Submit your post

Follow Us

ईश्वर चंद्र विद्यासागर की मूर्ति किसने तोड़ी, ये वीडियो किस ओर इशारा करते हैं?

3.89 K
शेयर्स

14 मई को कोलकाता में अमित शाह का रोड शो था. इसी रोड शो के दौरान जमकर तोड़ फोड़ हुई. हिंसा और आगजनी के लिए अब एक दूसरे पर आरोप लगा रहे हैं. बीजेपी का कहना है कि ये काम टीएमसी ने किया और टीएमसी न्यूटन का थर्ड लॉ के तहत आरोप उसी गति से वापस लगा रही है. ममता बनर्जी का कहना है कि ये सब अमित शाह की साज़िश है और अमित शाह कह रहे हैं कि ‘चुनाव तो पूरे देश में हो रहे हैं फिर हिंसा केवल बंगाल में क्यों?’ इस पर हमारी ख़बर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.

इसी हिंसा में प्रसिद्ध विचारक और शिक्षाविद ईश्वरचंद्र विद्यासागर की मूर्ति तोड़ दी गई. मूर्ति तोड़ना बंगाल में बड़ा मुद्दा बन गया है. टीएमसी ये मैसेज देना चाहती है कि ‘विद्यासागर का अपमान हम सबका अपमान है’.

#बीजेपी का क्या है आरोप?

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में टीएमसी पर आरोप लगाए हैं-

अमित शाह ने कहा कि शाम को साढ़े सात बजे की घटना है. कॉलेज बंद हो चुका था. तो मेरा यही सवाल है कि चाबी बीजेपी कार्यकर्ताओं के पास कहां से आएगी? कॉलेज पर किसका प्रशासनिक कब्ज़ा है? मूर्ति तक पहुंचने के लिए दो दरवाज़े पार करने पड़ते हैं. टीएमसी ने ही मूर्ती तोड़ी है.

लेकिन इंडियन एक्सप्रेस में छपी एक ख़बर के अनुसार अमित शाह के इन दावों से सच्चाई थोड़ी अलग है. वीडियो किसी और ही तरफ़ इशारा कर रहे हैं.

अख़बार कहता है कि जिस तरह के वीडियो सामने आए हैं उसमें ‘चाबी’ की ज़रूरत दिखाई नहीं दे रही है. वीडियो में दिखाई दे रहा है कि भगवा टी शर्ट पहने कुछ लोग कॉलेज का गेट तोड़ने की लगातार कोशिश कर रहे हैं.

#पकड़े गए सब लोग बीजेपी कार्यकर्ता हैं:

इंडियन एक्सप्रेस की पुलिस अधिकारियों से बातचीत में पता चला कि, कोलकाता पुलिस ने हिंसा के लिए कुल 58 लोगों को गिरफ्तार किया है. और ये सब बीजेपी के कार्यकर्ता हैं.

# वीडियो में मूर्ति जैसा टुकड़ा लिए दिख रहे भगवा टीशर्ट-धारी:

ऑल्ट न्यूज़ ने भी एक वीडियो जारी किया है. वेबसाइट का कहना है कि ‘एक मूर्ति जैसा सफ़ेद टुकड़ा’ वीडियो में बार-बार दिखाई दे रहा है. इसी वीडियो में जो भीड़ उस सफ़ेद टुकड़े को उठाकर दीवार पर फेंक रही है उसमें दो लोग भगवा टी शर्ट पहने हैं.

#बीजेपी क्या कह रही है?

पार्टी का कहना है कि पहले पत्थरबाज़ी कॉलेज के भीतर से हुई. अचानक चलते हुए रोड शो के बीच में कॉलेज कैम्पस से पत्थर फेंके गए. टीएमसी के लोगों ने ही तोड़ फोड़ की है और मूर्ति भी इन्हीं लोगों ने तोड़ी है.

#ममता बनर्जी के घटनास्थल पहुंचने पर सवाल:

बीजेपी आईटी सेल हेड अमित मालवीया ने ममता बनर्जी पर सवाल उठाते हुए कहा है कि ‘टेलीग्राफ अख़बार के मुताबिक़ मूर्ति अंदर एक शीशे के बॉक्स में रखी थी. लेकिन जब ममता बनर्जी आईं तो मूर्ति के टुकड़े बड़ी सफ़ाई से बाहर रखे गए थे. साथ में मीडिया भी था. सवाल ये है कि ममता घटनास्थल पर क्यों नहीं गईं?

आरोप प्रत्यारोप अपनी जगह हैं, लेकिन इससे जो नुक्सान हो रहा है वो हम सबका है. देश का है. ईश्वरचंद्र विद्यासागर ने शिक्षा के लिए देश को जो योगदान दिया, उससे हमने शिक्षा शायद ली नहीं.


वीडियो देखें:

जब मंदिर और मजार का झगड़ा अफवाह की शक्ल में फैलने लगा

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

अयोध्या : मुस्लिम पक्ष ने कहा, 'केवल हमसे ही सारे सवाल क्यों पूछे जा रहे?'

इस पर हिन्दू पक्ष ने कोर्ट में क्या कह दिया?

राफेल बनाने वालों ने राजनाथ सिंह से ऐसी बात कह दी कि निर्मला सीतारमण का दिल बैठ जाए

टैक्स को लेकर क्या कह दिया?

हिंदू राष्ट्र की बात करते-करते पाकिस्तान की बात क्यों करने लगे संघ प्रमुख भागवत?

मोहन भागवत ने और भी बहुत कुछ कहा है, जो संघ के पुराने विचारों से मेल नहीं खाता.

'राम-राम' नहीं कहा तो अलवर में पति को पीटा, पत्नी के कपड़े उतारने की कोशिश की

पति-पत्नी मुसलमान थे.

भिखारिन के अकाउंट से इतने पैसे मिले कि बैंक भी सकते में है

यहां लाखों नहीं, करोड़ों की बात हो रही है.

क्या है गौतम नवलखा केस, जिसे सुनने से अबतक CJI समेत सुप्रीम कोर्ट के 5 जज इनकार कर चुके हैं

किसी भी जज ने कोई कारण नहीं बताया है, पूर्व जज ने कहा था, कारण बताने से पारदर्शिता बढ़ती है.

टीवी पर शुरू हो रहा है 'दी लल्लनटॉप क्विज' सौरभ द्विवेदी के साथ, पूरी जानकारी पाइए

टीवी के इतिहास का सबसे मस्त क्विज, शनिवार 5 अक्टूबर से.

चिन्मयानंद को बचाने के लिए वकील ने कोर्ट में गजब का तर्क दिया है

और ऐसी बात जिसका केस से कोई संबंध नहीं.

योगी का नया ऐप ये काम कर देगा, किसी ने सोचा भी नहीं था

ये क्या बवाल मोल ले लिया योगी जी ने.

चिन्मयानंद और कुलदीप सेंगर के फोन में ऐसा क्या ख़ास है कि पुलिस उलझ गयी है

माथापच्ची हो रही, लेकिन उनका फोन नहीं खुल पा रहा.