Submit your post

Follow Us

जब आमिर खान ने इंडिया की सबसे मशहूर एक्ट्रेस को रुलाकर छोड़ा

दिव्या भारती ने 1990 में आई तेलुगू फिल्म ‘बोब्बिली राजा’ से अपना सिनेमाई सफर शुरू किया था. तब उनकी उम्र महज़ 16 साल थी. अपने तीन-चार साल के फिल्मी करियर में जो मुकाम और शोहरत दिव्या भारती को हासिल हुई थी, वो सबको नसीब नहीं होती. दिव्या की आखिरी फिल्म थी ‘शतरंज’, जो 1993 में उनकी मौत के बाद रिलीज़ हुई थी. 5 अप्रैल, 1993 को उनकी मौत हो गई. लेकिन कैसे? ये उनकी मौत के 26 साल बाद भी क्लीयर नहीं हो पाया है. इतने कम समय में ही उनका नाम कई विवादों में भी रहा. लेकिन एक नाम था, जो दिव्या के साथ कई विवादों में शामिल रहा. वो नाम हैं आमिर खान.

कई रिपोर्ट्स में इन दोनों के बीच खटपट की खबरें आती रही हैं. यश चोपड़ा ने ‘डर’ फिल्म के लिए आमिर खान और दिव्या भारती को साइन किया था. दिव्या की मां ने ये इस बात का खुलासा किया कि आमिर ने दिव्या को उस फिल्म से निकलवाकर जूही चावला को साइन करवा लिया. बाद में आमिर ने खुद वो फिल्म छोड़ दी, जो आखिरकार शाहरुख खान और जूही चावला के साथ बनी. बताया जाता है कि लंदन में हुए एक शो के दौरान दिव्या की एक गलती से आमिर नाराज़ थे.

1992 में उस शो के दौरान रवीना टंडन, जूही चावला, सलमान खान और दिव्या भारती
1992 में उस शो के दौरान रवीना टंडन, जूही चावला, सलमान खान और दिव्या भारती.

लंदन के उस शो का वो किस्सा कुछ यूं है कि भारतीय सिनेमा के कई उभरते नाम लंदन में एक शो कर रहे थे. इमसें सलमान खान, आमिर खान, सुनील शेट्टी, दिव्या भारती, रवीना टंडन और जूही चावला जैसे नाम शामिल हैं. आमिर और दिव्या इस शो में एक साथ परफॉर्म करने वाले थे. लेकिन एक जगह पर दिव्या से कुछ गलती हो गई. कुछ ऐसी गलती, जो आसानी से नोटिस भी नहीं होती. लेकिन आमिर ने वो चीज़ देख ली थी. उन्होंने इस बात की शिकायत ऑर्गनाइज़र्स से कर दी. साथ ये भी कह दिया कि वो दिव्या के बदले जूही के साथ परफॉर्म करेंगे.

दिव्या भारती की तुलना हमेशा श्रीदेवी से होती थी. दिव्या की मौत के बाद फिल्म 'लाडला' में श्रीदेवी ने ही उन्हें रिप्सेस भी किया.
दिव्या भारती की तुलना हमेशा श्रीदेवी से होती थी. दिव्या की मौत के बाद फिल्म ‘लाडला’ में श्रीदेवी ने ही उन्हें रिप्सेस भी किया.

दिव्या और आमिर की जोड़ी एक मेडली परफॉर्मेंस देने वाली थी. लेकिन आमिर ने लास्ट टाइम पर कहा कि वो अब डांस नहीं कर सकते हैं क्योंकि वो बहुत थक गए हैं. इस बात से दिव्या दुखी होकर चली गईं और काफी समय तक बाथरूम में बैठकर रोती रहीं. दिव्या को इस मुश्किल से उबारा सलमान खान ने. आमिर के मना करने के बाद सलमान ने कहा कि वो दिव्या के साथ परफॉर्म कर लेंगे, तब जाकर वो शो कहीं पूरा हो पाया.


वीडियो देखें: करण जौहर की धमाकेदार स्टारकास्ट वाली फिल्म कलंक का टीज़र आ गया है

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्रिकेट के किस्से

26/11 नहीं होता तो श्रीलंका की जगह धोनी, सचिन, द्रविड़ पर होता हमला!

जयावर्धने ने गर्दन हिलाई और गोली उनके कान को लाल करते हुए निकली.

'आप की पाकिस्तान के ख़िलाफ़ खेली इनिंग ने विश्वकप को सफ़ल बना दिया है'

विश्वकप के आयोजक सदस्य ने जब भारतीय बल्लेबाज़ को फैक्स कर ये कहा था.

उस सीरीज का किस्सा, जिसने ऑस्ट्रेलिया में टीम इंडिया का 71 साल का सूखा खत्म किया

सीरीज के दौरान भी खूब ड्रामे हुए थे.

Vizag में जिन वेणुगोपाल का गेट बना है उन्होंने गुड़गांव में पीटरसन और इंग्लैंड को रुला दिया था

वेणुगोपाल की इस पारी के आगे द्रविड़ की ईडन की पारी भी फीकी थी.

जब तेज बुखार के बावजूद गावस्कर ने पहला वनडे शतक जड़ा और वो आखिरी साबित हुआ

मानों 107 वनडे मैचों से सुनील गावस्कर इसी एक दिन का इंतजार कर रहे थे.

चेहरे पर गेंद लगी, छह टांके लगे, लौटकर उसी बॉलर को पहली बॉल पर छक्का मार दिया

इन्होंने 1983 वर्ल्ड कप फाइनल और सेमी-फाइनल दोनों ही मैचों में 'मैन ऑफ द मैच' का अवॉर्ड जीता था.

पाकिस्तान आराम से जीत रहा था, फिर गांगुली ने गेंद थामी और गदर मचा दिया

बल्ले से बिल्कुल फेल रहे दादा, फिर भी मैन ऑफ दी मैच.

जब वाजपेयी ने क्रिकेट टीम से हंसते हुए कहा- फिर तो हम पाकिस्तान में भी चुनाव जीत जाएंगे

2004 में इंडियन टीम 19 साल बाद पाकिस्तान के दौरे पर गई थी.

शिवनारायण चंद्रपॉल की आंखों के नीचे ये काली पट्टी क्यों होती थी?

आज जन्मदिन है इस खब्बू बल्लेबाज का.

ऐशेज़: क्रिकेट के इतिहास की सबसे पुरानी और सबसे बड़ी दुश्मनी की कहानी

और 5 किस्से जो इस सीरीज़ को और मज़ेदार बनाते हैं