Submit your post

Follow Us

जामिया में हुई फायरिंग के बाद नेता अनुराग ठाकुर पर निशाना क्यों साध रहे हैं?

नागरिकता संशोधन कानून यानी CAA और राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर NRC के विरोध में कई जगहों पर विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं. 30 जनवरी को दिल्ली की जामिया मिलिया इस्लामिया  से राजघाट तक मार्च निकाला जा रहा था. इस दौरान जामिया इलाके के पास एक युवक ने गोली चला दी. एक युवक  के हाथ में गोली लगी है. इस घटना पर नेताओं की ओर से बयान आए हैं.

1- कांग्रेस के ऑफिशियल ट्विटर हैंडल की ओर से ट्वीट किया गया,

अमित शाह किस तरह की पुलिस फोर्स चला रहे हैं? दिल्ली पुलिस खड़ी है और युवक प्रदर्शनकारियों पर गोली चला देता है. क्या अनुराग ठाकुर का इरादा यही था? कट्टरपंथी युवाओं की एक सेना बनाना.

Congress


2- कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी ने भी ट्वीट कर भाजपा पर निशाना साधा. उन्होंने लिखा

प्रियंका गांधी ने ट्वीट किया.


3-जम्मू कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने ट्वीट किया,

दिलचस्प है कि कुछ मीडिया चैनल्स आरोपी के नाम पर चर्चा कर रहे हैं. अगर उसका नाम ग़ाजी या  गज़ानफर होता तो उसे आतंकी घोषित कर दिया जाता.

 

महबूबा मुफ्ती का ट्वीट.


4- गुजरात के वडगाम से विधायक जिग्नेश मेवानी ने भी ट्वीट किया, और अनुराग ठाकुर पर निशाना साधा.

मेवानी


5- कन्हैया कुमार ने भी इस मामले पर ट्वीट किया. और लिखा-

कन्हैया का ट्वीट.


6- AIMIM के चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने भी ट्वीट किया, लिखा-

दिल्ली पुलिस ने जो हिम्मत पिछले महीने जामिया में दिखाई थी उसका क्या हुआ. अगर असहाय दर्शक का कोई अवॉर्ड मिले तो दिल्ली पुलिस को ही मिलेगा.क्या आप बता सकते हैं कि एक गोली लगे पीड़ित को बैरीकेड पर क्यों चढ़ना पड़ा. क्या आपके सेवा नियम आपको मानवीय होने से रोकते हैं?’

अनुराग ठाकुर जैसे लोगों का शुक्रिया, जिन्होंने देश में इतनी हिंसा पैदा कर दी है कि एक आतंकी खुलेआम छात्र पर गोली चला रहा है और पुलिस खड़ी हुई है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अब इसे कपड़ों से पहचानिए.

ओवैसी का ट्वीट.
असदुद्दीन ओवैसी का ट्वीट.

30 जनवरी को महात्मा गांधी की पुण्यतिथि थी. इसी मौके पर यूनिवर्सिटी के स्टूडेंट राजघाट तक CAA के खिलाफ मार्च निकालने वाले थे. इसी दौरान ये घटना हुई. इस घटना में आरोपी युवक की पहचान हम नहीं बता रहे हैं, क्योंकि वो नाबालिग है.


वीडियो देखें: अमित शाह ने मंच से चिल्लाकर CAA का विरोध कर रहे लड़के को पिटने से बचाया

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

पोस्टमॉर्टम हाउस

शी- नेटफ्लिक्स वेब सीरीज़ रिव्यू

किसी महिला को संबोधित करने के लिए जिस सर्वनाम का इस्तेमाल किया जाता है, उसी के ऊपर इस सीरीज़ का नाम रखा गया है 'शी'.

असुर: वेब सीरीज़ रिव्यू

वो गुमनाम-सी वेब सीरीज़, जो अब इंडिया की सबसे बेहतरीन वेब सीरीज़ कही जा रही है.

फिल्म रिव्यू- अंग्रेज़ी मीडियम

ये फिल्म आपको ठठाकर हंसने का भी मौका देती है मुस्कुराते रहने का भी.

गिल्टी: मूवी रिव्यू (नेटफ्लिक्स)

#MeToo पर करण जौहर की इस डेयरिंग की तारीफ़ करनी पड़ेगी.

कामयाब: मूवी रिव्यू

एक्टिंग करने की एक्टिंग करना, बड़ा ही टफ जॉब है बॉस!

फिल्म रिव्यू- बागी 3

इस फिल्म को देख चुकने के बाद आने वाले भाव को निराशा जैसा शब्द भी खुद में नहीं समेट सकता.

देवी: शॉर्ट मूवी रिव्यू (यू ट्यूब)

एक ऐसा सस्पेंस जो जब खुलता है तो न सिर्फ आपके रोंगटे खड़े कर देता है, बल्कि आपको परेशान भी छोड़ जाता है.

ये बैले: मूवी रिव्यू (नेटफ्लिक्स)

'ये धार्मिक दंगे भाड़ में जाएं. सब जगह ऐसा ही है. इज़राइल में भी. एक मात्र एस्केप है- डांस.'

फिल्म रिव्यू- थप्पड़

'थप्पड़' का मकसद आपको थप्पड़ मारना नहीं, इस कॉन्सेप्ट में भरोसा दिलाना, याद करवाना है कि 'इट्स जस्ट अ स्लैप. पर नहीं मार सकता है'.

फिल्म रिव्यू: शुभ मंगल ज़्यादा सावधान

ये एक गे लव स्टोरी है, जो बनाई इस मक़सद से गई है कि इसे सिर्फ लव स्टोरी कहा जाए.