Submit your post

Follow Us

चुनाव आयोग ने बड़बोलेपन पर योगी आदित्यनाथ और मायावती को सजा दी

681
शेयर्स

मॉडल कोड ऑफ कंडक्ट के उल्लंघन के मामले में चुनाव आयोग ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और बीएसपी प्रमुख मायावती के चुनाव प्रचार करने पर रोक लगा दी है. योगी 72 घंटे यानी तीन दिन तक पार्टी का प्रचार नहीं कर पाएंगे. वहीं मायावती 48 घंटे यानी दो दिन चुनाव प्रचार नहीं कर पाएंगी. चुनाव आयोग का यह फैसला 16 अप्रैल से लागू होगा. इस दौरान योगी आदित्यनाथ और मायावती ना तो कोई रैली को संबोधित कर पाएंगे, ना ही सोशल मीडिया का इस्तेमाल कर पाएंगे और ना ही किसी को इंटरव्यू दे पाएंगे.

मायावती ने सहारपुर के देवबंद में मुस्लिम समाज से खुलेआम सपा,बसपा और आरएलडी गठबंधन को वोट देने की अपील की थी. वहीं योगी आदित्यनाथ ने मेरठ की एक रैली में कहा था कि अगर कांग्रेस,एसपी, बीएसपी को अली पर विश्वास है तो हमें भी बजरंग बली पर विश्वास है. योगी ने क्या कहा था, ये वीडियो देखिए.

मायावती ने कहा था,

वेस्टर्न यूपी में, खासकर सहारनपुर, मेरठ, मुरादाबाद और बरेली मंडल में मुस्लिम समाज की आबादी बहुत ज्यादा है. इस चुनाव में मुस्लिम समाज के लोगों को मैं सावधान करना चाहती हूं. आप लोगों को भी मालूम है कि पूरे उत्तर प्रदेश में कांग्रेस पार्टी इस लायक नहीं है कि बीजेपी को टक्कर दे सके. गठबंधन ही इस लायक है कि वो बीजेपी को टक्कर दे सके. कांग्रेस ने ऐसे उम्मीदवारों को टिकट दिया है जिससे बीजेपी को फायदा पहुंचे. मैं मुस्लिम समाज के लोगों से कहना चाहती हूं कि सहारनपुर लोकसभा सीट पर हमने बहुत पहले अपने प्रत्याशी का टिकट फाइनल कर दिया था. कांग्रेस ने बाद में किया.

मायावती ने आगे कहा था,

मैं मुस्लिम समाज के लोगों से कहना चाहती हूं कि आप लोगों को अपना वोट बांटना नहीं है. आप लोगों को अपना वोट एकजुट होकर बीएसपी-सपा और आरएलडी के उम्मीदवार को देना है. मैं मुस्लिम समाज के लोगों से कहना चाहती हूं कि आप लोगों को भावनाओं में बहकर, यार दोस्तों के चक्कर में आकर वोट को बंटने नहीं देना है. बीजेपी को हराने के लिए अपना वोट गठबंधन के उम्मीदवार को देना है. मुस्लिम समाज के लोगों से मेरी यही अपील है.

मायावती के मुसलमानों से वोट मांगने को लेकर उत्तर प्रदेश के मुख्य चुनाव आयुक्त लक्कु वेंकटेश्वरलू ने स्थानीय प्रशासन से रिपोर्ट मांगी थी. 15 अप्रैल को दोनों नेताओं के लिए सजा का एलान किया. हालांकि इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने मायावती के देवबंद रैली में दिए गए भाषण पर आपत्ति जताई थी. अदालत ने चुनाव आयोग को फटकार लगाई गई थी कि अब तक इस मामले में क्या कार्रवाई हुई है. सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि आयोग अभी तक सिर्फ नोटिस ही जारी कर रहा है, कोई सख्त एक्शन क्यों नहीं ले रहा है.


मोदी की रैली में बीजेपी नेता ने वंदे मातरम और जन गण मन गाने के नाम पर क्या किया?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें
Election Commission bans UP CM Yogi Adityanath and BSP chief Mayawati from election campaigning for 72 hours & 48 hours

टॉप खबर

BJP प्रवक्ता पर जूता फेंकने वाला क्यों नाराज था, 2 दिन पहले की 4 FB पोस्ट से पता चला

खुद आयकर के चंगुल में फंसा है जूता फेंकने वाला शक्ति भार्गव.

BJP प्रवक्ता पर जूते से हमला करने वाला कानपुर का बहुत नामी आदमी है

450 करोड़ की प्रॉपटी 11.5 करोड़ में खरीद चुका है!

क्या पीएम मोदी अपनी संपत्ति को लेकर चुनावी हलफनामे में गलत जानकारी देते रहे हैं?

मामला प्राइम लोकेशन के एक प्लॉट का है, जिस पर PIL दाखिल हुई है.

जानिए मोदी को पुतिन की सरकार ने अपना सबसे बड़ा सम्मान क्यों दिया है

मोदी इतने विनम्र हैं कि किसी को कॉल-मैसेज तक नहीं कर रहे.

कांग्रेस की सभा में खाली कुर्सी की फोटो ले रहे पत्रकार को कांग्रेसियों ने पीट दिया

राहुल माथा पोंछते हैं, प्रियंका जूता उठाती हैं, कांग्रेस के कार्यकर्ता पत्रकार को पीट देते हैं.

UPSC के पहले 5 टॉपर्स ने बताया यहां तक पहुंचने के लिए क्या-क्या करना पड़ा?

पांच टॉपर्स ने बताए सफल होने के पांच मंत्र.

क्या भारत की ही मिसाइल का शिकार हुआ था वायुसेना का हेलिकॉप्टर?

जानिए क्या हुआ था 27 फरवरी को बडगाम में...

एमपी में मिली 1500 साल पुरानी मूर्ति पर किस विदेशी का चेहरा बना है?

एक साल से चल रही खुदाई में अब जाकर कामयाबी मिली है.

राहुल गांधी ने हर साल 72,000 रुपए का बड़ा चुनावी दांव खेला

जानिए, ये किसको कैसे मिलेगा... थोड़ी गणित है इसमें...