Submit your post

रोजाना लल्लनटॉप न्यूज चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं !

Follow Us

जब सलमान खान ने अरमान मलिक को रिकॉर्डिंग स्टूडियो में घुसने ही नहीं दिया

4.48 K
शेयर्स

‘गाता रहे मेरा दिल’

ये नाम है ‘एजेंडा आजतक’ के एक सेशन का, जो दिल्ली के होटेल ताज पैलेस में चल रहा है. और यहां जो दिल गा रहा, सुना रहा है, वो हैं अरमान मलिक. अरमान के साथ चल रहा है सवाल-जवाब का दौर, जिसमें उनसे सवाल पूछ रहे हैं इंडिया टुडे के एंकर सुशांत मेहता. इस बातचीत के दौरान हमें अरमान से उनके करियर के कुछ मजेदार किस्से सुनने को मिले. वो सारे किस्से हम आपको नीचे बता रहे हैं.

जब अरमान को बीच एग्ज़ाम से उठाकर अमिताभ बच्चन के साथ गाने के लिए ले जाया गया

अरमान मलिक अपने बारे में बताते हैं कि उनके रोने की आवाज़ सुनकर उनके मम्मी-पापा ने समझ लिया था वो सिंगर ही बनेंगे. चार साल की उम्र में उन्हें इंडियन क्लासिकल म्यूज़िक की ट्रेनिंग मिलने लगी. इसका नतीजा ये रहा कि जब ‘सा रे गा मा पा लिट्टल चैंप्स’ का पहला एडिशन आया उसमें अरमान ने भाग लिया था. तब उनकी उम्र महज़ नौ साल की थी. इस शो में वो टॉप 7 तक पहुंचकर बाहर हो गए थे. लेकिन इससे वो रुके नहीं अपने संगीत पर मेहनत करते रहे. इसका फल उन्हें इतनी जल्दी मिल जाएगा, ये अरमान ने भी नहीं सोचा होगा. एक बार वो अपने स्कूल में बैठे एग्ज़ाम दे रहे थे. अचानक उनकी टीचर भागती हुई आईं और उन्हें बताया कि उनकी मम्मी बाहर इंतज़ार कर रही हैं. अरमान जब वहां पहुंचे तो पता चला कि विशाल-शेखर की जोड़ी उनसे एक गाना रिकॉर्ड करवाना चाहती है. उससे भी अद्भुत बात ये कि ये गाना उन्हें अमिताभ बच्चन के साथ गाना था. फिल्म ‘भूतनाथ’ के लिए. उसी दिन एक और अच्छा संयोग ये था कि वो अमिताभ बच्चन का जन्मदिन था. अरमान अपनी मां के साथ बच्चन के लिए केक लेकर पहुंचे और उनके साथ गाना रिकॉर्ड किया.

किस्सा यहीं खत्म नहीं होता है. गाना रिकॉर्ड वगैरह हो गया. बात निकल गई. अरमान फिल्म की रिलीज़ का इंतज़ार कर रहे थे कि उन्हें जल्दी से अपना गाना सुनने को मिले. इसी बीच उन्होंने अखबार में एक खबर पढ़ी कि विशाल-शेखर किसी दूसरे चाइल्ड सिंगर से वही गाना रिकॉर्ड करवाना चाह रहे हैं. ये सब बात उन्होंने अपनी मम्मी को बताई. उनकी मम्मी ये सुनकर खुश तो नहीं हुईं लेकिन अरमान को ये बताया कि जो हो रहा है अच्छा हो रहा है. कम से कम इसी उम्र में उन्हें इंडस्ट्री की रीत का तो पता लगा. आखिरकार जब फिल्म रिलीज़ हुई और गाना टीवी पर आया तब सुनकर अरमान श्योर हुए कि ये उन्हीं की आवाज़ है. वो गाना था ‘मेरे बडी’, जिसे आप नीचे दिए लिंक पर क्लिक करके सुन सकते हैं:

जब सलमान खान ने अरमान के अल्बम से गाना अपनी फिल्म में ले लिया

अरमान जब थोड़े बड़े यानी 17-18 साल के हुए, तो म्यूज़िक में करियर बनाने के लिए हाथ-पैर मारने लगे. अपनी गायकी की एक सीडी बनाई और हर कंपोज़र-म्यूज़िक डायरेक्टर के यहां चक्कर लगाने लगे. इस दौरान वो अपने डेब्यू अल्बम पर भी काम कर रहे थे. ये अल्बम उन्होंने सलमान खान को सुनाई. सलमान ने वो गाने सुने और इंप्रेस हो गए. इतने इंप्रेस की अल्बम का एक गाना अपनी फिल्म ‘जय हो’ में ले लिया. ये गाना था ‘तुमको तो आना ही था’.  इस गाने से अरमान का बॉलीवुड डेब्यू हुआ बतौर अडल्ट सिंगर. अरमान उन चुनिंदा लोगों में से हैं, जिनका करियर इस तरह से शुरू हुआ हो. बतौर चाइल्ड सिंगर उनकी पहली फिल्म अमिताभ बच्चन के साथ थी और बतौर अडल्ट स्टार उन्होंने पहला गाना सलमान खान के लिए गाया. लेकिन यहां एक पेच था. अरमान बिलकुल यंग थे और उन्हें ये शंका थी कि सलमान पर शायद उनकी आवाज़ सूट न करे. इस बारे में उन्होंने सलमान से बात की, जिसके जवाब में सलमान ने कहा कि वो अपना थोड़ा वजन कम कर लेंगे सब सेट हो जाएगा. तो इस तरह से अरमान का बॉलीवुड सिंगिंग करियर शुरू हुआ. वो गाना आप यहां सुन सकते हैं:

जब इस फेमस गाने के दौरान सलमान ने अरमान को स्टूडियो में नहीं घुसने दिया

सलमान खान के प्रोडक्शन में एक फिल्म बन रही थी ‘हीरो’. इस फिल्म से सलमान आदित्य पांचोली के बेटे सूरज पांचोली और सुनील शेट्टी की बेटी अथिया शेट्टी को लॉन्च कर रहे थे. इस फिल्म के लिए कई संगीतकारों से म्यूज़िक करवाया गया था. इसमें तीन गाने (एक ही गाने के दो वर्ज़न समेत) अमाल मलिक ने कंपोज़ किए थे. इसमें से ही एक गाना सलमान खाना ने गाया था. ये गाना बहुत हिट हुआ था. गाने का नाम था ‘मैं हूं हीरो तेरा’. इसका ओरिजनल वर्ज़न अरमान ने गाया था. लेकिन फिल्म की प्रमोशन के लिए सलमान ने भी इसी गाने का वर्ज़न गाया था. सलमान वाले वर्ज़न की मेकिंग के दौरान भी एक मजेदार वाकया हुआ. हुआ ये कि जब सलमान ये गाना रिकॉर्ड कर रहे थे, तब फिल्म के डायरेक्टर और म्यूज़िक कंपोज़र वगैरह सब लोग स्टूडियो में मौजूद थे. बस अरमान वहां नहीं थे. क्योंकि अरमान को सलमान ने स्टूडियो में आने से मना किया था. ऐसा इसलिए कि अरमान एक ट्रेंड सिंगर हैं और सलमान बस शौकिया फिल्म के प्रमोशन के लिए गा रहे थे. उन्हें डर था कि वो अरमान के सामने गाते समय कहीं नर्वस न हो जाएं, इसलिए उन्होंने अरमान को स्टूडियो में आने से ही बैन कर दिया था.

लल्लनटॉप न्यूज चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं !

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें
Agenda Aajtak: Armaan Malik shared interesting anecdotes from his career when Salman Khan barred him from from entering song recording studio

क्रिकेट के किस्से

जब तेज बुखार के बावजूद गावस्कर ने पहला वनडे शतक जड़ा और वो आखिरी साबित हुआ

मानों 107 वनडे मैचों से सुनील गावस्कर इसी एक दिन का इंतजार कर रहे थे.

जब श्रीनाथ-कुंबले के बल्लों ने दशहरे की रात को ही दीपावली मनवा दी थी

इंडिया 164/8 थी, 52 रन जीत के लिए चाहिए थे और फिर दोनों ने कमाल कर दिया.

श्रीसंत ने बताया वो किस्सा जब पूरी दुनिया के साथ छोड़ देने के बाद सचिन ने उनकी मदद की थी

सचिन और वर्ल्ड कप से जुड़ा ये किस्सा सुनाने के बाद फूट-फूटकर रोए श्रीसंत.

कैलिस का ज़िक्र आते ही हम इंडियंस को श्रीसंत याद आ जाते हैं, वजह है वो अद्भुत गेंद

आप अगर सच्चे क्रिकेट प्रेमी हैं तो इस वीडियो को बार-बार देखेंगे.

चेहरे पर गेंद लगी, छह टांके लगे, लौटकर उसी बॉलर को पहली बॉल पर छक्का मार दिया

इन्होंने 1983 वर्ल्ड कप फाइनल और सेमी-फाइनल दोनों ही मैचों में मैन ऑफ द मैच का अवॉर्ड जीता था.

टीम इंडिया 245 नहीं बना पाई चौथी पारी में, 1979 में गावस्कर ने अकेले 221 बना दिए थे

आज के दिन ही ये कारनामा हुआ था इंग्लैंड में. 438 का टार्गेट था और गजब का मैच हुआ.

जब 1 गेंद पर 286 रन बन गए, 6 किलोमीटर दौड़ते रहे बल्लेबाज

खुद सोचिए, ऐसा कैसे हुआ होगा.

जब वाजपेयी ने क्रिकेट टीम से हंसते हुए कहा- फिर तो हम पाकिस्तान में भी चुनाव जीत जाएंगे

2004 में इंडियन टीम 19 साल बाद पाकिस्तान के दौरे पर गई थी.