Submit your post

Follow Us

...जब अटल बिहारी वाजपेयी ने कहा- हराम में भी राम होता है

487
शेयर्स

अटल बिहारी वाजपेयी में हंसने-हंसाने का टैलेंट था. यूं कोई बात होगी और यूं तपाक से वो कोई चुटकुला उछालेंगे. हमारे नेताओं में सेंस ऑफ ह्यूमर की बड़ी कमी है. इस लिहाज से वाजपेयी अलहदा थे. ऐसा नहीं कि बस औरों पर ही चुटकी लेते हों. खुद पर भी हंस लेते थे. जैसे एक बार की बात है. कुछ बात हो रही थी. किसी ने उनसे कहा, आप इस पर अटल रहिएगा. उस आदमी की सलाह पर मजे लेते हुए वाजपेयी बोले-

अटल तो हूं, लेकिन न भूलिए कि साथ में बिहारी भी हूं.

चूंकि वाजपेयी के नाम में ही अटल था, सो उनके साथ अक्सर ये ‘अटल’ शब्द जोड़ देते थे लोग. मगर आप उनका जवाब देखिए. क्षेत्रीयता भावुक मसला होता है. राजनीति में रहकर ऐसी चुटकियां लेने में रिस्क तो रहता ही है.

atal-bihari-banner

रिस्क की ही बात हो रही है, तो एक और किस्सा सुनिए. ये किस्सा लिया है हमने उल्लेख एन पी की किताब ‘वाजपेयी: द अनटोल्ड वाजपेयी’ से. उन दिनों की बात है, जब राम विलास पासवान NDA के सहयोगी नहीं हुआ करते थे. जिक्र चला होगा राम और हिंदुत्व वाली राजनीति का. पासवान ने जैसे वाजपेयी को याद दिलाते हुए कहा-

मेरे तो नाम में ही राम है. बीजेपी के पास कहां हैं राम? 

इस पर वाजपेयी अपने उसी सिग्नेचर स्टाइल में बोले-

पासवान जी, हराम में भी राम होता है. 


ये भी पढ़ें: 

नहीं रहे पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी
…जब अटल बिहारी वाजपेयी ने ABVP से कहा- अपनी गलती मानो और कांग्रेस से माफी मांगो
कहानी उस लोकसभा चुनाव की, जिसने वाजपेयी को राजनीति में ‘अटल’ बना दिया
उस दिन इतने गुस्से में क्यों थे अटल बिहारी वाजपेयी कि ‘अतिथि देवो भव’ की रवायत तक भूल गए!
क्या पीएम मोदी ने 15 अगस्त के दिन लाल किले पर राष्ट्रगान के बीच में पानी पिया?
अटल बिहारी वाजपेयी की कविता: मौत से ठन गई
अटल ने 90s के बच्चों को दिया था नॉस्टैल्जिया ‘स्कूल चलें हम’
जब केमिकल बम लिए हाईजैकर से 48 लोगों को बचाने प्लेन में घुस गए थे वाजपेयी


विडियो में देखिए वो कहानी, जब अटल ने आडवाणी को प्रधानमंत्री नहीं बनने दिया

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्रिकेट के किस्से

जब वाजपेयी ने क्रिकेट टीम से हंसते हुए कहा- फिर तो हम पाकिस्तान में भी चुनाव जीत जाएंगे

2004 में इंडियन टीम 19 साल बाद पाकिस्तान के दौरे पर गई थी.

शिवनारायण चंद्रपॉल की आंखों के नीचे ये काली पट्टी क्यों होती थी?

आज जन्मदिन है इस खब्बू बल्लेबाज का.

ऐशेज़: क्रिकेट के इतिहास की सबसे पुरानी और सबसे बड़ी दुश्मनी की कहानी

और 5 किस्से जो इस सीरीज़ को और मज़ेदार बनाते हैं

जब शराब के नशे में हर्शेल गिब्स ने ऑस्ट्रेलिया को धूल चटा दी

उस मैच में 8 घंटे के भीतर दुनिया के दो सबसे बड़े स्कोर बने. किस्सा 13 साल पुराना.

वो इंडियन क्रिकेटर जो इंग्लैंड में जीतने के बाद कप्तान की सारी शराब पी गया

देश के लिए खेलने वाला आख़िरी पारसी क्रिकेटर.

जब तेज बुखार के बावजूद गावस्कर ने पहला वनडे शतक जड़ा और वो आखिरी साबित हुआ

मानों 107 वनडे मैचों से सुनील गावस्कर इसी एक दिन का इंतजार कर रहे थे.

जब श्रीनाथ-कुंबले के बल्लों ने दशहरे की रात को ही दीपावली मनवा दी थी

इंडिया 164/8 थी, 52 रन जीत के लिए चाहिए थे और फिर दोनों ने कमाल कर दिया.

श्रीसंत ने बताया वो किस्सा जब पूरी दुनिया के साथ छोड़ देने के बाद सचिन ने उनकी मदद की थी

सचिन और वर्ल्ड कप से जुड़ा ये किस्सा सुनाने के बाद फूट-फूटकर रोए श्रीसंत.

कैलिस का ज़िक्र आते ही हम इंडियंस को श्रीसंत याद आ जाते हैं, वजह है वो अद्भुत गेंद

आप अगर सच्चे क्रिकेट प्रेमी हैं तो इस वीडियो को बार-बार देखेंगे.

चेहरे पर गेंद लगी, छह टांके लगे, लौटकर उसी बॉलर को पहली बॉल पर छक्का मार दिया

इन्होंने 1983 वर्ल्ड कप फाइनल और सेमी-फाइनल दोनों ही मैचों में मैन ऑफ द मैच का अवॉर्ड जीता था.