Submit your post

रोजाना लल्लनटॉप न्यूज चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं !

Follow Us

90 के दशक के मशहूर विलेन की तंगहाली में मौत, घर में मिली लाश

6.29 K
शेयर्स

फिल्मी दुनिया. जितनी चमकीली और ग्लैमरस दिखती है, उतनी ही क्रूर भी. अर्श और फर्श दोनों से रूबरू कराती है. कितने ही सितारे ऐसे रहे, वक़्त के साथ जिनकी चमक तो छोड़िए वजूद तक नज़रों से ओझल हो गया. ऐसा ही एक एक्टर आज सुर्खियों में है. अपनी मौत की वजह से. मौत भी ऐसी कि दो दिन बाद दुनिया को इसकी खबर लगती है. एक्टर का नाम है महेश आनंद. 90 के दशक में विलेन की भूमिका में प्रमुखता से नजर आने वाला एक्टर. महेश पिछले काफी समय से मुंबई के वर्सोवा स्थित अपने फ्लैट में अकेले रह रहे थे. उनकी पत्नी 2002 में ही उनसे अलग हो चुकी थीं. महेश पिछले दो दिनों से डोरबेल का कोई जवाब नहीं दे रहे थे. इस पर उनकी बहन को इस बात की खबर दी गई. उनकी बहन पुलिस के साथ अपार्टमेंट में दाखिल हुईं तो वहां उनको महेश की लाश मिली. जो दो दिन पुरानी होने के कारण खराब हालत में थी. साथ ही मिला शराब से भरा एक ग्लास.

महेश काफी समय से अकेले ही रह रहे थे.
महेश काफी समय से अकेले ही रह रहे थे.

अपनी मजबूत कद काठी के कारण महेश एक खतरनाक विलेन के तौर पर जाने जाते थे. उन्होंने अमिताभ बच्चन के साथ शहंशाह और गोविंदा के साथ स्वर्ग जैसी फिल्मों में काम किया था. इसके अलावा मजबूर, थानेदार, विश्वात्मा, गुमराह, खुद्दार, बेताज बादशाह, कुली नं. 1, क्रांतिवीर और विजेता जैसी फिल्मों में भी महेश ने विलेन का किरदार निभाया था. हालांकि पिछले 18 सालों से उनके पास कोई काम नहीं था. अंतिम बार वो पहलाज निहलानी की फिल्म रंगीला राजा में नजर आए थे. महेश ने कुछ समय पहले एक इंटरव्यू में कहा था कि उन्हें काफी समय से फिल्में नहीं मिल रही थीं और अपनी जीविका चलाने के लिए वे इन्हीं रेसलिंग मैचों पर निर्भर थे. पहलाज निहलानी ने उन्हें कई सालों बाद रंगीला राजा में छह मिनट का रोल दिया था. महेश इस रोल के लिए पहलाज के शुक्रगुजार थे. उन्होंने कहा था कि मैंने इंडस्ट्री के बड़े सितारों के साथ काम किया लेकिन उन्हें भुला दिया गया है.

पहलाज निहलानी की रंगीला राजा में 18 साल बाद नजर आए थे महेश
पहलाज निहलानी की रंगीला राजा में 18 साल बाद नजर आए थे महेश

कहा जा रहा है कि काम न मिलने के कारण महेश डिप्रेशन में थे. इसलिए शराब के आदी हो गए थे. सिनेब्लिट्ज़ वेबसाइट से बातचीत में शक्ति कपूर ने बताया, “महेश काम न मिलने के चलते काफी तनाव में रहता था और उसे शराब की लत लग चुकी थी. वो नशे में लोगों को फोन लगा देता था. पहलाज जी ने उसे फिल्म के क्लाइमैक्स से कुछ मिनटों पहले एक रोल दिया था जो उसने अच्छे से निभाया. फिल्म की शूटिंग के दौरान पहलाज जी ने उन्हें शराब पीने से मना भी किया था लेकिन महेश ने उनकी बिल्कुल नहीं सुनी. मैं भी महेश को दारु पीने के लिए मना करता था और मैंने उसे शराब को छोड़ने के लिए भी कहा था क्योंकि कुछ साल पहले बॉलीवुड एक्टर गेविन पैकार्ड  भी शराब की लत के कारण अपनी जिंदगी खो बैठे थे.”

फिल्म गुमराह के एक फाइटिंग सीन में सजय दत्त के साथ महेश आनंद
फिल्म गुमराह के एक फाइटिंग सीन में सजय दत्त के साथ महेश आनंद

उनकी मां तारा देवी 40 और 50 के दशक में फिल्मों में काम कर चुकी हैं. महेश ने अपनी मां को महज दो साल की उम्र में खो दिया था. उन्होंने एक मुश्किल बचपन से गुजरते हुए मॉडलिंग तक का सफर तय किया. महेश ने ताइक्वांडो में ब्लैक बेल्ट हासिल की थी. मॉडलिंग के बाद उन्होंने फिल्मों का रुख किया. उन्होंने अपने फिल्मी करियर के दौरान भी कई प्रोफेशनल फाइट्स में हिस्सा लिया था.

नसीरूद्दीन शाह के साथ महेश आनंद
महेश आनंद नसीरूद्दीन शाह के साथ, फिल्म विश्वात्मा

 

लल्लनटॉप न्यूज चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं !

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें
Bollywood Actor Mahesh Anand Found Dead At Mumbai Home and his Body Was Decomposed

टॉप खबर

सुप्रीम कोर्ट ने क्या कहा, जिसे ममता-मोदी दोनों तरफ के लोग अपनी जीत मान रहे हैं

CBI और कोलकाता पुलिस की लड़ाई असल में ममता और मोदी की लड़ाई मानी जा रही है...

सीबीआई को लेकर मोदी सरकार से क्यों टकरा रही हैं ममता बनर्जी

जानिए कोलकाता से लेकर दिल्ली तक क्यों बरपा है हंगामा, क्या-क्या हुआ अब तक?

CBI पहुंची थी कोलकाता कमिश्नर के घर, पुलिस ने टीम को ही हिरासत में ले लिया

मोदी बनाम ममता की लड़ाई अब पुलिस बनाम सीबीआई, ममता बनर्जी धरने पर.

'5 लाख तक टैक्स नहीं' ये सुनने के बाद कन्फ्यूजन क्यों फैला?

अंतरिम बजट आ गया है. आपके लिए क्या निकलकर आया, वो जानो.

इन्कम टैक्स पर मोदी सरकार का सबसे बड़ा ऐलान

गाइए - 'जिसका मुझे था इंतज़ार, वो घड़ी आ गई.'

हम पकौड़ों में रोज़गार तलाश रहे थे, बेरोजगारी 45 साल के टॉप पर पहुंच गई

रिसी हुई रिपोर्ट का रहस्योद्घाटन कि रोजगार के नाम पर तो रायता फ़ैल चुका है.

क्या है मायावती सरकार में हुआ 1400 करोड़ का स्मारक घोटाला, जिसमें ED ने छापा मारा है

सवा चार लाख का हाथी, बांटे गए 60 लाख. जमके लूट मची थी!

महात्मा गांधी की हत्या के तीन आरोपी, जिनके अभी भी जिंदा होने की आशंका है

गांधीजी के पड़पोते तुषार का कहना है कि ये अकेली लापरवाही नहीं थी!

गांधी की हत्या में RSS की क्या भूमिका थी?

इस सवाल पर दशकों से सिर धुना जा रहा है, गांधीजी की डेथ एनिवर्सरी पर जानिए कुछ इनसाइट्स.

गांधी जी की हत्या पर लिखी ये किताब आप इंडिया क्यों नहीं ला सकते?

किताब में दावा है कि गांधी को अंतरराष्ट्रीय साजिश के तहत मारा गया.