Submit your post

Follow Us

जब राजकुमार ने रामानंद सागर से कहा, ये फिल्म तो मेरा कुत्ता भी नहीं करेगा

5
शेयर्स

सनकी, अक्खड़, बेबाक और मुंहफट. ये वो विशेषण हैं जो एक्टर राजकुमार के लिए इस्तेमाल किए जाते थे. राजकुमार अपने दौर के वो एक्टर थे, जिन्हें फिल्मों में अपनी रौबीली आवाज और दमदार डायलॉग्स के अलावा उनके तुनकमिज़ाजी के लिए भी जाना जाता था. विलेन पर हावी रहने वाले राजकुमार अपने साथी कलाकारों को भी कई बार अपनी बातों से लाजवाब कर देते थे. वह बॉलीवुड के उन एक्टर्स में से थे, जो असल ज़िंदगी में भी मजाकिया, स्पष्ट और हाजिर जवाब थे. बिना लागलपेट अपनी बात कहने वाले. फिर चाहे सामने गोविंदा हों या धर्मेंद्र. उनके साथ काम करने वाले एक्टर्स भी उनके इस अंदाज को जानते थे.

यहां हम उनकी जिंदगी से जुड़े ऐसे ही पांच मजेदार किस्से बताने जा रहे हैं.

# जब बदबू की वजह से फिल्म छोड़ दी 

जंजीर ने अमिताभ बच्चन को रातोंरात स्टार बना दिया. लेकिन अमिताभ डायरेक्टर प्रकाश मेहरा की पहली पसंद नहीं थे. प्रकाश मेहरा राजकुमार को फिल्म में लेना चाहते थे. वह स्क्रिप्ट लेकर राजकुमार के पास पहुंचे. उन्हें अपनी मंशा बताई लेकिन राजकुमार के जवाब ने एक बार फिर साबित कर दिया कि उनके जैसा कोई नहीं हो सकता. राजकुमार ने उनसे कहा,

तुम्हारे पास से बिजनौरी तेल की बदबू आ रही है, हम फिल्म तो दूर तुम्हारे साथ एक मिनट और खड़ा होना बर्दाश्त नहीं कर सकते.

ज़ाहिर सी बात है ‘ज़ंजीर’ में राजकुमार नहीं थे.

# नाम में क्या रखा है!

राजकुमार की कुछ मजेदार आदतें भी थीं. जैसे वो अपने साथी कलाकारों को उनके असली नाम से नहीं बुलाते थे. जैसे वह धर्मेंद्र को जीतेंद्र और जीतेंद्र को धर्मेंद्र कहते थे. एक बार किसी ने उनसे पूछा कि राजकुमार ऐसा क्यों करते हैं. इस पर राजकुमार ने कहा,

राजेंद्र या धर्मेंद्र या जीतेंद्र या बंदर, क्या फर्क पड़ता है! राजकुमार के लिए सब बराबर हैं.

collage-700x366

# जीनत अमान को दे दी फिल्मों में ट्राय करने की सलाह

राजकुमार के किस्सों में न सिर्फ एक्टर्स बल्कि उस दौर की मशहूर एक्ट्रेसेस भी शामिल हैं. ऐसा ही एक मजेदार वाकया ज़ीनत अमान के साथ हुआ. वो भी तब, जब वो टॉप एक्ट्रेसेस की कैटेगिरी में शामिल हो चुकी थीं. एक फंक्शन में राजकुमार ज़ीनत से मिले. और देखते ही कहा,

“जानी, शक्ल-सूरत से तो माशाअल्लाह लगती हो, फिल्मों में ट्राई क्यों नहीं करती?”

ज़ीनत अमान ने इसके जवाब में क्या कहा, ये आजतक पता नहीं चल सका है.

# बप्पी लहरी का मंगलसूत्र

बप्पी लहरी को कौन नहीं जानता. गहनों से लदा आदमी. वो भी राजकुमार के ह्यूमर के शिकार हो चुके हैं. हुआ ऐसा कि एक बार किसी पार्टी में राजकुमार और बप्पी लहरी पहली बार मिले. राजकुमार ने उन्हें देखकर कहा,

“वाह, शानदार. एक से एक गहने, बस मंगलसूत्र की कमी रह गई है.”

rajkumar-and-bappi-lehri-620x400-700x366

# गोविंदा की शर्ट का रूमाल

गोविंदा और राजकुमार का भी एक मजेदार किस्सा है. दोनों फिल्म जंगबाज के सेट पर थे. शूटिंग चल रही थी. गोविंदा घर से जो शर्ट पहनकर आए थे, उसे देखते ही राजकुमार उनकी तारीफ करने लगे. गोविंदा ने कहा,

‘सर अगर आपको ये शर्ट इतनी पसंद आ रही है, तो आप इसे रख लीजिए’.

राजकुमार ने शर्ट ले ली. दो दिन बाद गोविंदा ने देखा कि राजकुमार ने उनकी शर्ट का रूमाल बनवाकर अपनी जेब में रखा हुआ है.

DunN9bBUcAAPjyJ (1)

# अपने कुत्ते को ऑफर कर दी फिल्म

1968 में फिल्म ‘आंखें’ आई थी. डायरेक्टर थे रामानंद सागर और हीरो थे धर्मेंद. लेकिन किस्सा राजकुमार से जुड़ा है. डायरेक्टर राजकुमार को फिल्म में लेना चाहते थे. डायरेक्टर उनके घर पहुंचे और फिल्म की कहानी सुनाई. राजकुमार ने अपने पालतू कुत्ते को आवाज लगाई और उससे पूछने लगे कि क्या वो फिल्म में काम करेगा? कुत्ते के कुछ न कहने पर राजकुमार ने रामानंद सागर से कहा,

“देखा! ये रोल तो मेरा कुत्ता भी नहीं करना चाहेगा.”

रामानंद सागर वहां से चले गए और फिर दोनों से कभी साथ नहीं काम किया.


ऊपर लिखे गए किस्सों में से काफी सारे किस्से खुशदीप सहगल के ब्लॉग देश्नामा से साभार लिए गए हैं.


वीडियो- 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें
six interesting stories about actor Raj kumar and his arrogance

क्रिकेट के किस्से

जब शराब के नशे में हर्शेल गिब्स ने ऑस्ट्रेलिया को धूल चटा दी

उस मैच में 8 घंटे के भीतर दुनिया के दो सबसे बड़े स्कोर बने. किस्सा 13 साल पुराना.

वो इंडियन क्रिकेटर जो इंग्लैंड में जीतने के बाद कप्तान की सारी शराब पी गया

देश के लिए खेलने वाला आख़िरी पारसी क्रिकेटर.

जब तेज बुखार के बावजूद गावस्कर ने पहला वनडे शतक जड़ा और वो आखिरी साबित हुआ

मानों 107 वनडे मैचों से सुनील गावस्कर इसी एक दिन का इंतजार कर रहे थे.

जब श्रीनाथ-कुंबले के बल्लों ने दशहरे की रात को ही दीपावली मनवा दी थी

इंडिया 164/8 थी, 52 रन जीत के लिए चाहिए थे और फिर दोनों ने कमाल कर दिया.

श्रीसंत ने बताया वो किस्सा जब पूरी दुनिया के साथ छोड़ देने के बाद सचिन ने उनकी मदद की थी

सचिन और वर्ल्ड कप से जुड़ा ये किस्सा सुनाने के बाद फूट-फूटकर रोए श्रीसंत.

कैलिस का ज़िक्र आते ही हम इंडियंस को श्रीसंत याद आ जाते हैं, वजह है वो अद्भुत गेंद

आप अगर सच्चे क्रिकेट प्रेमी हैं तो इस वीडियो को बार-बार देखेंगे.

चेहरे पर गेंद लगी, छह टांके लगे, लौटकर उसी बॉलर को पहली बॉल पर छक्का मार दिया

इन्होंने 1983 वर्ल्ड कप फाइनल और सेमी-फाइनल दोनों ही मैचों में मैन ऑफ द मैच का अवॉर्ड जीता था.

टीम इंडिया 245 नहीं बना पाई चौथी पारी में, 1979 में गावस्कर ने अकेले 221 बना दिए थे

आज के दिन ही ये कारनामा हुआ था इंग्लैंड में. 438 का टार्गेट था और गजब का मैच हुआ.

जब 1 गेंद पर 286 रन बन गए, 6 किलोमीटर दौड़ते रहे बल्लेबाज

खुद सोचिए, ऐसा कैसे हुआ होगा.

जब अकेले माइकल होल्डिंग ने इंग्लैंड से बेइज्जती का बदला ले लिया था

आज ही के दिन लिए थे 14 विकेट.