Submit your post

Follow Us

नेट्स में फुटबॉल के जूते पहनकर बैटिंग करने आए राहुल द्रविड़ तो क्या हुआ?

एक हैं राहुल द्रविड़. एक रिकी पॉन्टिंग. द्रविड़ क्रिकेट की शालीनता तो पॉन्टिंग आक्रामकता के पोस्टर बॉय बनने का माद्दा रखते हैं. इन दोनों ने सालों तक क्रिकेट पर राज किया. हजारों रन बनाए. भारत और ऑस्ट्रेलिया को अकेले दम पर कई मैच भी जिताए. इतने बड़े दिग्गज सालों तक साथ खेलेंगे तो क़िस्से तो निकलेंगे ही. अब पॉन्टिंग ने ऐसा ही एक क़िस्सा निकाला है. क़िस्सा, जब राहुल द्रविड़ क्रिकेट नेट्स पर फुटबॉल के जूते पहनकर बैटिंग करने आ गए थे.

क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के साथ बातचीत के दौरान पॉन्टिंग ने ये मजेदार क़िस्सा सुनाया. बात साल 2005 की है. ICC सुपर सीरीज चल रही थी. ऑस्ट्रेलिया और वर्ल्ड XI के बीच मैच चल रहे थे. मैदान गीला था, क्रिकेट के जूतों में फील्डिंग करना मुश्किल था. ऐसे में पॉन्टिंग ने अपने फील्डर्स से फुटबॉल के जूते पहनकर आने को कहा. यहां तक तो मामला सही था. लेकिन नेट्स पर पहुंचकर पॉन्टिंग ने जो देखा वो उनके होश उड़ाने के लिए काफी था. वर्ल्ड XI की ओर से खेल रहे द्रविड़ फुटबॉल के जूते पहनकर नेट्स में बैटिंग कर रहे थे.

पॉन्टिंग ने कहा,

‘सुपर सीरीज का एक मजेदार क़िस्सा है. आउटफील्ड काफी गीली थी और मैंने बोलिंग ना करने वाले सारे फील्डर्स को कहा था कि हमें फील्डिंग के लिए फुटबॉल वाले जूते लेने होंगे, क्योंकि हमारे क्रिकेट वाले जूते वहां किसी काम के नहीं थे. मैंने सोचा था कि अगर हमने फुटबॉल वाले जूते मंगा लिए, तो मैदान में हम विपक्षियों से आगे रहेंगे.

इसलिए हमने शुरुआती कुछ दिनों तक इसे ट्राई किया, पहले मैच तक. टीम का हिस्सा रहे कई सारे लोगों ने ये बात नोटिस की, कि हम अपने फुटबॉल वाले जूतों में ही घूम रहे हैं. मैं ये बात कभी नहीं भूल सकता कि पहले मैच वाले दिन जब हम नेट्स पर पहुंचे तो वहां राहुल द्रविड़ फुटबॉल वाले जूतों में ही बैटिंग कर रहे थे. और आप बस कल्पना कीजिए कि टर्फ पर उन्हें कैसा लग रहा होगा. वह सख्त सतह पर अपना पैर रखना चाहते थे और उनके पैर लगातार फिसल रहे थे.’

गौरतलब है कि उस सीरीज में ऑस्ट्रेलिया ने वर्ल्ड XI को एक भी मैच नहीं जीतने दिया था. कंगारुओं ने इस सीरीज के तीनों वनडे और एकमात्र सुपर टेस्ट बेहद आसानी से अपने नाम किया था. एडम गिलक्रिस्ट ने इस सीरीज में सबसे ज्यादा रन बनाए जबकि स्टुअर्ट मैक्गिल के नाम सबसे ज्यादा विकेट रहे.


ICC हॉल ऑफ फेम में पहुंचा वो क्रिकेटर, जिसने कब्रिस्तान से निकलकर वर्ल्ड रिकॉर्ड बना डाला

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

पॉलिटिकल किस्से

पिता-पुत्र की वो जोड़ी, जो गांधी परिवार के सात बार करीब आए तो आठ बार दूर गए

पिता-पुत्र की वो जोड़ी, जो गांधी परिवार के सात बार करीब आए तो आठ बार दूर गए

बात जितेंद्र और जितिन प्रसाद की.

पिनारायी विजयन: केरल का वो वाम नेता, जिसे वहां के लोग 'लुंगी वाला मोदी' कहते हैं

पिनारायी विजयन: केरल का वो वाम नेता, जिसे वहां के लोग 'लुंगी वाला मोदी' कहते हैं

..और जिसने भरी विधानसभा में लहराई थी खून से सनी शर्ट.

भैरो सिंह शेखावत : राजस्थान का वो मुख्यमंत्री, जिसे वहां के लोग बाबोसा कहते हैं

भैरो सिंह शेखावत : राजस्थान का वो मुख्यमंत्री, जिसे वहां के लोग बाबोसा कहते हैं

आज इनकी बरसी है.

असम की राजनीति का ‘विस्मय बालक’, जिसके साथ हुई ग़लती को ख़ुद अमित शाह ने सुधारा था

असम की राजनीति का ‘विस्मय बालक’, जिसके साथ हुई ग़लती को ख़ुद अमित शाह ने सुधारा था

हिमंत बिस्व सरमा, जिनसे बात करते हुए राहुल गांधी 'पिडी' को बिस्किट खिला रहे थे.

राजनीति में आने वाला देश का पहला आईआईटीयन, जिसके आर्थिक सुधार का क्रेडिट कोई और ले गया!

राजनीति में आने वाला देश का पहला आईआईटीयन, जिसके आर्थिक सुधार का क्रेडिट कोई और ले गया!

किस्से चौधरी अजित सिंह के.

वो नेता जिसने विधानसभा में अपनी ख़ून से सनी शर्ट लहरायी और चुनाव जीत गया

वो नेता जिसने विधानसभा में अपनी ख़ून से सनी शर्ट लहरायी और चुनाव जीत गया

पिनारायी विजयन के पॉलिटिकल क़िस्से

हिमंत बिस्व सरमा की कहानी, जो राहुल गांधी के कुत्ते से चिढ़े और बीजेपी की सरकार बनवा डाली

हिमंत बिस्व सरमा की कहानी, जो राहुल गांधी के कुत्ते से चिढ़े और बीजेपी की सरकार बनवा डाली

कांग्रेस से बीजेपी में गए और उसे जीत दिला दी.

RSS के संस्थापक हेडगेवार ने गोलवलकर को ही क्यों चुना अपना उत्तराधिकारी?

RSS के संस्थापक हेडगेवार ने गोलवलकर को ही क्यों चुना अपना उत्तराधिकारी?

हेडगेवार के जन्मदिन पर जानिए ये पुराना किस्सा.

बीजेपी का जायंट किलर, जिसने कभी राजीव गांधी सरकार के गृहमंत्री को मात दी थी

बीजेपी का जायंट किलर, जिसने कभी राजीव गांधी सरकार के गृहमंत्री को मात दी थी

और कभी जिसने कहा था, बाबा कसम है, मैं नहीं जाऊंगा.

वो मुख्यमंत्री जिसने इस्तीफा दिया और सामान सहित सरकारी बस से घर गया

वो मुख्यमंत्री जिसने इस्तीफा दिया और सामान सहित सरकारी बस से घर गया

दिल्ली के दूसरे मुख्यमंत्री साहिब सिंह वर्मा का आज जन्मदिन है