Submit your post

रोजाना लल्लनटॉप न्यूज चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं !

Follow Us

डेविड धवन FTII में ओम पुरी के पहले रूममेट थे, फिर उन्होंने उनसे कमरा बदलने को क्यों कहा?

107
शेयर्स

ओम पुरी ने 1973 में दिल्ली के नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा से अभिनय में अपनी पढ़ाई पूरी कर ली थी. फिर वे वहां नाट्य मंडली में काम करने लगे. कुछ ही समय बाद उन्होंने पुणे के फिल्म एंड टेलीविजन इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया के एक्टिंग कोर्स (1974-76) में दाखिला लिया. एनएसडी के उनके साथी नसीरुद्दीन शाह यहां साल भर पहले से पढ़ रहे थे. FTII में ओम पुरी के पहले रूममेट डेविड धवन थे. डेविड जहां मस्ती-मजाक और हंसी-ठिठोली करने वाले आदमी थे, वहीं ओम पुरी गंभीर मिजाज के थे. ओम ने पूरी जिंदगी ठोकरें खाईं. सिर पर अपनी छत नहीं थी. रोजी-रोटी का ठिकाना नहीं रहा. ऐसे संघर्षों के बाद वे कैजुअल नहीं हो सकते थे. लेकिन उनके बैकग्राउंड से परिचित न होने के कारण डेविड असहज हो गए कि इतने रूखे आदमी के साथ कैसे रहेंगे?

और उन्होंने ओम से कहा कि वे अपना कमरा बदल लें. बाद में ओम एक्टिंग कोर्स के अन्य छात्र प्रदीप वर्मा के साथ रहने लगे.

ओम के पिता रेलवे में काम करते थे. जब वो 6 साल के थे तब उनके पापा को सीमेंट चोरी के आरोप में जेल में डाल दिया गया. इसके बाद ओम भी एक ढाबे पर काम करने लगे.
ओम के पिता रेलवे में काम करते थे. जब वो 6 साल के थे तब उनके पापा को सीमेंट चोरी के आरोप में जेल में डाल दिया गया. इसके बाद ओम को भी एक ढाबे पर काम करना पड़ा.

डेविड धवन को हालांकि बाद में अपनी नासमझी का अहसास हुआ होगा. बाद में दोनों में ठीक-ठाक परिचय भी हो गया. डेविड के डायरेक्शन वाली फिल्मों में ओम ने काम किया. ख़ुद डेविड ने कहा है कि ”मैंने एक एक्टर के तौर पर ओम को तब परखा जब हमने नब्बे के दशक में ‘कुंवारा’, ‘दुल्हन हम ले जाएंगे’ जैसी फिल्मों में साथ काम किया. उस वक्त से हम बहुत आगे आ चुके हैं, जब मुझे लगा करता था कि ओम हंसमुख नहीं हैं.”


ये भी पढ़ें:

अमिताभ-जया-रेखा के लव ट्रायंगल वाली फिल्म, जिसके बाद अमिताभ के यश चोपड़ा से रिश्ते बिगड़ गए
वो बॉलीवुड एक्टर, जो लगातार 25 फ्लॉप फ़िल्में देने के बावजूद सुपरस्टार बना
‘देना है तो सपोर्टिंग नहीं, बेस्ट एक्ट्रेस अवॉर्ड दो,’ कहकर इस एक्ट्रेस ने फिल्मफेयर ठुकराया था
वो एक्टर जिसने अपनी पहली फिल्म रिलीज़ होने से पहले ही 30 फ़िल्में साइन कर ली थीं


वीडियो देखें: डबल मीनिंग कॉमेडी का किंग जो महाराष्ट्र का सीएम बनना चाहता था

लल्लनटॉप न्यूज चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं !

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें
When David Dhawan told Om puri to change his room in FTII who was his first roommate?

क्रिकेट के किस्से

जब तेज बुखार के बावजूद गावस्कर ने पहला वनडे शतक जड़ा और वो आखिरी साबित हुआ

मानों 107 वनडे मैचों से सुनील गावस्कर इसी एक दिन का इंतजार कर रहे थे.

जब श्रीनाथ-कुंबले के बल्लों ने दशहरे की रात को ही दीपावली मनवा दी थी

इंडिया 164/8 थी, 52 रन जीत के लिए चाहिए थे और फिर दोनों ने कमाल कर दिया.

श्रीसंत ने बताया वो किस्सा जब पूरी दुनिया के साथ छोड़ देने के बाद सचिन ने उनकी मदद की थी

सचिन और वर्ल्ड कप से जुड़ा ये किस्सा सुनाने के बाद फूट-फूटकर रोए श्रीसंत.

कैलिस का ज़िक्र आते ही हम इंडियंस को श्रीसंत याद आ जाते हैं, वजह है वो अद्भुत गेंद

आप अगर सच्चे क्रिकेट प्रेमी हैं तो इस वीडियो को बार-बार देखेंगे.

चेहरे पर गेंद लगी, छह टांके लगे, लौटकर उसी बॉलर को पहली बॉल पर छक्का मार दिया

इन्होंने 1983 वर्ल्ड कप फाइनल और सेमी-फाइनल दोनों ही मैचों में मैन ऑफ द मैच का अवॉर्ड जीता था.

टीम इंडिया 245 नहीं बना पाई चौथी पारी में, 1979 में गावस्कर ने अकेले 221 बना दिए थे

आज के दिन ही ये कारनामा हुआ था इंग्लैंड में. 438 का टार्गेट था और गजब का मैच हुआ.

जब 1 गेंद पर 286 रन बन गए, 6 किलोमीटर दौड़ते रहे बल्लेबाज

खुद सोचिए, ऐसा कैसे हुआ होगा.

जब वाजपेयी ने क्रिकेट टीम से हंसते हुए कहा- फिर तो हम पाकिस्तान में भी चुनाव जीत जाएंगे

2004 में इंडियन टीम 19 साल बाद पाकिस्तान के दौरे पर गई थी.