Submit your post

Follow Us

गेस्ट हाउस कांड के लिए मायावती ने मुलायम सिंह को पूरी तरह माफ कर दिया!

112
शेयर्स

बहुजन समाज पार्टी यानी बीएसपी की अध्यक्ष हैं मायावती. उन्होंने गेस्ट हाउस कांड में उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव के खिलाफ केस वापस लेने का फैसला किया है. न्यूज एजेंसी आईएनएस के मुताबिक, बीएसपी के राष्ट्रीय महासचिव सतीश चंद्र मिश्रा ने इस बात की पुष्टि की है. उन्होंने बताया कि पार्टी प्रमुख मायावती ने सुप्रीम कोर्ट में केस वापस लेने के लिए आवेदन किया था. हालांकि उन्होंने इस बारे में अधिक जानकारी नहीं दी.

वहीं, समाजवादी पार्टी के मुख्य प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी का कहना है कि उन्हें इस बारे में कोई जानकारी नहीं है. उन्होंने कहा, मुझे इस बारे में फिलहाल कोई जानकारी नहीं है. इसके बारे में पता करेंगे. उसके बाद ही इस पर कुछ कहेंगे.

सूत्रों के मुताबिक, मायावती ने 7 नवंबर यानी गुरुवार को पार्टी कार्यकर्ताओं की एक बैठक में कहा कि लोकसभा चुनाव के दौरान अखिलेश यादव ने उनसे अपने पिता के खिलाफ 24 साल पुराने मामले को वापस लेने का अनुरोध किया था. पार्टी के राज्यसभा सांसद सतीश मिश्रा को इस मामले को देखने के लिए कहा है.

इस मामले में मुलायम सिंह यादव, उनके भाई शिवपाल सिंह यादव, बेनी प्रसाद वर्मा और आजम खान सहित कई नेताओं के खिलाफ मायावती की ओर से हजरतगंज थाने में मुकदमा दर्ज करवाया गया था.

लोकसभा चुनाव के दौरान एसपी और बीएसपी ने गठबंधन में चुनाव लड़ा था. हालांकि नतीजे आने के बाद ये गठंबधन टूट गया. सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव ने मैनपुरी से लोकसभा चुनाव लड़ा था. 19 अप्रैल को मायावती उनके लिए वोट मांगने पहुंची थीं. 26 साल बाद ये पहला मौका था जब मुलायम सिंह यादव और मायावती ने मंच साझा किया था. रैली में अखिलेश यादव भी मौजूद थे. इस रैली में मायावती ने 2 जून 1995 के गेस्ट हाउस कांड का भी जिक्र किया था. उन्होंने कहा था,

देश हित में कठिन फैसले लेने पड़ते हैं.

क्या है गेस्टहाउस कांड

2 जून, 1995. इस तारीख को यूपी के राजनीतिक इतिहास का काला दिन कहा जाता है. इस दिन मायावती लखनऊ में स्टेट गेस्ट हाउस में ठहरी हुई थीं. उन्होंने मुलायम सरकार से समर्थन वापस ले लिया था. नाराज़ सपा विधायक और कार्यकर्ताओं ने वहां हंगामा काट दिया. मायावती के साथ हाथापाई और बदसलूकी हुई. उनकी जान पर बन आई. उधर बीजेपी विधायकों को जब यह खबर लगी तो वो भी स्टेट गेस्ट हाउस पहुंच गए. पलड़ा बराबरी पर टिका तब मामला संभला.


मायावती के साथ हुए गेस्ट हाउस कांड पर शिवपाल ने कहा, मुझे जबरन फंसाया गया

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

नेहरु से इतना प्यार? मोदी अब बिना कांग्रेस के नेहरू का ख्याल रखेंगे

एक भी कांग्रेस का नेता नहीं. एक भी नहीं.

शरद पवार बोले- महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लगने से बचाना है, तो बस एक ही तरीका है

शिवसेना के साथ मिलकर सरकार बनाने की मिस्ट्री पर क्या कहा?

मोदी को क्लीन चिट न देने वाले चुनाव अधिकारी को फंसाने का तरीका खोज रही सरकार!

11 कंपनियों से सरकार ने कहा, कोई भी सबूत निकालकर लाओ

दफ़्तर में घुसकर महिला तहसीलदार पर पेट्रोल छिड़का, फिर आग लगाकर ज़िंदा जला दिया

इस सबके पीछे एक ज़मीन विवाद की वजह बताई जा रही है. जिसने आग लगाई, वो ख़ुद भी झुलसा.

दिल्ली के तीस हजारी कोर्ट में पुलिस और वकीलों के बीच झड़प, गाड़ियां फूंकी

पुलिस और वकील इस झड़प की अलग-अलग कहानी बता रहे हैं.

US ने जारी किया विडियो, देखिए कैसे लादेन स्टाइल में किया गया बगदादी वाला ऑपरेशन

अमेरिका ने इस ऑपरेशन से जुड़े तीन विडियो जारी किए हैं.

लल्लनटॉप कहानी लिखिए और एक लाख रुपये का इनाम जीतिए

लल्लनटॉप कहानी कंपटीशन लौट आया है. आपका लल्लनटॉप अड्डे पर पहुंचने का वक्त आ गया है.

अमेठी: पुलिस हिरासत में आरोपी की मौत, 15 पुलिसवालों के खिलाफ केस दर्ज

मौत कैसे हुई? मजिस्ट्रेट जांच के आदेश दिए गए हैं.

PMC खाताधारकों ने बीजेपी नेता को घेरा, तो पुलिस ने उन्हें बचाकर निकाला

RBI के साथ मीटिंग करने पहुंचे थे.

इस विदेशी सांसद को कश्मीर आने का न्योता दिया फिर कैंसल कर दिया, वजह हैरान करने वाली है

सांसद ने ऐसी शर्त रख दी थी कि विदेशी डेलिगेशन का हिस्सा नहीं बन पाए.