Submit your post

Follow Us

Video: अरबी लोग गा रहे हैं 'बोल राधा बोल संगम होगा कि नहीं' और सुनने वाले मंत्रमुग्ध हैं

बॉलीवुड फिल्मों का अपना एक अलग स्टाइल है. नाचा-गाना, एक्शन, रोमांस, कॉमेडी, एंटरटेनमेंट. इन फिल्मों के दीवाने दुनियाभर में हैं. इस दीवानगी को बयान करती हुई एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है. जिसमें अरब के कुछ लोग हिंदी गाना गा रहे हैं.

‘तेरे मन की गंगा और मेरे मन की जमुना का,
बोल राधा बोल संगम होगा कि नहीं’

हीरो और हीरोइन के संगम का तो वे जानें, लेकिन दो संस्कृतियों का अद्भुत संगम इस वीडियो में जरूर दिख रहा है. फिल्म डायरेक्टर ओनिर ने इस वीडियो को शेयर करते हुए लिखा:

“वाह! गुड नाइट, खूबसूरत बंदों. यह देखकर आप मुस्कुरा उठेंगे. सोने से पहले नकारात्मकता से दूर हो जाएंगे.”

यह गाना राजकपूर द्वारा निर्देशित फिल्म ‘संगम’ से है. इसे लिखा था महान गीतकार शैलेंद्र ने. उनके लिखे हुए कुछ और फेमस गानों का अगर ज़िक्र करें – जीना इसी का नाम है, मेरा जूता है जापानी, आज फिर जीने की तमन्ना है, सजन रे झूठ मत बोलो, प्यार हुआ इक़रार हुआ है.

गाने का म्यूज़िक दिया शंकर जयकिशन ने. मुकेश ने इसे अपनी आवाज़ में गाया. और गाने का फिल्मांकन राजकपूर और वैयजंती माला पर हुआ. ओरिजिनल गाने को भी ज़रा देख-सुन लीजिए:

कहा जाता है कि संगीत की कोई सरहदें नहीं होती. भले ही गाने के बोल समझ ना आएं, तब भी संगीत दिल से महसूस किया जा सकता है. किसी दूसरे देश की इस मासूम लड़की को देखिए. किस शिद्दत से इसने अरिजीत सिंह द्वारा गाए हुए गाने को अपनी आवाज़ दी है. यक़ीन मानिए कि यह गाना आपके मुस्कुराने की वजह बन जाएगा.

रूस में तो राजकपूर और मिथुन चक्रबर्ती को लेकर वहां के लोगों का जूनून तो पूछिए मत. ऋषि कपूर ने ब्रिक्स फिल्म फेस्टिवल में एक किस्सा सुनाया था. राजकपूर अपनी फिल्म ‘मेरा नाम जोकर’ पर काम कर रहे थे, जब उनका रूस जाना हुआ. उस समय रूस सोवियत यूनियन का हिस्सा था. राज वहां अचानक से पहुंच गए थे. इसलिए उनके स्वागत के लिए कोई नहीं था. वे एक टैक्सी का इंतज़ार कर रहे थे. धीरे-धीरे बात फैलने लगी कि राजकपूर आए हुए हैं. जब वे टैक्सी में बैठे, तो उन्हें एहसास हुआ कि टैक्सी आगे नहीं ऊपर जा रही है. इतनी ही देर में उनके इतने सारे फैंस इकट्ठे हो गए थे. जिन्होंने टैक्सी को ही ऊपर उठा लिया.

उनकी फिल्म ‘संगम’ को भी सोवियत में बहुत पसंद किया गया था. इसी तरह मिथुन की फिल्म ‘डिस्को डांसर’ को वहां एक कल्ट फिल्म का दर्जा हासिल है. आज तक भी लोग ‘जिम्मी जिम्मी जिम्मी, आजा आजा आजा’ गाते रहते हैं. आप ये रियलिटी टीवी प्रोग्राम का वीडियो देख लीजिये. गाना सही से शुरू भी नहीं हुआ, कि दर्शक ख़ुशी से चिल्लाने लगे.

राज कपूर का गाना ‘आवारा हूं’ तो रूस में बहुत ही फेमस है. उसका एक वर्जन देखिए.

एक और वर्जन देखिए.

बाकी दुनिया में लोग इंडिया के गानों का लुत्फ़ उठा रहे हैं, तो क्यों ना एक विदेशी गाना सुन लिया जाए. यह अरब का एक बहुत पॉपुलर गाना है. जैसे ही आप यह गाना सुनना शुरू करेंगे, आपको लगेगा कि आपने ऐसा कुछ पहले सुना हुआ है.


वीडियो देखें: रिमिक्स गानों के ट्रेंड से दुखी गीतकार समीर और जावेद अख़्तर कोर्ट क्यों जाना चाहते हैं?  

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

10 नंबरी

सआदत हसन मंटो को समझना है तो ये छोटा सा क्रैश कोर्स कर लो

जानिए मंटो को कैसे जाना जाए.

महाराणा प्रताप के 7 किस्से: जब वफादार मुसलमान ने बचाई उनकी जान

9 मई, 1540 को पैदा होने वाले महाराणा प्रताप की मौत 29 जनवरी, 1597 को हुई.

दुनिया के 10 सबसे कमज़ोर पासवर्ड कौन से हैं?

रिस्की पासवर्ड का पता कैसे चलता है?

'इक कुड़ी जिदा नां मुहब्बत' वाले शिव बटालवी ने बताया कि हम सब 'स्लो सुसाइड' के प्रोसेस में हैं

इन्होंने अपनी प्रेमिका के लिए जो 'इश्तेहार' लिखा, वो आज दुनिया गाती है

शराब पर बस ये पढ़ लीजिए, बिना लाइन में लगे झूम उठेंगे!

लिखने वालों ने भी क्या ख़ूब लिखा है.

वो चार वॉर मूवीज़ जो बताती हैं कि फौजी जैसे होते हैं, वैसे क्यूं होते हैं

फौजियों पर बनी ज़्यादातर फिल्मों में नायक फौजी होते ही नहीं. उनमें नायक युद्ध होता है. फौजियों को देखना है तो ये फिल्में देखिए.

गहने बेच नरगिस ने चुकाया था राज कपूर का कर्ज

जानिए कैसे शुरू और खत्म हुआ नरगिस और राज कपूर का प्यार का रिश्ता..

सत्यजीत राय के 32 किस्से: इनकी फ़िल्में नहीं देखी मतलब चांद और सूरज नहीं देखे

ये 50 साल पहले ऑस्कर जीत लाते, पर हमने इनकी फिल्में ही नहीं भेजीं. अंत में ऑस्कर वाले घर आकर देकर गए.

ऋषि कपूर की इन 3 हीरोइन्स ने उनके बारे में क्या कहा?

इनमें से एक अदाकारा को ऋषि ने आग से बचाया था.

ईश्वर भी मजदूर है? लेखक लोग तो ऐसा ही कह रहे हैं!

पहली मई को दुनियाभर में मजदूरों के हक़ की बात कही जाती है.