Submit your post

Follow Us

'लगान' की शूटिंग के मज़ेदार किस्से: जब लाखा को इंडिया का पहला मैच फ़िक्सर कहा गया

‘शोले’,’अंदाज़ अपना अपना’ जैसी बहुत कम फ़िल्में होती हैं. जिन फिल्मों के छोटे से छोटे किरदार हम सब को याद रह जाते हैं. ऐसी ही एक फ़िल्म है ‘लगान’. जिसका एक-एक किरदार आज फ़िल्म के 20 साल होने के बाद भी हमें अच्छे से याद है. भले वो शानदार हेन हंटर फ़ील्डर भूरा यानी रघुवीर यादव हों, या केविन पीटरसन स्टाइल में ‘स्विच शॉट’ खलेने वाले गुरन. या फ़िर लेग स्पिनर कचरा. हां और ऑल राउंडर भुवन की परफॉरमेंस तो थी ही क्लासिक. इन बेहतरीन खिलाड़ियों में एक नाम और था. सलामी बल्लेबाज और बेहतरीन फील्डर लाखा.

श्री लाखा पहले तो शांति से उस वक़्त तक अजय मानी जा रही अंग्रेजों की टीम से मैच फिक्स कर लेते हैं ताकि भुवन मैच हार जाए और गौरी के आगे भुवन की अज़हर छवि धूमिल हो जाए. लेकिन बाद में हृदयपरिवर्तन हो जाता है और फ़िर डी विलियर्स स्टाइल में ‘कैच ऑफ़ द मैच’ पकड़कर अपनी टीम के प्रति अपनी वफ़ादारी प्रूव करते हैं. लाखा के कमाल के किरदार को निभाया था यशपाल शर्मा ने. फ़िल्म के 20 साल पूरे होने पर यशपाल शर्मा ने इस फ़िल्म से जुड़ीं यादें और किस्से इंडियन एक्सप्रेस को दिए एक इंटरव्यू में साझा किए. आइए जानते हैं उन्होंने क्या कुछ बताया.

#फ़िल्म के बाद जीवन कैसे बदला?

“लोगों का रिस्पांस बहुत कमाल का था. लोग कह रहे थे जितनी गहराई लाखा के किरदार में थी उतनी गहराई लीड एक्टर को छोड़ किसी अन्य किरदार में नहीं थी. मुझे इंडिया का पहला मैच फ़िक्सर बुलाते थे. मैं अपने आप को बहुत भाग्यशाली मानता हूं कि मुझे ये रोल मिला. जिसमें दोनों शेड्स थे. बहुत अच्छा लगता है जब आपके काम की सराहना होती है. मेरे लिए ‘लगान’ ‘मदर इंडिया’, ‘दो बीघा ज़मीन’ जैसी फिल्मों के साथ खड़ी होती है.

इस फ़िल्म ने फ़िल्म इंडस्ट्री को एक नया मोड़ दिया. साथ ही चली आ रहीं कई प्रथाओं को भी तोड़ा. जैसे ‘एक्टर की इमेज एक बार जो बन गई वैसी ही रहती है’. ‘एक्टर स्क्रीन पर धोती नहीं पहन सकता’. या ‘पहले भी क्रिकेट से जुड़ी फिल्में फ्लॉप हो चुकी हैं, इसलिए दुबारा ये रिस्क नहीं लेना चाहिए’. ‘गरीब गांव वालों कि ये फ़िल्म कोई नहीं देखेगा.’ लोग ऐसा बोलते थे. लेकिन ‘लगान’ बावजूद इस सबके सफ़ल हुई. ये सिर्फ़ एक हीरो की फ़िल्म नहीं थी. सारे किरदार फिल्म में अहम थे. मैं हमेशा कहता हूं. अगर आप सीखना चाहते हो सिनेमा कैसे बनता है ‘लगान’ देखो. जिस स्तर का पैशन, टीम वर्क, मैनेजमेंट, अनुशासन इस फ़िल्म में लगा था. इससे पहले किसी और फ़िल्म में नहीं लगा था.”

जीत का जश्न मनाते चंपानेर 11. (फ़ोटो- आमिर खान फ़िल्म्स )
जीत का जश्न मनाते चंपानेर 11. (फ़ोटो- आमिर खान फ़िल्म्स )

#कैसे मिला रोल

यशपाल जी को कैसे मिला था लाखा का बेहतरीन किरदार वो इसका किस्सा बताते हैं,

“उस वक़्त पेजर चलते थे. मुझे प्रोडक्शन से पेजर पर मैसेज आया. लगान की कास्टिंग काफ़ी वक़्त से चल रही थी. मैं समझ नहीं पाया कि मुझे अब क्यों बुला रहे हैं. मैं ऑफिस गया. आशुतोष ने 4 घंटे तक मुझे फ़िल्म की स्क्रिप्ट सुनाई. मैं उनके कहानी सुनाने के स्टाइल से काफ़ी प्रभावित हुआ था. नैरेशन के दौरान मैं सोच रहा था कि अगर मुझे लाखा का रोल मिल जाए तो मज़ा आ जाएगा. आशुतोष ने स्क्रिप्ट सुनाने के बाद कहा वो मुझे लाखा के रोल के लिए ही सोच रहे हैं. मैं बहुत उत्साहित हो गया. उन्होंने मुझे आमिर के घर पर ऑडिशन देने को बोला. जब मैं गया तो देखा वहां 3-4 अलग किरदार भी मौजूद थे. मैं स्क्रीन टेस्ट देकर लौट ही रहा था कि मुझे मेसेज आया कि मेरा सिलेक्शन हो गया है और मुझे वापस बुला रहे हैं कॉन्ट्रैक्ट साइन करने के लिए.

मैं इस रोल के लिए कितनी सैलरी लूंगा इस बारे में सोच रहा था. मैं सोच रहा था कम से कम एक लाख रुपय मांगूंगा इससे कम में नहीं करूंगा. हालांकि उस वक़्त मैं 20 हज़ार में भी रोल कर लेता क्यूंकि मेरे पास कोई दूसरा काम नहीं था. जब मैं ऑफिस पहुंचा तो रीना दत्ता ने कहा कि वो हर एक्टर को सिर्फ 1.5 लाख रुपय दे रहीं हैं क्यूंकि फ़िल्म का बजट गड़बड़ाया हुआ है. मैंने थोड़ा मोलताल किया और 2 लाख में डील साइन की. बाद में मुझे पता चला कि अगर मैंने कहा होता तो मुझे पांच लाख भी मिल सकते थे.”

"जे कोई खेल नहीं है जो हम कोनो मौज-मनोरंजन खातिर खेलत हैं. जे एक जंग है जो हमें हर हाल में जीतनी है."
“जे कोई खेल नहीं है जो हम कोनो मौज-मनोरंजन खातिर खेलत हैं. जे एक जंग है जो हमें हर हाल में जीतनी है.”

#किरदार की मुश्किलें

यशपाल शर्मा ने बताया कि लाखा का किरदार निभाने में उन्हें क्या क्या दिक्कतें आईं. साथ ही उनका फ़ेमस डाइव वाला कैच कैसे शूट हुआ इसके पीछे का किस्सा भी साझा किया.

“मेरा किरदार लाखा क्रिकेट खेलना नहीं जानता था. जबकि मैं तो क्रिकेट खूब खेला हुआ हूं. मैं कैच लेने में सबसे माहिर हुआ करता था. लेकिन फ़िर भी मुझे कैच छोड़ने पड़ते थे क्यूंकि मैं फ़िक्सर था फ़िल्म में.
मुझे स्टूल पर चढ़कर स्प्रिंग बोर्ड पर कूदना था जो मुझे हवा में उछाल देता. पहले दिन आमिर बॉल फेंक रहा था. लेकिन मैं सही से शॉट देने में नाकाम हो रहा था. मुझे बहुत चोटें लग रहीं थीं. टाइमिंग ठीक नहीं बैठ रही थी. 5-6 दिन बाद, हमने दुबारा कोशिश की. और पहली बार में ही टेक ओके हो गया. आमिर जब मॉनिटर पर गया तो बहुत उत्साहित हो गया. लेकिन आशुतोष ने कहा कि इससे भी बेटर हो सकता है. हमने दूसरा टेक लिया और फ़िल्म में दूसरा टेक इस्तेमाल हुआ.”

#शूटिंग के दौरान लगा था फ़िल्म इतनी हिट होगी?

यशपाल जी से जब पूछा गया कि फ़िल्मिंग के वक़्त उन्हें लगा था क्या कि वो एक मास्टरपीस बना रहे हैं.

“हमने कभी नहीं सोचा था कि फ़िल्म ऑस्कर के लिए नॉमिनेटेड होगी लेकिन हमें इस बात का भरोसा था कि ये सबसे अलग फ़िल्म निकलेगी. एक बेमिसाल फ़िल्म. हमें पता था बाकी बन रहीं फ़िल्मों से ये फ़िल्म बहुत अलग थी. मुझे उस वक़्त इतना तजुर्बा नहीं था. मैंने सिर्फ़ चार-पांच फ़िल्में कर रखी थीं. ये मेरी पहली फ़िल्म थी और मेरी जिंदगी का टर्निंग पॉइंट भी. फ़िल्म ने मुझे सिखाया कि सिनेमा कैसे बनाते हैं.”

# आमिर के साथ

आमिर खान के साथ काम करने के अनुभव के बारे में बताते हुए आमिर ने कहा,

“आमिर की उस वक़्त ‘मेला’, ‘मन’ जैसी फ़िल्में फ्लॉप जा चुकीं थीं. ‘लगान’ उसके जीवन के लिए बहुत अहम थी. फिल्मिंग के दौरान मैं ये देखकर हैरान था कि वो कितने ज़मीन से जुड़े हुए इंसान थे. वो हमारे साथ ज़मीन पर बैठकर चाय पिया करते थे. हम शाम को मिला करते थे और डिनर के बाद हम बैठकर पत्ते खेला करते थे. हमने सेट पर भी खूब मस्ती की. टीम हमेशा साथ में रहती थी. जिस तरीके से वो एक साथ टीम की तरह जोड़ के रखते थे वो सराहनीय था.”

'लगान' की शूटिंग के दौर आमिर खान के साथ यशपाल शर्मा.(फ़ोटो- आमिर खान फ़िल्म्स )
‘लगान’ की शूटिंग के दौर आमिर खान के साथ यशपाल शर्मा.(फ़ोटो- आमिर खान फ़िल्म्स )

#आशुतोष के साथ

आशुतोष गोवारिकर के अंडर बतौर एक्टर काम करने का एक्सपीरियंस यशपाल जी ने शेयर करते हुए कहा,

“आशुतोष की पिछली दो फ़िल्में ‘पहला नशा’ और ‘बाज़ी’ फ्लॉप हो चुकी थीं. उसके लिए ये फ़िल्म गेम चेंजर थी. ये फ़िल्म उसके लिए बच्चे जैसी थी. मुझे याद है ‘लगान’ का प्रीमियर हो रहा था साउथ अफ्रीका  में और हम गेटी-गैलेक्सी बांद्रा से फ़ोन पर रिएक्शन सुन रहे थे. वहां जैसा शोर मच रहा था, ऐसा लग रहा था जैसे कोई क्रिकेट स्टेडियम हो. आशुतोष और उनकी पत्नी एक दूसरे को गले लगाकर खूब रोए. आशुतोष ‘लगान’ की स्क्रिप्ट लेकर बहुत से एक्टर्स के पास गया था लेकिन सब मना कर देते थे. जब आपकी सारी मेहनत वसूल होती है तब उस सफ़लता में आपको एक अलग ख़ुशी मिलती है. हर साल आशुतोष सब को फ़िल्म एनिवर्सरी पर मुबारकबाद के मैसेज भेजा करता था.”


ये स्टोरी दी लल्लनटॉप में इंटर्नशिप कर रहे शुभम ने लिखी है.

 


वीडियो: नसीरुद्दीन शाह क्यों आमिर के साथ काम करना पसंद नहीं करते?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

10 नंबरी

सलमान के पड़ोसी का आरोप, उनके फार्महाउस में गड़ी हैं स्टार्स की लाशें

सलमान के पड़ोसी का आरोप, उनके फार्महाउस में गड़ी हैं स्टार्स की लाशें

सलमान खान ने उन्हीं के खिलाफ डिफेमेशन केस किया था, अब जवाब दिया है.

सुशांत सिंह राजपूत की फिल्मों के 16 बेहतरीन डायलॉग्स, जो ज़िंदगी जीने का तरीका समझाते हैं

सुशांत सिंह राजपूत की फिल्मों के 16 बेहतरीन डायलॉग्स, जो ज़िंदगी जीने का तरीका समझाते हैं

कुछ ऐसे हैं, जिन्हें सुनकर आपको लगेगा जैसे ये आपके लिए ही लिखे गए हों.

22 बातों में जानिए 'पुष्पा' वाले सुपरस्टार अल्लू अर्जुन की पूरी कहानी

22 बातों में जानिए 'पुष्पा' वाले सुपरस्टार अल्लू अर्जुन की पूरी कहानी

वो सुपरस्टार, जिसकी फैमिली में पहले ही 12 स्टार्स हैं.

'सर' वाली एक्ट्रेस ने अंडर आर्म के बाल वाली फोटो डाली, लोग हल्ला करने लगे

'सर' वाली एक्ट्रेस ने अंडर आर्म के बाल वाली फोटो डाली, लोग हल्ला करने लगे

कुछ लोग उनका मैसेज समझ रहे हैं, तो कुछ 'महिला के बदन पर बाल कैसे' वाले थॉट से ग्रसित कमेंट्स कर रहे हैं.

परवीन बाबी के किस्से, जिन्हें डर था कि अमिताभ बच्चन उन्हें मरवा देंगे

परवीन बाबी के किस्से, जिन्हें डर था कि अमिताभ बच्चन उन्हें मरवा देंगे

जिन्होंने हिंदुस्तान को बताया कि एक औरत किसी के साथ रह भी सकती है. खुलेआम. बिना शादी के.

CID के ACP प्रद्युम्न ने बताया, काम नहीं मिल रहा, घर बैठकर थक गए

CID के ACP प्रद्युम्न ने बताया, काम नहीं मिल रहा, घर बैठकर थक गए

'मैं ये नहीं कहूंगा कि मुझे बहुत ऑफर्स मिल रहे हैं. नहीं है, तो नहीं है.'

सलमान से भिड़ने के बाद अब उन्हें बड़ा भाई क्यों बता रहे KRK?

सलमान से भिड़ने के बाद अब उन्हें बड़ा भाई क्यों बता रहे KRK?

KRK के इस ह्रदय परिवर्तन का राज़ क्या है?

2022 में आने वाली 14 एक्शन फिल्में, जिन्हें देखकर आपका माइंडइच ब्लो हो जाएगा

2022 में आने वाली 14 एक्शन फिल्में, जिन्हें देखकर आपका माइंडइच ब्लो हो जाएगा

इस तरह का एक्शन आपने इससे पहले इंडियन सिनेमा में नहीं देखा होगा.

कौन है केतन, जिसके खिलाफ सलमान खान ने डिफेमेशन केस कर दिया है?

कौन है केतन, जिसके खिलाफ सलमान खान ने डिफेमेशन केस कर दिया है?

पड़ोसी केतन ने सलमान के पनवेल वाले फार्महाउस के बारे में कुछ ऐसा बोल दिया, जो उन्हें ठीक नहीं लगा.

अल्लू अर्जुन की 'अला वैकुंठपुरमुलो' को टीवी पर आने से रोकने के लिए किसने खर्चे 8 करोड़?

अल्लू अर्जुन की 'अला वैकुंठपुरमुलो' को टीवी पर आने से रोकने के लिए किसने खर्चे 8 करोड़?

'अला वैकुंठपुरमुलो' के हिंदी रीमेक 'शहज़ादा' में कार्तिक आर्यन और कृति सैनन लीड रोल्स कर रहे हैं.