Submit your post

Follow Us

अयोध्या पर फैसलाः पीएम मोदी ने क्यों किया बर्लिन की दीवार गिरने का जिक्र

5
शेयर्स

अयोध्या राम जन्मभूमि- बाबरी मस्जिद विवाद पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला आ गया है. इस फैसले के साथ ही अयोध्या का 134 साल पुराना ज़मीन विवाद खत्म होता नज़र आ रहा है.

मामले की सुनवाई सुप्रीम कोर्ट की पांच जजों की बेंच ने की थी. लगातार 40 दिनों तक. 16 अक्टूबर को सुनवाई खत्म हुई. 9 नवंबर को चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने फैसला सुनाया. कहा कि ये फैसला पांचों जजों की सर्वसम्मति से लिया गया है.

क्या है फैसले में?

Ayodhya Banner Final
क्लिक करके पढ़िए दी लल्लनटॉप पर अयोध्या भूमि विवाद की टॉप टू बॉटम कवरेज.

2.77 एकड़ की विवादित ज़मी सरकार को सौंप दी गई है. कोर्ट ने सरकार को ट्रस्ट बनाकर उस जगह पर मंदिर निर्माण करवाने का आदेश दिया है. निर्मोही अखाड़ा इस ट्रस्ट का हिस्सा होगा. वहीं, मुस्लिम पक्ष को किसी और जगह पर 5 एकड़ ज़मीन दी जाएगी.

इस फैसले के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश को संबोधित किया. पीएम मोदी ने कहा,

फैसला आने के बाद जिस प्रकार हर वर्ग ने, हर समुदाय ने, हर पंथ के लोगों ने, पूरे देश ने खुले दिल से इसे स्वीकार किया है, वो भारत की पुरातन संस्कृति, परंपराओं और सद्भाव की भावना को प्रतिबिंबित करता है. देश के न्यायधीश, न्यायालय और हमारी न्यायिक प्रणाली अभिनंदन के अधिकारी हैं. अब समाज के नाते, हर भारतीय को अपने कर्तव्य, अपने दायित्व को प्राथमिकता देते हुए काम करना है. हमारे बीच का सौहार्द, हमारी एकता, हमारी शांति,देश के विकास के लिए बहुत महत्वपूर्ण है. सर्वोच्च अदालत का ये फैसला हमारे लिए एक नया सवेरा लेकर आया है. इस विवाद का भले ही कई पीढ़ियों पर असर पड़ा हो, लेकिन इस फैसले के बाद हमें ये संकल्प करना होगा कि अब नई पीढ़ी, नए सिरे से न्यू इंडिया के निर्माण में जुटेगी. नए भारत में भय, कटुता, नकारात्मकता का कोई स्थान नहीं है.

इसके साथ ही पीएम मोदी ने दो बड़े और महत्वपूर्ण इवेंट्स का जिक्र किया.

पहला इवेंट था- करतारपुर कॉरिडोर का उद्घाटन. ये कॉरिडोर पाकिस्तान के करतारपुर स्थित दरबार साहिब गुरुद्वारे को पंजाब के गुरदासपुर जिले के डेरा बाबा नानक गुरुद्वारे से जोड़ता है. दरबार साहिब की स्थापना गुरु नानक ने 1522 में की थी. यह गुरुद्वारा दुनियाभर के सिखों की आस्था का केंद्र है. 9 नवंबर, 2019 को करतारपुर कॉरिडोर का उद्घाटन हुआ. अब भारत के सिख श्रद्धालु बिना वीज़ा के करतारपुर स्थित दरबार साहिब जा सकते हैं.

दूसरा इवेंट था- बर्लिन की दीवार गिरने का. बर्लिन की दीवार 9 नवंबर, 1990 में गिरा दी गई थी. ये दीवार पूर्वी जर्मनी और पश्चिमी जर्मनी को एक दूसरे से बांटती थी. दीवार गिरी और दो हिस्सों में बंटा जर्मनी फिर से एक हो गया.

पीएम मोदी ने कहा कि 9 नवंबर की तारीख एक बार फिर हमें साथ रहकर आगे बढ़ने की सीख दे रही है. उन्होंने कहा कि आज के दिन का संदेश जुड़ने-जोड़ने और मिलकर जीने का है.


वीडियोः क्या है ये अयोध्या एक्ट 1993 जिसका ज़िक्र अयोध्या फैसले के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने किया है?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

सुप्रीम कोर्ट का फैसला: विवादित ज़मीन रामलला को, मुस्लिम पक्ष को कहीं और मिलेगी ज़मीन

जानिए, कोर्ट ने अपने फैसले में और क्या-क्या कहा है...

नेहरु से इतना प्यार? मोदी अब बिना कांग्रेस के नेहरू का ख्याल रखेंगे

एक भी कांग्रेस का नेता नहीं. एक भी नहीं.

शरद पवार बोले- महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लगने से बचाना है, तो बस एक ही तरीका है

शिवसेना के साथ मिलकर सरकार बनाने की मिस्ट्री पर क्या कहा?

मोदी को क्लीन चिट न देने वाले चुनाव अधिकारी को फंसाने का तरीका खोज रही सरकार!

11 कंपनियों से सरकार ने कहा, कोई भी सबूत निकालकर लाओ

दफ़्तर में घुसकर महिला तहसीलदार पर पेट्रोल छिड़का, फिर आग लगाकर ज़िंदा जला दिया

इस सबके पीछे एक ज़मीन विवाद की वजह बताई जा रही है. जिसने आग लगाई, वो ख़ुद भी झुलसा.

दिल्ली के तीस हजारी कोर्ट में पुलिस और वकीलों के बीच झड़प, गाड़ियां फूंकी

पुलिस और वकील इस झड़प की अलग-अलग कहानी बता रहे हैं.

US ने जारी किया विडियो, देखिए कैसे लादेन स्टाइल में किया गया बगदादी वाला ऑपरेशन

अमेरिका ने इस ऑपरेशन से जुड़े तीन विडियो जारी किए हैं.

लल्लनटॉप कहानी लिखिए और एक लाख रुपये का इनाम जीतिए

लल्लनटॉप कहानी कंपटीशन लौट आया है. आपका लल्लनटॉप अड्डे पर पहुंचने का वक्त आ गया है.

अमेठी: पुलिस हिरासत में आरोपी की मौत, 15 पुलिसवालों के खिलाफ केस दर्ज

मौत कैसे हुई? मजिस्ट्रेट जांच के आदेश दिए गए हैं.

PMC खाताधारकों ने बीजेपी नेता को घेरा, तो पुलिस ने उन्हें बचाकर निकाला

RBI के साथ मीटिंग करने पहुंचे थे.