Submit your post

रोजाना लल्लनटॉप न्यूज चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं !

Follow Us

हर्ष फायरिंग में मृत महिला के परिवार ने जो किया, वो सबके लिए सबक है

641
शेयर्स

तारीख एक जनवरी. साउथ दिल्ली का वसंतकुंज इलाका. यहां के रोज फार्महाउस में न्यू ईयर की पार्टी चल रही थी. पर सारा जश्न धरा रह गया. जब जश्न के नाम पर गोलियां चलाई जाने लगीं. हर्ष फायरिंग होने लगी, और गोलियों के इस तमाशे के बीच एक गोली 45 साल की अर्चना गुप्ता के सिर में जा लगी. दो दिन बाद अर्चना की जान चली गई. गोली चलाने का आरोप है बिहार के एक पूर्व विधायक राजू कुमार सिंह पर. घटना के बाद राजू फरार हो गए थे. मगर 3 जनवरी को उनको गिरफ्तार कर लिया गया है. राजू रहने वाले मुजफ्फरपुर के हैं. 2015 में उन्होंने बीजेपी जॉइन की था. बिहार में पहले से ही उनके खिलाफ कई मामले भी दर्ज हैं.

पुलिस के मुताबिक अर्चना के पति विकास गुप्ता ने शिकायत में कहा –

31 दिसंबर की रात न्यू ईयर पार्टी के लिए वो अपने दोस्तों के साथ फार्महाउस पर थे. उन्हें वहां राजू सिंह के बड़े भाई ने बुलाया था. रात तकरीबन 12 बजे राजू सिंह ने दो या तीन राउंड गोलियां चलाईं. उसी समय विकास गुप्ता ने अपनी पत्नी अर्चना को जमीन पर गिरते हुए देखा. अर्चना के शरीर से बहुत खून निकल रहा था. ये घटना रोज़ फार्म पर हुई. ये फार्महाउस राजू सिंह की मां का है. वो यहां अपने दो भाइयों और परिवार के साथ रहते हैं.

गोली चलाने के आरोपी गिरफ्तार हो गए हैं.
गोली चलाने के आरोपी गिरफ्तार हो गए हैं.

पुलिस के मुताबिक – अर्चना को फार्म हाउस से फोर्टिस अस्पताल ले जाया गया. यहां से रात के लगभग 1 बजे पुलिस को इस घटना की ख़बर लगी. पुलिस फार्म हाउस पहुंची तो वहां से राजू सिंह अपने ड्राइवर हरि सिंह के साथ फरार हो गया. मगर पुलिस ने दोनों को गोरखपुर से गिरफ्तार कर लिया. दोनों को कोर्ट में पेश किया गया. जहां से उनको सात दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया गया. पुलिस ने राजू को जिस कार में गिरफ्तार किया, उससे एक पिस्तौल और राइफल भी जब्त की गई है. इस्तेमाल किए गए दो कारतूस भी मिले हैं. हालांकि ये वो कारतूस नहीं, जिनसे हत्या हुई. पुलिस ने मामले में दो और गिरफ्तारियां की हैं. पहली राजू सिंह की पत्नी रेनू सिंह जोकि पूर्व एमएलसी हैं. दूसरी राजू के सहयोगी रमिंदर सिंह की. दोनों पर ही घटना स्थल से सुबूत मिटाने का आरोप है.

पुलिस का कहना है कि इन दोनों ने फर्श पर पड़े खून को साफ करने के अलावा इस्तेमाल किए गए कारतूस छिपाए. गवाहों को धमकाने का प्रयास भी किया. तभी जब पुलिस उस रात फार्महाउस पर पहुंची तो फर्श साफ पड़ी थी. कोई खाली खोखा भी नहीं मिला. सभी गेस्ट्स को भी वापस भेज दिया गया था. राजू सिंह और उसका चालक फरार था. रेनू तो पहले गोली चलने की बात तक कबूल करने को तैयार नहीं थीं. मगर जब सुबूत सामने रखे गए तो वो मानीं. पुलिस ने ये भी कहा कि घटना स्थल से पीसीआर को किसी ने फोन तक नहीं किया. जब अस्पताल से फोन आया तो उनको घटना की खबर मिली.

हर्ष फायरिंग में आए दिन किसी न किसी की जान जाने की खबर आती है.
हर्ष फायरिंग में आए दिन किसी न किसी की जान जाने की खबर आती है.

कुल मिलाकर मामले में पुलिस ने सभी प्रमुख आरोपियों को पकड़ लिया है. अब जांच, पड़ताल होगी. आरोपियों को कानून जो सजा देगा, वो देगा. पर एक निर्दोश महिला की जान तो चली गई ना. दो बेटियों ने अपनी मां खो दी ना. हौजखास के गौतम नगर की रहने वाली अर्चना ने इसी दिसंबर में ही कुछ दिन पहले अपना जन्मदिन भी मनाया था. पर बेकार के दिखावे, अव्वल दर्जे की बेफकूफी वाली हर्कत जिसे हर्ष फायरिंग के तौर पर जाना जाता है. इसने अर्चना और उनके परिवार की सारी खुशियां छीन ली. समझ में ये नहीं आता कि आखिर इसे हर्ष फायरिंग क्यों कहा जाता है. इसका नाम तो कत्ल फायरिंग होना चाहिए. क्योंकि आप हर्ष यानि खुशी के चक्कर में किसी की जान ले लेते हैं. हमारी आप सबसे अपील है कि हथियार मत रखिए. और रखिए तो उनको संभालना सीखिए. आपका बेकार का दिखावा न जाने कितने जीवन खराब कर सकता है.

जीवन खराब करने की बात आई तो जाते-जाते एक जीवन बनाने वाली बात भी आपको बताते चलते हैं. अर्चना गुप्ता के परिवार ने उनकी किडनी डोनेट कर दी है. वो जाते-जाते भी किसी को जीवन दे गईं हैं. और लोग फर्जी के दिखावे में जान ले रहे हैं. ऐसे लोगों पर सख्त से सख्त कार्रवाई होनी चाहिए.


लल्लनटॉप वीडियो देखें –

लल्लनटॉप न्यूज चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं !

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें
Delhi Police arrested Renu Singh, wife of former Bihar MLA Raju Singh in Archana gupta murder

क्या चल रहा है?

शराब की लत से परेशान भगवंत मान ने मंच पर अपनी मां को बुलाकर जो कहा, वो मजेदार है

संसद में दारू पीकर पहुंचने के लिए बदनाम हो चुके हैं.

इस भाजपा विधायक ने राजनाथ के बेटे की मौजूदगी में मायावती पर बेहद घटिया बात की है

बीएसपी ने कहा- ये लोग पागल हो गए हैं. पागलखाने भेज दो.

सिक्योरिटी गार्ड ने इस टेनिस स्टार के साथ जो किया, ऐसा भारत में होता तो दंगा पक्का था

नियम और कानूनों से ऊपर कोई नहीं.

मोदी सरकार ने चार साल में देश पर इतना कर्ज बढ़ा दिया है!

जानिए आप कितने कर्ज में हैं.

भुवनेश्वर की अंपायर के पास से फेंकी ये गेंद डेड क्यों दी गई?

क्या एरॉन फिंच इस गेंद से डर गए थे?

मोदी के खिलाफ ममता की रैली में महफिल लूट ले गए अरविंद केजरीवाल

2014 में मोदी का नारा, उन्हीं को चिपका दिया.

जिन्हें शक हो कि धोनी क्रिकेट के चाणक्य नहीं हैं, वो ये वीडियो जरूर ही देखें

ऑस्ट्रेलिया की सारी रणनीति धोनी को पहले ही पता थी.