Submit your post

Follow Us

बिहार: पाकिस्तान की जीत पर पटाखे फोड़ने का दावा शेखचिल्ली का किस्सा निकला!

टी20 विश्व कप में भारत-पाक का मैच हुआ. पाकिस्तान की जीत हुई. उसके बाद दावे किए गए कि टीम इंडिया की हार के बाद भारत के कई हिस्सों में कुछ लोगों ने पटाखे जलाए. इसी तरह का एक कथित मामला बिहार के किशनगंज से भी आया. सोशल मीडिया पर इससे जुड़ा एक पोस्ट भी डाल दिया गया. कई लोगों ने उसे शेयर किया. किशन गंज के एक पूर्व विधायक ने तो पुलिस से इस तरह के पोस्ट डालने वालों पर कार्रवाई करने की मांग कर डाली. मामला बढ़ता देख पुलिस ने जांच की. पता चला कि एक गलतफहमी के कारण एक आदमी ने ये पोस्ट कर दिया था.

क्या था पोस्ट में?

रविवार, 24 अक्टूबर की रात को फेसबुक पर एक पोस्ट डाला जाता है. ‘किशनगंज हलचल’ नाम के एक फेसबुक न्यूज ग्रुप ने इस पोस्ट को डाला था. इसमें लिखा था,

“पाकिस्तान की जीत के बाद किशनगंज में गूंज रही आतिशबाजी.”

इसी तरह का एक पोस्ट किशनगंज टाइम्स नाम के एक दूसरे न्यूज़ ग्रुप ने भी पोस्ट किया. हालांकि माहौल बिगड़ने से पहले किशनगंज पुलिस अधीक्षक ने जांच के आदेश दे दिए. पुलिस ने पोस्ट करने वाले को थाने बुलाया. पूछताछ की तब पता चल कि पोस्ट करने वाले आदमी के घर के पास ही शादी हो रही थी. वहां पटाखे फोड़े जा रहे थे. लेकिन पोस्ट करने वाले भाईसाहब को लगा कि ये पटाखे पाकिस्तानी टीम के जीतने के कारण फोड़े जा रहे हैं, और पोस्ट कर दिया. इस बारे में किशनगंज के एसपी कुमार आशीष ने एक लोकल पत्रकार से कहा,

“पूछताछ में उन्होंने अपनी गलती स्वीकार कर ली है. पोस्ट भी डिलीट कर दिया है. लेकिन कुछ लोगों ने उसका स्क्रीनशॉट लेकर जगह-जगह भेज दिया. जिससे मामला काफी वायरल हो रहा था. उन्होंने मामले को बिना वेरीफ़ाई किए पोस्ट कर दिया था. उन्होंने हमें एक माफीनामा भी दिया है. इस मामले में जितने लोग शामिल थे हमने उनसे 25 हजार का एक बॉन्ड भरवाकर ये वादा लिया है कि आगे से वे इस तरह का कोई भी पोस्ट नहीं करेंगे.”

ips kumar ashish
डीएसपी अजीत कुमार सिंह, किशनगंज.

 

कांग्रेस नेताओं ने की तारीफ 

पुलिस की कार्रवाई पर किशनगंज से कांग्रेस के सांसद मुहम्मद जावेद ने ट्वीट किया. उन्होंने पुलिस की तारीफ करते हुए कहा,

“एंटी सोशल मीडिया एलिमेंट्स के खिलाफ तुरंत कार्रवाई करने के लिए जिला प्रशासन का धन्यवाद. हम किसी को भी किशनगंज के सांप्रदायिक सौहार्द को भंग नहीं करने देंगे.”

 

वहीं किशनगंज से कांग्रेस के विधायक रह चुके तौसीफ आलम ने भी फेसबुक पर एक पोस्ट किया. इसमें उन्होंने विवादित पोस्ट का एक स्क्रीनशॉट शेयर करते हुए लिखा कि ‘किशनगंज हलचल’ जैसे नफरती ग्रुप पर बैन लगाना बेहद जरूरी है जो आए दिन इलाके को बदनाम करने मैं कोई कसर नहीं छोड़ता है. साथ ही उन्होंने इस ग्रुप को चलाने वाले सभी लोगों पर कड़ी कार्रवाई की मांग की.


शेख़ राशिद ने पाक की जीत को ‘मुस्लिमों’ की जीत कहा तो भारतीयों से जवाब भी मिल गया!

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

ट्रैवल हिस्ट्री नहीं होने के बाद भी डॉक्टर के ओमिक्रॉन से संक्रमित होने पर डॉक्टर्स क्या बोले?

ट्रैवल हिस्ट्री नहीं होने के बाद भी डॉक्टर के ओमिक्रॉन से संक्रमित होने पर डॉक्टर्स क्या बोले?

बेंगलुरु में 46 साल के एक डॉक्टर कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन से संक्रमित पाए गए हैं.

क्या BYJU'S अच्छी शिक्षा देने के नाम पर लोगों को अनचाहा लोन तक दिलवा रही है?

क्या BYJU'S अच्छी शिक्षा देने के नाम पर लोगों को अनचाहा लोन तक दिलवा रही है?

ये रिपोर्ट कान खड़े कर देगी.

Jack Dorsey ने Twitter का CEO पद छोड़ा, CTO पराग अग्रवाल को बताया वजह

Jack Dorsey ने Twitter का CEO पद छोड़ा, CTO पराग अग्रवाल को बताया वजह

इस्तीफे में पराग अग्रवाल के लिए क्या-क्या बोले जैक डोर्से?

पेपर लीक होने के बाद UPTET परीक्षा रद्द, दोबारा कराने पर सरकार ने ये घोषणा की

पेपर लीक होने के बाद UPTET परीक्षा रद्द, दोबारा कराने पर सरकार ने ये घोषणा की

UP STF ने 23 संदिग्धों को गिरफ्तार किया.

26 नए बिल कौन-कौन से हैं, जिन्हें सरकार इस संसद सत्र में लाने जा रही है

26 नए बिल कौन-कौन से हैं, जिन्हें सरकार इस संसद सत्र में लाने जा रही है

संसद का शीतकालीन सत्र 29 नवंबर से 23 दिसंबर तक चलेगा.

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चकाचक निर्माण से लोगों को क्या-क्या मिलने वाला है?

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चकाचक निर्माण से लोगों को क्या-क्या मिलने वाला है?

पीएम मोदी ने गुरुवार 25 नवंबर को इस एयरपोर्ट का शिलान्यास किया.

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

पिछले विधानसभा चुनाव में त्रिकोणीय मुकाबला था, इस बार त्रिकोणीय से बढ़कर होगा.

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

कासगंज: पुलिस लॉकअप में अल्ताफ़ की मौत कोई पहला मामला नहीं.

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

पुलिस ने कहा था, 'अल्ताफ ने जैकेट की डोरी को नल में फंसाकर अपना गला घोंटा.'

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये ख़बर हमारे देश का एक और सच है.