Submit your post

Follow Us

बॉलीवुड में जब फिर दागे गए कारगर कारतूस

982
शेयर्स

क्यूट बाला आलिया भट्ट का ‘नींद न मुझको आए’ और सुदर्शन युवक शरमन जोशी का ‘तुम्हें अपना बनाने की’ वाला गाना फिजा में तैर रहा है. सुनते ही पता लगता है, पहले भी सुना है. वैसे ये पहली दफा नहीं है कि बॉलीवुड ने अपने ही गाने फिर उठाकर इस्तेमाल किए हैं. एक नजर डालिए इधर लिस्ट लंबी है साहब.

1. हवा-हवाई

 मिस्टर इण्डिया (1987)

इस फिल्म में श्रीदेवी के रोल को बड़ा ‘आइकॉनिक’ माना जाता है.

शैतान (2011)

इस वाले को आप ‘साइकोटिक’ मान लो 😉

2. आज फिर तुम पे प्यार आया है

दयावान (1988)

माधुरी पूछती हैं, ‘तुम दयावान देवता हो मेरे तुमको पूजूं या तुमको प्यार करूं.’


हेट स्टोरी (2014)

जवाब यहां है 😀

3. सर जो तेरा चकराए

प्यासा (1957)

इस गाने की धुन एसडी बर्मन ने ब्रिटिश मूवी ‘हैरी ब्लैक’ की एक धुन से बनाई थी.

रोड (2011)

गाना एक बार सुनिए, सिर भी चकराएगा. तेल मालिश की जरूरत भी होगी. 👿

5. नैनों में सपना,सपने में सजना

हिम्मतवाला (1983)

ओपन एयर स्टूडियो, ढेर सारे मटके, कार्ड बोर्ड के कटआउट, ढेर सारा ग्लिटर.

हिम्मतवाला (2013)

ओपन एयर स्टूडियो,ढेर से मटके, कार्डबोर्ड के कटआउट, ढेर सारा ग्लिटर- 2.0

5. खोया-खोया चांद

काला बाजार (1960)

ये इकलौती फिल्म है,जिसमें ‘नवकेतन’ वाले तीनों ‘आनंद’ एक साथ नजर आए थे.

शैतान (2011)

और अब आपको भी शक होने लगा होगा कि इस फिल्म वालों ने तमाम गानों का चार्म सोखने की कसम खा रखी है.

6. अपनी तो जैसे-तैसे थोड़ी ऐसे या वैसे

लावारिस (1981) 

बाद के दिनों में ये फिल्म तेलुगु और तमिल में भी बनी. हीरो थे एनटीआर और रजनी सर.

हाउसफुल (2010)

जनाबेआली ने भी कभी न सोचा रहा होगा इस गाने का ऐसा ‘धन्नोकरण’ होगा. 😯

7. तय्यब अली प्यार का दुश्मन हाय-हाय

अमर अकबर एंथोनी (1977 )

घर वाले मानेंगे नहीं

वन्स अपॉन अ टाइम इन मुंबई दोबारा (2013)

घर वाले मानेंगे नहीं – दोबारा

8. बचना ऐ हसीनों

हम किसी से कम नहीं (1977)

तब ऋषि कपूर ट्विटर नही चलाते थे 😛

बचना ऐ हसीनों (2008)

इस बार बेटे की बारी थी.

9. दम मारो दम

हरे रामा हरे कृष्णा (1971)

बहनों और भाइयों, बिनाका गीतमाला में ये गाना 12 हफ़्तों तक पहले पायदान पर रहा (पढ़ें अमीन सयानी की आवाज में)

दम मारो दम (2011)

रोहन सिप्पी ने ये गाना 2011 क्रिकेट वर्ल्डकप में भारत-दक्षिम अफ्रीका मैच के दौरान लॉन्च किया था.

10. नींद न मुझको आए

पोस्ट बॉक्स 999 (1958)

गुरु ये गाना इत्ता पुराना है, जब कल्याण जी और आनंद जी की जोड़ी तक नहीं बनी थी.

शानदार (2015)

विकास बहल ने शाहिद-आलिया की जोड़ी बनाकर ही क्या उखाड़ लिया 😆


गाने हमने अपनी समझ से बटोरे हैं. जो छूटे हैं,जो बच गए वो आप बताएं. हम खुशी-ख़ुशी यहीं जोड़ देंगे. आपका नाम भी देंगे.

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

पोस्टमॉर्टम हाउस

फिल्म रिव्यू: दी ज़ोया फैक्टर

'किस्मत बड़ी या मेहनत' वाले सवाल का कन्फ्यूज़ कर देने वाला जवाब.

फिल्म रिव्यू: सेक्शन 375

ये फिल्म एक केस की मदद से ये आज के समय की सबसे प्रासंगिक और कम कही गई बात कहती है.

बॉल ऑफ़ दी सेंचुरी: शेन वॉर्न की वो गेंद जिसने क्रिकेट की दुनिया में तहलका मचा दिया

कहते हैं इससे अच्छी गेंद क्रिकेट में आज तक नहीं फेंकी गई. आज वॉर्न अपना पचासवां बड्डे मना रहे हैं.

फिल्म रिव्यू: ड्रीम गर्ल

जेंडर के फ्यूजन और तगड़े कन्फ्यूजन वाली मज़ेदार फिल्म.

गैंग्स ऑफ वासेपुर की मेकिंग से जुड़ी ये 24 बातें जानते हैं आप?

अनुराग कश्यप के बड्डे के मौके पर जानिए दो हिस्सों वाली इस फिल्म के प्रोडक्शन से जुड़ी बहुत सी बातें हैं. देखें, आप कितनी जानते हैं.

फिल्म रिव्यू: छिछोरे

उम्मीद से ज़्यादा उम्मीद पर खरी उतरने वाली फिल्म.

ट्रेलर रिव्यू झलकीः बाल मजदूरी पर बनी ये फिल्म समय निकालकर देखनी ही चाहिए

शहर लाकर मजदूरी में धकेले गए भाई को ढूंढ़ती बच्ची की कहानी.

जब अपना स्कूल बचाने के लिए बच्चों को पूरे गांव से लड़ना पड़ा

क्या उनका स्कूल बच सका?

फिल्म रिव्यू: साहो

सह सको तो सहो.

संजय दत्त की अगली फिल्म, जो उन्हें सुपरस्टार वाला खोया रुतबा वापस दिला सकती है

'प्रस्थानम' ट्रेलर फिल्म के सफल होने वाली बात पर जोरदार मुहर लगा रही है.