Submit your post

Follow Us

'स्क्विड गेम' देख लिया? अब ये 9 बढ़िया कोरियन शोज़ निपटा डालिए

तारीख 17 सितंबर, 2021. पूरी दुनिया का साक्षात्कार एक गेम शो से हुआ. जहां कर्ज़ में डूबे बहुत से लोगों को एक जगह इकट्ठा किया गया. हारने को इनके पास कुछ नहीं. लेकिन अगर एक-दूसरे को हरा दिया, और आगे निकल गए तो जीतेंगे ढेर सारा पैसा. लाज़मी है कि इस गेम और उसके पार्टिसिपेंट्स की कहानी आप अब तक देख चुके होंगे. या फिर आपके दोस्त लगातार पीछे पड़े होंगे, कि यार ‘स्क्विड गेम’ देख ले. ऐसा शो नहीं देखा होगा.

‘स्क्विड गेम’ को पूरी दुनिया ने इस तरह से अपनाया कि खुद नेटफ्लिक्स ने एक्सपेक्ट नहीं किया था. ये सीरीज़ नेटफ्लिक्स के लिए सबसे बड़ी ओपनिंग लेकर आई. साथ ही शो की वर्थ भी करीब 900 मिलियन डॉलर्ज़ यानी करीब 6000 करोड़ रुपए पर पहुंच गई है. नेटफ्लिक्स का ये शो अमेरिका में सबसे पॉपुलर कोरियन शो बनकर निकला है. हॉलीवुड के स्टार्स ऐल फैनिंग और लियोनार्डो डी कैपरियो भी शो के जबरा फैन हैं. ऐसा नहीं है कि शो का क्रेज़ सिर्फ वेस्ट तक ही सीमित हो. मीडिया रिपोर्ट्स की माने तो शो के बाद से ही इंडिया में रेड हुडीज़ की डिमांड बढ़ गई है.

Squid Game
‘स्क्विड गेम’ चुपके से आया और धमाका कर दिया.

‘स्क्विड गेम’ के बाद आलम ऐसा है कि जनता खोज-खोजकर कोरियन शोज़ देख रही है. साउथ कोरियन सिनेमा के प्रति ऐसा जुझारूपन इससे पहले ‘ट्रेन टू बुसान’ के वक्त देखा गया था. लेकिन वो भी अभी की तुलना में कम ही था. खैर, आज हम आपकी मेहनत कम किए देते हैं. बताते हैं उन 9 कोरियन शोज़ के बारे में जिन्हें आप तुरंत प्रभाव से देख डालिए. क्योंकि हम ये भी बताएंगे कि आप इन शोज़ को घर बैठे कैसे देख सकते हैं.

Spotlight


#1. हैलबाउंड
कहां देखें: नेटफ्लिक्स

अगर आप इंटरनेट पर ‘Hellbound’ सर्च करेंगे तो एक साथ कई आर्टिकल्स रिज़ल्ट में आएंगे. जैसे Hellbound Explained, Hellbound Ending Explained आदि. अगर शो के बाद Explanation आर्टिकल या वीडियो बनने लग जाएं, तो समझ जाइए कि शो हिट हो चुका है. और अब लोग बस अपनी-अपनी इंटरप्रीटेशन की गंगा बहाए जा रहे हैं. ‘स्क्विड गेम’ के ठीक दो महीने बाद रिलीज़ होने वाले इस शो ने दुनिया के सबसे पॉपुलर गेम को पीछे बिठा दिया है. ‘स्क्विड गेम’ पिछले 43 दिनों से नेटफ्लिक्स के टॉप पर था. लेकिन नॉट एनीमोर. अब वो जगह ‘Hellbound’ ने ले ली है.

Hellbound
वो शो, जिसने ‘स्क्विड गेम’ को पीछे बिठा दिया.

‘ट्रेन टू बुसान’ के डायरेक्टर येओन सांग हो के डायरेक्शन में बना ये शो आपको लास्ट एपिसोड तक हुक्ड रखता है. धरती के लोगों को नर्क में घसीटा जाने लगता है. ऐसे में वो एक दूसरे से नफरत करने लगते हैं, खत्म करने लगते हैं, ताकि भगवान का रहम पा सकें. Roger Ebert.com ने अपने रिव्यू में लिखा कि ये सीरीज हम से पूछती है कि हम पाप को कैसे परिभाषित करते हैं और हम इंसान भगवान से क्या डिज़र्व करते हैं.


#2. लॉ स्कूल
कहां देखें: नेटफ्लिक्स

शो खुलता है एक मर्डर से. जो एक लॉ स्कूल में हुआ है. मरने वाले शख्स यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर थे. किसी कारणवश शक की सुई प्रोफेसर यांग पर जाती है. उन्हें गिरफ्तार कर लिया जाता है. लेकिन उनके स्टूडेंट्स को कुछ खटकता है, वो ये मानने को तैयार नहीं कि प्रोफेसर यांग ऐसा कुछ कर सकते हैं. इसलिए वो अपने ढंग से सच की तलाश में जुट जाते हैं, और सामने आते हैं वो जवाब वो लीगल सिस्टम के लूपहोल्स को उधेड़कर रख देते हैं. आगे कहानी सिर्फ प्रोफेसर के मर्डर तक सीमित नहीं रह जाती, वो हमें साउथ कोरिया के लीगल सिस्टम से भी रूबरू करवाती है.

Law School
आपको एंगेज़ कर के रखेगा ये शो.

‘लॉ स्कूल’ के सभी एपिसोड्स आप नेटफ्लिक्स पर स्ट्रीम कर सकते हैं.


#3. स्ट्रेन्जर
कहां देखें: नेटफ्लिक्स

जिन्हें कुछ नहीं चाहिए, हम उन पर राज नहीं कर सकते.

राइटर ली सू ने इस लाइन को पढ़ा और ह्वॉन्ग शी मॉक का किरदार रच डाला. ह्वॉन्ग एक कमाल के प्रॉसिक्यूटर हैं. नियरली परफेक्ट. नियरली इसलिए क्योंकि जवानी में उसकी एक ब्रेन सर्जरी हुई, जिसके बाद उसकी सेंस ऑफ एम्पथी क्षीण हो गई. एम्पथी वो दशा है जब आप किसी की फीलिंग समझ पाते हों, लेकिन उसे शेयर नहीं कर सकते. एक मर्डर केस की जांच के दौरान लेफ्टिनेंट हान ज़िन उसे असिस्ट करने लगती है.

Stranger
‘स्ट्रेन्जर’ का पोस्टर.

जैसे-जैसे दोनों अपनी जांच में गहरे उतरते जाते हैं, तो पाते हैं कि कोई उन्हें रोकने की कोशिश कर रहा है. जिसके तार सरकारी तंत्र में होते भ्रष्टाचार से जाकर मिलते हैं. ‘स्ट्रेन्जर’ के अब तक दो सीज़न आ चुके हैं, जिन्हें आप नेटफ्लिक्स पर स्ट्रीम कर सकते हैं.


#4. क्रैश लैंडिंग ऑन यू
कहां देखें: नेटफ्लिक्स

साउथ कोरिया और नॉर्थ कोरिया के बीच कैसे रिश्ते हैं, ये बताने की ज़रूरत नहीं. ऐसे हालात में एक कांड हो जाता है. जब साउथ कोरिया के शाही खानदान की लड़की पैराग्लाइडिंग करने निकलती है. काश 100-200 ज्यादा देकर वो लैंड कर जाती, लेकिन ऐसा होता नहीं और वो पहुंच जाती है नॉर्थ कोरिया में. बॉर्डर के उस पार किसी की भी नज़र पड़ जाती, तो परिणाम फेवरेबल नहीं होते. ऐसे में उसे मिलता है एक आर्मी ऑफिसर, जो उसे सत्ता के हवाले नहीं करता. बल्कि उसकी पहचान गुप्त बनाए रखता है, ताकि उसे सेफ रख सके.

Paragliding Meme
काश 100-200 देकर सही जगह लैंड कर जाती.

दोनों को इस दौरान क्या-क्या फेस करना पड़ता है, ये शो का मेन प्लॉट है. शो जब तक खत्म हुआ, उस पॉइंट तक रेटिंग्स के चार्ट तोड़ चुका था. इतना पसंद किया था जनता ने शो को. बाकी आप शो को नेटफ्लिक्स पर देख सकते हैं.


#5. स्काइ कैसल
कहां देखें: नेटफ्लिक्स

स्काइ कैसल एक रेज़िडेंशियल कम्यूनिटी है, जहां साउथ कोरिया की एलीट क्लास रहती है. उन लोगों के लिए एक ही बात सबसे ज्यादा मैटर करती है, किसी भी तरह अपने बच्चों को टॉप यूनिवर्सिटीज़ में एडमिशन दिलवाना. डॉक्टर पेरेंट्स के बच्चे भी डॉक्टर ही बनेंगे, ऐसा उनका मानना है. पूरा शो पेरेंट्स और बच्चों के इर्द-गिर्द घूमता है, पेरेंट्स की ज़िद और बच्चों का सैक्रिफाइस. ये ड्रामा सीरीज़ पेरेंटिंग जैसे सिम्पल बट कॉम्प्लेक्स लगने वाले इश्यू को भी टैकल करती है. जो अमीर हो या गरीब, सबके घरों में समान लगती है. अपने बच्चों को प्रतिस्पर्धा के मैदान में उतारने की जंग.

Sky Castle
‘स्काइ कैसल’ की कहानी भले ही कोरिया के एक पर्सेंट वाले लोगों की है, लेकिन ये थीम यूनिवर्सल है.

अगर शो का ट्रेलर देखेंगे तो निराश होंगे, क्योंकि ट्रेलर प्लॉट के साथ इंसाफ करने में नाकामयाब साबित होता है. बाकी शो देख डालिए, कोई शिकायत नहीं रहेगी. ‘स्काइ कैसल’ कोरियन केबल टेलिविजन हिस्ट्री का सेकंड हाईएस्ट रेटेड शो है, जिसे आप नेटफ्लिक्स पर स्ट्रीम कर सकते हैं.


#6. नविलेरा
कहां देखें: नेटफ्लिक्स

अपने पैशन को फॉलो करने की क्या उम्र है? क्या सारा रिस्क ट्वेंटीज़ के लिए रिज़र्व्ड है, जब खोने के लिए कुछ नहीं और पाने के लिए सारा जहां. हमारी सोसाइटी ने तो कुछ ऐसे ही रूल बना लिए हैं. जहां एक सेट एज तक करियर होना चाहिए और एक एज तक फैमिली. लेकिन 70 साल के एक बुजुर्ग ने ऐसे सारे नियमों को ताक पर रखने की ठानी है. पूरी ज़िंदगी दुनियादारी के हिसाब से जी ली, अब बारी है खुद के लिए कुछ करने की. क्योंकि यू ओनली लिव वंस. अब बस कैसे भी कर के बैले सीखना चाहते हैं.

Navilleraa 1200x675 1
आपके दिल को तंदरुस्त कर देगा ये शो.

उधर दूसरी ओर है एक 23 साल का लड़का, जो एक गिफ्टेड बैले डांसर है. दोनों मिलते हैं और एक-दूसरे को ज़िंदगी के प्रति अपना नज़रिया दे जाते हैं. इस ज़िंदादिल शो को आप नेटफ्लिक्स पर देख सकते हैं.


#7. सिग्नल
कहां देखें: नेटफ्लिक्स

‘सिग्नल’ ने कुछ रियल लाइफ इवेंट्स को अपना आधार बनाया है, हां कहानी को इंट्रेस्टिंग बनाने के लिए क्रिएटिव लिबर्टी ली गई है. कहानी शुरू होती है एक क्रिमिनल प्रोफाइलर से, जो एक किडनैपिंग केस की जांच कर रहा है. जांच के दौरान उसके हाथ लगता है एक वॉकी-टॉकी, जो किसी भी लिहाज़ से आम नहीं. प्रोफाइलर उसे ऑन करता है और दूसरी ओर पाता है एक डिटेक्टिव को, जो साल 1989 में रहता है. अब यहां गड़बड़ ये है कि प्रोफाइलर साल 2015 में जी रहा है. अब वो प्रोफाइलर किडनैपिंग केस की जांच में जुट जाता है, साथ ही रहस्यमयी डिटेक्टिव की हेल्प लेता है.

Signal K Drama
पास्ट और प्रेज़ेंट के बीच बैक एंड फोर्थ जम्प करता है.

आगे जो कुछ भी घटता है, वो आपको बस एपिसोड खत्म कर दूसरा शुरू करने के लिए एक्साइटेड रखेगा. ‘सिग्नल’ पहले टीवी पर आया था. हालांकि, बाद में नेटफ्लिक्स ने इसके स्ट्रीमिंग राइट्स ले लिए थे. आप नेटफ्लिक्स पर ही शो के सारे एपिसोड्स देख सकते हैं.


#8. रिप्लाई 1988
कहां देखें: नेटफ्लिक्स

1988 में सेट ये शो कहानी बताता है चार दोस्तों की और उनके आपस के रिलेशनशिप की. ‘रिप्लाई 1988’ ऑडियंस के फेवरेट शोज़ में से एक है. ये शो आपको डराता नहीं, न ही किसी मर्डर मिस्ट्री की चेज़ में फंसाता है, बस आपको लाइफ की सादगी के थोड़ा और करीब लाने का काम करता है. शो की सबसे बड़ी वैल्यू है उसका नॉस्टैल्जिया, जिससे सिर्फ कोरियन ऑडियंस ही नहीं बल्कि दुनियाभर की ऑडियंस कनेक्ट कर सकती है. कुल मिलाकर शुरू से लेकर अंत तक आप इस शो में इंवेस्टेड रहेंगे.

Reply 1988
नॉस्टैल्जिया फुल प्रो मैक्स वाली फ़ील देता है.

‘रिप्लाई 1988’ को डायरेक्ट किया है शिन वॉन हो ने, जिन्होंने एक और उम्दा शो बनाया था. ‘हॉस्पिटल प्लेलिस्ट’ के टाइटल से. इन दोनों शोज़ को ही आप नेटफ्लिक्स पर देख सकते हैं.


#9. गार्डियन: द लोनली एंड ग्रेट गॉड
कहां देखें: नेटफ्लिक्स, एमएक्स प्लेयर

अगर कोई कोरियन ड्रामा देखना शुरू करने वाला हो, और समझ नहीं आए कि किस शो से शुरू करना है. तो ऐसे लोगों के लिए है ‘गार्डियन: द लोनली एंड ग्रेट गॉड’. जो कहानी बताता है किम शिन नाम के गॉब्लिन की, जो 900 सालों से जी रहा है. उसकी छाती में एक तलवार धंसी हुई है, जिसे उसकी होने वाली पत्नी ही निकाल सकती है. बाकी प्लॉट जितना सिम्पल लगता है, उतना है नहीं. कहानी में काफी कुछ घटता रहता है.

Goblin K Drama
सबसे पॉपुलर कोरियन शोज़ में से एक.

किम का रोल निभाया है ‘ट्रेन टू बुसान’ वाले गॉन्ग यू ने, जिन्हें आप ‘स्क्विड गेम’ के पहले एपिसोड में थप्पड़ लगाते हुए भी देख चुके हैं. 16 एपिसोड्स में सीमित इस शो को आप नेटफ्लिक्स पर देख सकते हैं. बाकी इसका हिंदी डब्ड वर्ज़न आप एमएक्स प्लेयर पर भी देख सकते हैं.


वीडियो: ‘बॉब बिस्वास’, बेटर कॉल सॉल से लेकर डेडपूल तक स्पिन ऑफ़ शोज़ और फिल्में

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

पोस्टमॉर्टम हाउस

फिल्म रिव्यू: द पावर ऑफ द डॉग

फिल्म रिव्यू: द पावर ऑफ द डॉग

'डॉक्टर स्ट्रेन्ज' और 'शरलॉक' वाले धांसू एक्टर बेनेडिक्ट की नई फिल्म कैसी है?

'83' में कपिल देव की वो पारी देखने को मिलेगी, जिसकी फुटेज दुनिया में कहीं उपलब्ध नहीं

'83' में कपिल देव की वो पारी देखने को मिलेगी, जिसकी फुटेज दुनिया में कहीं उपलब्ध नहीं

कैसा है रणवीर सिंह की '83' का ट्रेलर?

मूवी रिव्यू - अंतिम: द फाइनल ट्रुथ

मूवी रिव्यू - अंतिम: द फाइनल ट्रुथ

कायदे से ये सलमान खान फिल्म नहीं होनी चाहिए थी, लेकिन बन जाती है.

फिल्म रिव्यू: छोरी

फिल्म रिव्यू: छोरी

मराठी फिल्म का रीमेक ये फिल्म ओरिजिनल से अच्छी है या बुरी?

फिल्म रिव्यू- सत्यमेव जयते 2

फिल्म रिव्यू- सत्यमेव जयते 2

'सत्यमेव जयते 2' मसाला जॉनर का नाम खराब करने वाला कॉन्टेंट है.

वेब सीरीज़ रिव्यू: इल्लीगल सीज़न  2

वेब सीरीज़ रिव्यू: इल्लीगल सीज़न 2

नेहा शर्मा, पीयूष मिश्रा का ये शो 'सूट्स' तो नहीं, लेकिन बुरा भी नहीं.

फिल्म रिव्यू- ये मर्द बेचारा

फिल्म रिव्यू- ये मर्द बेचारा

फिल्म का मक़सद ये था कि टॉक्सिक मैस्क्यूलिनिटी और जेंडर स्टीरियो टाइप को तोड़ा जाए, मगर फिल्म ओवरबोर्ड चली जाती है.

ट्रेलर रिव्यू: 'इनसाइड एज-3'

ट्रेलर रिव्यू: 'इनसाइड एज-3'

कितने नए सस्पेंस हैं इस स्पोर्ट्स ड्रामा की तीसरी किस्त में?

फिल्म रिव्यू: धमाका

फिल्म रिव्यू: धमाका

कार्तिक आर्यन की फिल्म ने 'धमाका' किया या नहीं?

फिल्म रिव्यू- बंटी और बबली 2

फिल्म रिव्यू- बंटी और बबली 2

ये फिल्म अपने होने को जस्टिफाई नहीं कर पाती. यही इसकी सबसे बड़ी कमी है.