Submit your post

रोजाना लल्लनटॉप न्यूज चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं !

Follow Us

CBI में और भसड़ मची, कोर्ट ने नंबर 2 अस्थाना की गिरफ्तारी पर लगी रोक हटाई

2.76 K
शेयर्स

आलोक वर्मा और राकेश अस्थाना. सीबीआई में नंबर एक और नंबर दो. दोनों के बीच झगड़ा हुआ. दोनों ने एक दूसरे पर घूसखोरी के आरोप लगाए. फिर दोनों को छुट्टी पर भेज दिया गया. आलोक वर्मा गए सुप्रीम कोर्ट. अपनी बहाली का फैसला लेकर आए. लेकिन कुर्सी पर दो दिन भी नहीं रह पाए. सीबीआई का मुखिया चुनने वाली सेलेक्शन कमिटी ने उन्हें पद से हटा दिया और उन्हें डीजी फायर सर्विस बना दिया. वो उस कुर्सी पर भी नहीं रहे. 11 जनवरी की दोपहर में उन्होंने नौकरी से ही इस्तीफा दे दिया. अब बचे नंबर दो राकेश अस्थाना. इन पर सीबीआई ने केस दर्ज किया था. गिरफ्तारी से बचने के लिए राकेश अस्थाना पहुंचे थे दिल्ली हाई कोर्ट. 11 जनवरी को दिल्ली हाई कोर्ट का भी फैसला आ गया.

आलोक वर्मा अब सीबीआई तो छोड़िए, नौकरी में ही नहीं रहे. राकेश अस्थाना पर गिरफ्तारी की तलवार लटकक रही है. ये दोनों सीबीआई में नंबर एक और नंबर दो थे.
आलोक वर्मा अब सीबीआई तो छोड़िए, नौकरी में ही नहीं रहे. राकेश अस्थाना पर गिरफ्तारी की तलवार लटकक रही है. ये दोनों सीबीआई में नंबर एक और नंबर दो थे.

हाई कोर्ट ने राकेश अस्थाना की याचिका खारिज कर दी. मतलब ये कि अब सीबीआई चाहे तो अपने ही नंबर दो रहे राकेश अस्थाना को गिरफ्तार कर सकती है. हालांकि हाई कोर्ट ने ये भी कहा है कि राकेश अस्थाना इस फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में जा सकते हैं. हाई कोर्ट ने सीबीआई को आदेश दिया है कि राकेश अस्थाना के खिलाफ जिस मामले में एफआईआर दर्ज की गई है, उसकी जांच 10 हफ्ते में पूरी कर ली जाए.

क्या था मामला?

23 अक्टूबर की आधी रात को सीवीसी की बैठक हुई और दो बड़े अधिकारियों को छुट्टी पर भेज दिया गया. लेकिन जब आलोक वर्मा को छुट्टी पर भेजा गया, उस वक्त वो सात बड़े मामलों की जांच कर रहे थे.
23 अक्टूबर की आधी रात को सीवीसी की बैठक हुई और दो बड़े अधिकारियों को छुट्टी पर भेज दिया गया था. यहीं से पूरा विवाद शुरू हुआ था.

सीबीआई ने अपने ही नंबर दो राकेश अस्थाना के खिलाफ 15 अक्टूबर, 2018 को केस दर्ज किया था. ये एफआईआर भ्रष्टाचार को लेकर की गई थी. हैदराबाद के रहने वाले एक कारोबारी सतीश बाबू साना ने आरोप लगाया था कि राकेश अस्थाना ने मीट कारोबारी मोइन कुरैशी को मनी लॉन्ड्रिंग केस से बचाने के लिए पांच करोड़ रुपये की घूस मांगी थी. इनमें से तीन करोड़ रुपये एडवांस दिए जाने थे और दो करोड़ रुपये बाद में दिए जाने थे. इस मामले में सीबीआई ने मनोज कुमार नाम के एक बिचौलिए को गिरफ्तार किया था. इस बिचौलिए ने कोर्ट में मैजिस्ट्रेट के सामने बयान दिया था कि राकेश अस्थाना ने उससे दो करोड़ रुपये की घूस ली है. उसे ये पैसे मोइन कुरैशी ने दिए थे. इस मामले में सीबीआई के डीएसपी देवेंद्र कुमार को भी गिरफ्तार किया गया था. राकेश अस्थाना ने अपनी गिरफ्तारी से बचने के लिए और देवेंद्र कुमार ने अपनी रिहाई के लिए हाई कोर्ट में अर्जी लगाई थी. 20 दिसंबर, 2018 को दिल्ली हाई कोर्ट में जस्टिस नाजमी वजीरी ने सुनवाई पूरी कर ली थी और फैसला सुरक्षित रख लिया था. अब जब 11 जनवरी, 2019 को फैसला आया है, तो हाई कोर्ट ने किसी को भी राहत देने से इन्कार कर दिया है.

लल्लनटॉप न्यूज चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं !

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें
CBI vs CBI : Alok Verma resigned from all posts and Delhi high court rejected plea of CBI numer two Rakesh Asthana

क्या चल रहा है?

खट्टर सरकार हरियाणा में स्कूली बच्चों को राष्ट्रगान से जुड़ी फर्जी खबर पढ़ा रही है

दस साल पुराने फर्जी सर्वे को सिलेबस में शामिल कर लिया.

ऑस्ट्रेलिया की बॉलिंग के अलावा ये एक बात भी इंडियन बैट्समेन को परेशान कर रही है

और इसलिए शॉन मार्श की सेंचुरी और भी भारी हो जाती है.

अपने पहले मैच में ऐसा रेकार्ड खुद सिराज भी न चाहते होंगे, लेकिन अब तो बना दिया

औसत के हिसाब से सिराज पहले ही मैच में सबसे ज्यादा रन देने वाले इंडियन बोलर बन गए हैं.

सबरीमाला में घुसने वाली पहली महिला कनकदुर्गा को उनकी सास ने पीट दिया

लकड़ी के डंडे से की पिटाई, अस्पताल में भर्ती हैं कनक.

यूपी पुलिस ने रेप के आरोपियों को क्लीन चिट दी, महिला ने फांसी लगा ली

घटना के बाद महिला और उनके पति यूपी विधानसभा के सामने खुद को जलाने की कोशिश कर चुके थे.

लल्लनटॉप नौकरी की खोज में हैं तो इधर आइए

हमें 7 तरह के साथियों की ज़रूरत है.

भुवनेश्वर ने फिंच का डंडा जैसे उड़ाया, वो एकदम IPL वाले विकेट की फोटोकॉपी है

अब तक तो भुवनेश्वर फिंच के सपने में भी आने लगे होंगे.

Pmjay पर ममता बनर्जी नरेंद्र मोदी सरकार से खफा क्यों?

आसान भाषा में समझिए. क्या है केंद्र और पश्चिम बंगाल सरकार के बीच खींचतान की वजह?

नंगी तस्वीरों और 5,000 रुपये के लिए बेच दिए देश के खुफिया राज़

खरीदने वाली पाकिस्तानी एजेंट है.

शहीद मेजर शशि धरन: मंगेतर को लकवा मार गया लेकिन फिर भी शादी की

ऑन ड्यूटी ही नहीं ऑफ ड्यूटी नायक भी है ये मेजर