Submit your post

Follow Us

सेमी फाइनल में चौथे नंबर पर क्यों नहीं उतरे धोनी, रवि शास्त्री ने खुलासा किया

5
शेयर्स

पहले सेमीफाइनल में भारत और दूसरे में ऑस्ट्रेलिया की हार के बाद फाइनल के लिए लॉड्स की तस्वीर साफ हो चुकी है. 14 जुलाई को इंग्लैंड और न्यूज़ीलैंड की टीम आमने-सामने होगी. दोनों टीमें इसकी तैयारी में जुट चुकी है. लेकिन भारतीयों के ज़ेहन से अभी भी सेमीफाइनल हार की तस्वीर नहीं उतर पा रही है.

सोशल मीडिया पर लोग लगातार हार की समीक्षा कर रहे हैं. भारतीय टीम 240 के स्कोर का पीछा नहीं कर पाई इसे लेकर लोग कई प्वाइंट्स पर बातें कर रहे हैं. और इन सभी प्वाइंट में सबसे ऊपर धोनी की बैटिंग ऑर्डर आ रही है. क्योंकि इस सेमीफाइनल में धोनी 7वें नंबर पर भेजे गए, जबकि 2011 वाले विश्वकप में टीम की खराब स्थिति में वे तीसरे नंबर पर आए थे.

धोनी की बैटिंग ऑर्डर को लेकर लोगों में काफी गुस्सा है. वे लगातार टीम मैनेजमेंट पर सवाल उठा रहे हैं.

सवाल पूछे जा रहे हैं कि कैसे दिनेश कार्तिक को महेंद्र सिंह धोनी से पहले भेज दिया गया. इन सवालों पर टीम के कोच रवि शास्त्री ने जवाब दिया है. इंडियन एक्सप्रेस से बात करते हुए रवि शास्त्री कहा-

धोनी को नीचे भेजने का फैसला टीम का था. ये एक आसान फैसला था. अगर धोनी पहले बैटिंग के लिए आते और अगर वो जल्दी आउट हो जाते तो फिर सारा चेज़ बिगड़ जाता. हमें उनके अनुभव की बाद में जरूरत थी. वो दुनिया के सबसे बड़े फिनिशर हैं और अगर हम उनका इस्तेमाल ऐसे नहीं करते तो फिर ये न्याय नहीं होता. टीम में हर कोई ये चाहता था कि वो बाद में बैटिंग करे.

सेमीफाइनल मुकाबले में जब भारतीय टीम की हालत काफी खराब थी, तब लोगों को लग रहा था कि धोनी 2011 विश्वकप की तरह ऊपर बैटिंग करने आएंगे. 24 रन पर 4 विकेट गिरने के बाद लोग कयास लगाने लगे कि अब धोनी आकर टीम की डूबती नैया संभाल लेंगे. लेकिन ऐसा नहीं हुआ तीन विकेट गिरने के बाद कार्तिक आए फिर कार्तिक के आउट होने पर पंड्या बैटिंग करने चले आए.

जब दिनेश कार्तिक धोनी से पहले बैटिंग करने आए तब गांगुली स्टार स्पोर्ट्स पर कमेंट्री कर रहे थे. कार्तिक को मैदान में आता देख गांगुली ने कहा ‘समझ में नहीं आ रहा कि धोनी को क्यों नहीं भेजा गया’.

स्टार स्पोर्ट्स के लिए कमेंट्री के दौरान सौरभ गांगुली धोनी को नीचे भेजे जाने पर असंतुष्ट दिखे. (वीडियो ग्रैब)
स्टार स्पोर्ट्स के लिए कमेंट्री के दौरान सौरभ गांगुली धोनी को नीचे भेजे जाने पर असंतुष्ट दिखे. (वीडियो ग्रैब)

कार्तिक के आउट होने के बाद भी गांगुली ने कहा था कि हो सकता है अब धोनी आए, लेकिन ऐसा नहीं हुआ धोनी से पहले पंड्या बैटिंग के लिए आए. जिसपर गांगुली ने कमेंट्री के दौरान कहा-

ये समझ से बाहर है कि धोनी को ऊपर नहीं भेजा गया. जिस धोनी ने 10 हजार 500 रन से ज्यादा रन बनाए हैं. जिनका औसत 50 से ज्यादा है, उन्हें इस प्रेशर के दौरान भी भेजा नहीं गया. ये किसी भी हाल में एक्सेप्टेबल नहीं है. मैं जानता हूं वो एक बहुत अच्छे फिनिशर हैं, लेकिन भारत अभी मैच खत्म करने से बहुत दूर है. भारत को उनके एक्सपीरियंस की ज़रूरत है. इस मौके पर धोनी के बैटिंग एक्सपीरियंस की ज़रूरत है. ये वो मौका है. जब भारत के 25 पर 4 विकेट गिर गए हैं, आपको सबसे ज्यादा एक्सपीरियंस्ड बल्लेबाज़ की ज़रूरत है.

धोनी की बैटिंग ऑर्डर पर सुनील गावस्कर ने भी गुस्सा दिखाया. उन्होंने कहा-

भारत जिस मौके पर हार रहा था, बल्लेबाज़ लगातार आउट हो रहे थे, ऐसे में धोनी को सातवें नंबर पर भेजा गया. ये फैसला मुझे बिल्कुल भी समझ में नहीं आया.

धोनी की बैटिंग ऑर्डर पर सुनील गावस्कर ने भी नाराज़गी जताई.
धोनी की बैटिंग ऑर्डर पर सुनील गावस्कर ने भी नाराज़गी जताई.

भारत के मैच हारने के बाद भी जब कोहली से धोनी के बैटिंग ऑर्डर को लेकर पूछा गया तब कोहली ने कहा-

शुरुआती कुछ मैचों के बाद यह प्लान किया गया था कि धोनी निचले ऑर्डर के बल्लेबाजों के साथ खेलेंगे. उन्होंने जडेजा के साथ अच्छी बल्लेबाजी की. टीम में सही बैलेंस होने की जरूरत है. अगर एक खिलाड़ी हिट कर रहा है, तो दूसरे को विकेट बचा कर खेलने की जरूरत होती है.

इस मैच में धोनी ने 72 गेंदों पर 50 रन बनाए. साथ ही जडेजा के साथ भी 115 रनों की पार्टनरशिप की. लेकिन धोनी की पारी काम नहीं आई और टीम इंडिया 18 रनों से हार गई.


वीडियो- वर्ल्ड कप 2019: सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड के खिलाफ रवींद्र जडेजा और धोनी के अलावा सब ढेर

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें
After world cup defeat Ravi Shashtri speaks over the Dhoni Batting order in the semifinal match

टॉप खबर

मदरसे में मिला देसी कट्टा, जानिए क्या होता था?

और अफवाहों पर बवाल हो गया

बच्चों के बलात्कार पर अब होगी फांसी, मोदी सरकार का फैसला

बहुत दिनों से बात चल रही थी, अब काम होगा!

भाजपा विधायक की बेटी ने दलित से शादी की तो बाप ने मरवाने के लिए गुंडे भेज दिए!

पति और पत्नी भागे-भागे वीडियो बना रहे हैं.

एक महीने से छात्र धरने पर हैं, किसी को परवाह नहीं

ये खबर हर स्टूडेंट को पढ़नी चाहिए.

बजट में सरकार ने अमीरों पर बंपर टैक्स लगाया

पेट्रोल-डीज़ल पर एक रुपया अतिरिक्त लेगी सरकार.

राहुल गांधी के पत्र की चार ख़ास बातें, तीसरी वाली में सारे देश की दिलचस्पी है

आज राहुल गांधी ने आखिरकार इस्तीफा दे ही दिया.

आकाश विजयवर्गीय पर मोदी बहुत नाराज़ हुए, उतना ही जितना साध्वी प्रज्ञा पर हुए थे!

"अफ़सोस! दिल से माफ़ नहीं कर पाएंगे."

नुसरत जहां के खिलाफ़ जिस फतवे पर बवाल मचा, वैसा फ़तवा जारी ही नहीं हुआ

निखिल से शादी के बाद सिन्दूर-साड़ी में संसद पहुंची थीं नुसरत

क्या ज़ायरा ने इस्लाम के लिए फ़िल्म लाइन छोड़ दी?

जिन चीज़ों से रील लाइफ में लड़कर सुपर स्टार बनीं, निजी ज़िंदगी में वो लड़ाई ही छोड़ दी है.

मायावती ने गठबंधन क्या तोड़ा, खुद की लुटिया ही डुबो ली है

गठबंधन तोड़कर अखिलेश और माया चवन्नी भर सीटें भी नहीं जीत रहे हैं.