है.

एक पार्टी नेता बताते हैं –

“अखिलेश यादव साईकिल चलाकर मुख्यमंत्री बने थे. अब एसी बस या हेलिकॉप्टर से नीचे उतरते नहीं. नेताजी ने इस पर भी सवाल उठाया. उन्होंने कहा कि अखिलेश भईया का ज़मीन से कनेक्शन कट चुका है.”

सूत्रों के मुताबिक़ शिवपाल यादव के पार्टी से अलग हो जाने पर भी मुलायम सिंह यादव ने सवाल उठाए. उन्होंने हार का एक बड़ा कारण शिवपाल की गैर-मौजूदगी को भी बताया. उन्होंने अखिलेश के बारे में कहा कि उन्हें रास्ता दिखाने वाले लोग गलत रास्ता दिखा रहे हैं.

चुनाव परिणाम आने के बाद सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने सभी प्रवक्ताओं को हटा दिया. और टीवी पैनलिस्टों को भी पद से हटा दिया. इसके अलावा समाजवादी पार्टी के साथ समाजवादी छात्रसभा, समाजवादी युवजन सभा, लोहिया वाहिनी और यूथ बिग्रेड को फिर गठित करने की तैयारी हो रही है. सूत्र बताते हैं कि संगठन के पुनर्गठन की घोषणा अखिलेश यादव आज शाम कर सकते हैं.

सपा ने कहा-ऐसा कुछ नहीं
उधर, समाजवादी पार्टी के मीडिया सचिव आशीष यादव ने ऐसी किसी भी बात का खंडन किया है. उन्होंने कहा कि मीडिया में चल रही इस तरह की खबरें सही नहीं हैं.

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

28 सितंबर को दिल्ली में इंडिया टुडे का 'माइंड रॉक्स', फिल्मी हस्तियां समेत कई दिग्गज होंगे शामिल

रजिस्ट्रेशन करने का तरीका समझ लें, सीधा अपने नेताओं से सवाल करने का मौका मिलने वाला है.

जिस परिवार पर 'गैंग्स ऑफ वासेपुर' बनी थी, उसमें असल में पंगा हो गया

'फैजल खान' के भांजों ने अपना अलग गैंग बना लिया है.

ईद 2020 की रिलीज़ पर अक्षय-सलमान में जो लफड़ा हो रखा था, उसमें एक और ट्विस्ट आ गया

सलमान ने गोल-मोल ट्वीट करके सबको उलझा दिया है.

क्रिकेटर हर्शेल गिब्स ने आलिया भट्ट को नहीं पहचाना, आलिया ने जवाब दे दिया

हर्शेल गिब्स यानी 6 गेंदों में 6 छक्के और आलिया यानी गली बॉय की सफ़ीना.

प्रेगनेंट औरत 20 किलोमीटर पैदल चलकर डॉक्टर के पास पहुंची, लेकिन घर ज़िंदा न आ सकी

बेशक बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ, लेकिन मां को न भूल जाओ.

'पति झगड़ता ही नहीं, मुझे तलाक़ चाहिए': एक ऐसा डिवोर्स केस जिसने जज को कन्फ्यूज कर दिया

दोनों तरफ की दलीलें सुनकर सर पकड़ लेंगे.

सौरव दादा ने दिवंगत नेता को शुभकामनाएं दे डालीं, ट्रोलर्स बोले,'हमें भी यही वाला स्टफ चाहिए'

'दादा, 2003 के वर्ल्ड कप में फील्डिंग चुनने के बाद ये आपकी दूसरी बड़ी ग़लती है.'

बीकानेर: रेप किया, फिर बॉडी जलाकर नहर में फेंक दी

रेप करने वाला कथित तौर पर सरपंच का रिश्तेदार है, इसलिए पुलिस चुप है.

क्रिकेटर संदीप पाटिल फेसबुक यूज़ नहीं करते, फिर भी उनके साथ फेसबुक पर कांड हो गया

हमें ये खबर इसलिए जाननी चाहिए क्यूंकि बहुत संभावन है कि ऐसा फ्रॉड हमारे-आपके साथ भी हो सकता है.

पतंजलि के प्रवक्ता ने कहा, अरुण जेटली को दुःख भरा प्रणाम कर रहा था, मेरा फोन चोरी हो गया

अमित शाह से कहा, मेरा फोन इस जगह है. पकड़ सकते हैं तो पकड़ लें.