Submit your post

Follow Us

कांग्रेस विधायक अदिति सिंह ने कहा- मुझपर हमला हुआ, तीन गाड़ियां पलटीं

995
शेयर्स

रायबरेली की सदर सीट से विधायक अदिति सिंह के काफिले पर हमले का मामला सामने आया है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक घटना रायबरेली के हरचंदपुर थाना क्षेत्र के मोदी स्कूल के पास हुई. हमले में अदिति सिंह की कार पलट गई. काफिले की तीन गाड़ियां भी पलट गईं. अदिति सहित कई नेता घायल हुए हैं. उन्हें जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

मामला क्या है
रायबरेली जिला पंचायत अध्यक्ष के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पर वोटिंग हो रही थी. अदिति अपने समर्थकों के साथ गई थीं. रायबरेली जिला पंचायत अध्यक्ष हैं अवधेश सिंह. वह सोनिया गांधी के खिलाफ चुनाव लड़ रहे बीजेपी प्रत्याशी दिनेश सिंह के भाई हैं.अवधेश सिंह पर हमला करवाने के आरोप लग रहे हैं. मीडिया रिपोर्ट्स में कहा गया है कि अदिति के काफिले पर फायरिंग भी की गई. कथित तौर पर काफिले पर पथराव और फायरिंग के बाद कई गाड़ियां हाइवे पर पलट गईं. कुछ समय के लिए यातायात भी प्रभावित हुआ.

हादसे की जानकारी मिलते ही अदिति सिंह के पिता और पूर्व विधायक अखिलेश सिंह और पूर्व मंत्री मनोज पांडे समेत क्षेत्र के कई नेता उनका हाल जानने अस्‍पताल पहुंचे.अदिति सिंह के समर्थकों का आरोप है कि पीछा कर रही गाड़ियों से अदिति सिंह पर फायरिंग की गई. ऑल इंडिया महिला कांग्रेस ने एक मीडिया रिपोर्ट को टैग करते हुए ट्वीट किया है,

गुंडों ने अदिति सिंह के काफिले पर हमला किया. यह निंदनीय है. प्रियदर्शिनी नेशनल इंचार्ज पर हुए हमले की हम कड़ी निंदा करते हैं. हम यूपी सरकार से मांग करते हैं कि इन गुंडों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए.

यूथ कांग्रेस ने भी अदिति पर हमले को लेकर ट्वीट किया है,

हम कांग्रेस नेता अदिति सिंह पर कपटी और कायरतापूर्ण हमले की कड़ी निंदा करते हैं. ऑल इंडिया यूथ कांग्रेस यूपी सरकार से इन गुंडों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग करती है. हमारी प्रार्थना आपके साथ है अदिति जी.ऑल इंडिया यूथ कांग्रेस हमेशा आपके साथ खड़ा है.

 

यूपी कांग्रेस ने भी ट्वीट किया

कौन हैं अदिति सिंह
अदिति पांच बार के विधायक अखिलेश सिंह की बेटी हैं. पढ़ाई अमेरिका से हुई है और देश वापस लौटने के बाद उन्होंने पिता के साथ राजनीति में दखल देना शुरू किया. 2017 में उन्होंने सदर सीट से चुनाव जीता था. अदिति का शुरू से रायबरेली से कोई जुड़ाव नहीं रहा है. बोर्डिंग स्कूल में पढ़ी हैं. बारहवीं की पढ़ाई दिल्ली से की है. इसके बाद अमेरिका निकल गईं. चुनाव प्रचार के लिए अदिति सोशल मीडिया पर भी काफी एक्टिव रही थीं. उन्हें प्रियंका गांधी का करीबी माना जाता है.


Video: नरेंद्र मोदी को कोस रहे एक आदमी से लड़ पड़ा मोदी फैन और फिर…

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

कांग्रेस और सपा छोड़कर भाजपा में आए नेताओं ने मोदी के बारे में क्या कहा?

वो भी कल लखनऊ में...

कश्मीर में बैन के बाद भी किसकी मेहरबानी से गिलानी इस्तेमाल कर रहे थे फोन-इंटरनेट?

बैन के चार दिन बाद तक गिलानी के पास इंटरनेट और फोन था. प्रशासन को इसकी भनक भी नहीं थी.

पीएम मोदी ने छठवीं बार लाल किले पर फहराया तिरंगा, 92 मिनट के भाषण में नया क्या था?

पीएम मोदी ने अपने कार्यकाल की उपलब्धियां गिनाई.

बीफ़-पोर्क के नाम पर ज़ोमैटो कर्मचारियों को भड़काने वाले लोकल भाजपा नेता निकले!

और एक नहीं, कई हैं ऐसे. देखिए तो...

यूपी के एक और अस्पताल में 32 बच्चों की मौत, डॉक्टरों को कारण का पता नहीं

किसी ने कहा था, "अगस्त में तो बच्चे मरते ही हैं"

भगवान राम के इतने वंशज निकल आए हैं कि आप भी माथा पकड़ लेंगे

अभी राम पर खानदानी बहस हो रही है. खुद ही देखिए...

उन्नाव मामले में भाजपा विधायक कुलदीप सेंगर अब लंबा फंस गए हैं

सीबीआई ने केस में रोचक खुलासे किए हैं

राष्ट्र के नाम संबोधन में पीएम मोदी ने बताया क्या है उनका 'मिशन कश्मीर'

पीएम मोदी ने लगभग 40 मिनट तक अपनी बात रखी.

जम्मू-कश्मीर के मामले में आत्माओं का भी प्रवेश हो गया है

और एक समय एक "आत्मा" बहुत दुखी हुई थी

मायावती का ऐसा हृदय परिवर्तन कैसे हुआ कि कश्मीर पर सरकार के साथ हो गयीं?

धारा 370 हटवाना चाहती थीं या वजह कुछ और है?