Submit your post

रोजाना लल्लनटॉप न्यूज चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं !

Follow Us

जानिए किस जमीन सौदे को लेकर राहुल-प्रियंका को घेर रही है भाजपा

5
शेयर्स

लोकसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान हो चुका है. इसके साथ ही सियासी वार-पलटवार का दौर भी तेज हो गया है. भाजपा ने 13 मार्च, 2019 को एक न्यूज रिपोर्ट के हवाले से कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी और उनके पति रॉबर्ट वाड्रा पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाए. इसके लिए बीजेपी की ओर से मोर्चा संभाला केंद्रीय कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी ने. उन्होंने आरोप लगाया कि 70 सालों में संस्थागत भ्रष्टाचार कांग्रेस की देन रही है. पिछले 24 घंटों में समाचार माध्यमों से जो तथ्य आए हैं, वो दिखाते हैं कि कैसे गांधी-वाड्रा परिवार ने पारिवारिक भ्रष्टाचार को परिभाषित किया है.

क्या आरोप लगाए राहुल गांधी पर?
भाजपा ने एक प्रेस कान्फ्रेंस करके आरोप लगाया कि राहुल गांधी और राबर्ट वाड्रा के एचएल पाहवा नाम के शख्स से कारोबारी रिश्ते हैं. स्मृति ईरानी के मुताबिक-

“एचएल पाहवा के यहां ED की रेड के दौरान राहुल गांधी के साथ लेन-देन के दस्तावेज मिले हैं. ये दस्तावेज जमीन की खरीदारी से संबंधित हैं. चौंकाने वाली बात ये है कि पाहवा के पास जमीन खरीदने के लिए पैसे तक नहीं थे. इस जमीन को खरीदने के लिए सीसी थंपी नाम के शख्स ने 50 करोड़ रुपए मुहैया करवाए. इसके बाद ये जमीन राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा के नाम खरीदी गई.”

केंद्रीय कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी ने कांग्रेस अध्यक्ष पर आरोपों की झड़ी लगा दी. सांकेतिक तस्वीर. इंडिया टुडे.
केंद्रीय कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी ने कांग्रेस अध्यक्ष पर आरोपों की झड़ी लगा दी. सांकेतिक तस्वीर. इंडिया टुडे.

स्मृति ईरानी ने कहा-

“मनमोहन सिंह सरकार के दौरान एक रक्षा सौदे और पेट्रोलियम सौदे में संजय भंडारी और सीसी थंपी के तार जुड़े हैं. इन सौदों की जांच में पता लगता है ‘जीजा जी’ के साथ ‘साले साहब’ भी पारिवारिक भ्रष्टाचार में शामिल हैं. लोगों को लगता था कि जमीन घोटाले में रॉबर्ट वाड्रा की ही भूमिका है. लेकिन जो तथ्य सामने आए हैं, उससे साफ हो गया है कि इस घोटाले में राहुल गांधी भी लिप्त हैं.”

स्मृति ईरानी ने आरोप लगाया-

“राहुल गांधी की निजी इच्छा थी कि यूरोफाइटर नाम की कंपनी को एक रक्षा सौदा मिले. उनके इंटरेस्ट इसमें शामिल थे. भ्रष्टाचार में राहुल गांधी खुद शामिल थे. अब ‘साले साहब’ खुद जनता को बताएं कि रक्षा सौदो में उनकी इतनी दिलचस्पी क्यों है? वो बताएं कि क्या देश की सुरक्षा को चंद रुपयों के लिए, जमीन के लिए, राहुल गांधी ने क्या शहीद करने का प्रयास किया? उन्‍होंने कहा कि राहुल गांधी का इंट्रेस्‍ट सिर्फ राजनीतिक ही नहीं, बल्कि आर्थिक और पारिवारिक है.”

मामला क्या है?
भाजपा की ओर से जारी दस्तावेज के मुताबिक कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने हरियाणा के फरीदाबाद में 5 एकड़ जमीन खरीदी. ये जमीन अमीपुर गांव के एचएल पाहवा से 15 लाख रुपए में खरीदी गई. कुछ ही समय बाद इस जमीन को प्रियंका गांधी ने वापस पाहवा को ही 80 लाख रुपए में बेच दी. जमीन अप्रैल, 2006 में खरीदी गई और जून, 2009 में बेची गई. इसी तरह रॉबर्ट वाड्रा ने भी तीन जमीनें खरीदीं. बाद में इन्हें बेच दिया. रॉबर्ट वाड्रा ने कुल 41 एकड़ जमीन करीब 1.16 करोड़ रुपए में खरीदी. बाद में इसे तीन टुकड़ों में करीब 3 करोड़ रुपए में बेच दिया. जिन एचएल पाहवा से जमीन खरीदी गई, वे बाद में रॉबर्ट वाड्रा की कंपनी में डायरेक्टर पद पर भी रहे.

चुनाव से पहले भाजपा राहुल गांधी और प्रियंका गांधी को घेरने में लगी है. (फाइल फोटो)
चुनाव से पहले भाजपा राहुल गांधी और प्रियंका गांधी को घेरने में लगी है. (फाइल फोटो)

बीजेपी ने आरोप लगाया है कि ना सिर्फ रॉबर्ट वाड्रा और प्रियंका गांधी बल्कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी महेश कुमार नागर के जरिए यहां जमीन खरीदी थी. भाजपा की तरफ से जारी दस्तावेज में जमीन के दाम भी बताए गए हैं. राहुल गांधी वाली सेल डीड में महेश नागर के दस्तखत हैं, जिससे पता लगता है कि उन्होंने अपनी पॉवर ऑफ अटार्नी महेश नागर को दे रखी थी. महेश नागर के पास रॉबर्ट वाड्रा की भी पॉवर ऑफ अटार्नी थी. प्रवर्तन निदेशालय रॉबर्ट वाड्रा और महेश नागर के रिश्तों की जांच कर रहा है. इस पूरे मामले में एक कमेटी भी जांच कर रही है, जिसकी अगुवाई रिटायर्ड जस्टिस ढींगरा कर रहे हैं.

कौन हैं संजय भंडारी और सीसी थंपी?

प्रवर्तन निदेशालय संजय भंडारी और सीसी थंपी के साथ रॉबर्ट वाड्रा के रिश्तों की जांच भी कर रहा है. संजय भंडारी रक्षा सौदों का दलाल रहा है. वो दिल्ली में ही रहता था, लेकिन कुछ साल से फरार है. वहीं सीसी थंपी दुबई का एनआरआई कारोबारी है. सीसी थंपी के रॉबर्ट वाड्रा से करीबी रिश्ते बताए जाते रहे हैं. आरोप हैं कि इन जमीनों को खरीदने के लिए पैसे सीसी थंपी ने दिए.

कांग्रेस ने किया पलटवार
इसके जवाब में कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने सीधा पीएम मोदी पर हमला बोलते हुए कहा कि आम चुनावों में उन्हें हार दिख रही है. इस वजह से वे लड़खड़ा रहे हैं और भटका रहे हैं. नफरत की आग में समृति ईरानी अपना सियासी संतुलन खो बैठी हैं. 5 साल से आपकी सरकार थी, आपको अब ये मामला याद आ रहा है. राहुल गांधी ने 36 लाख 47 रुपए में जमीन खरीदी थी. इसका भुगतान अपने अकाउंट से किया था. स्टांप ड्यूटी भी दी और फिर रजिस्टर गिफ्ट डीड के जरिए प्रियंका गांधी को दे दी. और स्टांप ड्यूटी भी दी. इसको प्रियंका गांधी ने विपासना संस्थान को दे दी.

अब बीजेपी वार कर रही है और कांग्रेस पलटवार. लेकिन चुनाव सिर पर हैं. पलड़ा किसका भारी होगा, इसका फैसला अब किसी पार्टी के नेता नहीं, बल्कि जनता तय करेगी.


 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें
congress land deal : Know the case of Rahul Gandhi and Priyanka Gandhi’s land deal, for which the BJP has accused them

टॉप खबर

पाकिस्तान से हुई लड़ाई में कैप्टन अमरिंदर का क्या रोल था?

कैप्टन हर जगह 65 की जंग की बात करते हैं. आज बड्डे है. जानते हैं उनसे जुड़े किस्से.

रॉयटर्स के मुताबिक भारत की बालाकोट स्ट्राइक फेल हुई! सैटेलाइट इमेज में क्या दिखा?

एक्सपर्ट के मुताबिक हाई रेजॉल्यूशन फोटो में जैश के मदरसे को कोई साफ नुकसान नहीं दिखता.

IND vs AUS : वो 5 फैक्टर, जिन्होंने भारत को दूसरा वनडे जिता दिया

कोहली तो हैं हीं...मगर असली काम तो बॉलरों ने किया.

किन तीन वजहों से दलित-आदिवासी संगठनों ने 5 मार्च को 'भारत बंद' बुलाया?

चुनाव के माहौल में इनकी नाराज़गी का क्या असर होगा? कोई असर होगा भी कि नहीं होगा...

वो पांच जवान, जो बड़गाम हेलिकॉप्टर क्रैश में शहीद हुए

ये वही क्रैश है जिसे पहले मिग विमान क्रैश समझ लिया गया था.

बडगाम में क्रैश हेलिकॉप्टर MI-17, जिसे बार-बार रूस से मंगाया जाता है

इसी हेलिकॉप्टर से एक और हादसा हो चुका है.

पाकिस्तान का लड़ाकू विमान F-16, जिसके दम पर वो इंडिया को धमकाता है

सुबह से ये खबरें चल रही हैं कि भारतीय वायुसेना ने एक F-16 गिरा दिया है.

12 लड़ाकू विमान, तीन कैंप, 1000 किलो के बम, इंडियन एयरफोर्स के हमले की खास बातें

12 दिन के अंदर पुलवामा हमले की जवाबी कार्रवाई की डिटेल्स जानिए.

वो चार जवान, जो पुलवामा में मेजर ढौंडियाल के साथ शहीद हुए

तीन सेना से थे, एक पुलिस से.