Submit your post

रोजाना लल्लनटॉप न्यूज चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं !

Follow Us

श्रीलंका के बैट्समैन का ध्यान भटकाने के लिए कोहली ने लिया दर्शकों का सहारा

4.93 K
शेयर्स

टेस्ट मैच में टेस्ट शब्द एकदम सटीक है. पांच दिन का खेल. वो भी तब ज़िन्दगी ही चार दिन की होती है. पांच दिन आपको अपने तन और मन से खेल में घुसे रहना पड़ता है. बदले में धन जो मिलता है, सो मिलता है. हर किसी का टेस्ट हो रहा होता है. खिलाड़ी, अम्पायर, पिच बनाने वाले, कमेंट्रेटर, कैमरापर्सन. सभी का. सारा खेल इस बात का होता है कि आप कितनी देर चीज़ों पर ध्यान लगा सकते हैं. ध्यान भटका और गड़बड़ हुई. यहां आप एक जगह 10 मिनट बैठ नहीं सकते हैं, वहां आपको पांच दिन एक ही जगह दिमाग लगाये रखना होता है. आपको एक एक बारीक बात का ख्याल रखना पड़ता है.

जब आप बैटिंग कर रहे होते हैं तब तो ये सब कुछ और भी ज़रूरी हो जाता है. खासकर तब जब आप चौथी इनिंग्स में अपनी टीम को बचाने के लिए बैटिंग कर रहे हों. इंडिया और श्रीलंका के बीच चल रहे तीसरे और आखिरी टेस्ट मैच में इंडिया ने श्रीलंका को 410 रनों का टार्गेट दिया था. श्री लंका ने चौथा दिन ख़त्म होने तक 3 विकेट गंवा दिए थे. लग ऐसा रहा था कि इंडिया तीसरे सेशन की शुरुआत तक श्रीलंका को निपटा देगी. लेकिन ऐसा हुआ नहीं. मैच ड्रॉ हुआ. चौथी इनिंग्स में धनंजय डिसिल्वा की सेंचुरी और रोशन सिल्वा के 74 रनों की बदौलत श्रीलंका ने मैच ड्रॉ करवा लिया.

इस इनिंग्स के दौरान मैच के एकदम आखिरी हिस्से में जब श्रीलंका ड्रॉ की ओर कदम बढ़ाती दिख रही थी और इंडियन बॉलर्स ज़्यादा असरदार साबित नहीं हो रहे थे, विराट कोहली ने सेट हो चुके बैट्समेन के ध्यान को भटकाने की एक आख़िरी कोशिश की. वो रहाने और पुजारा के बीच में स्लिप्स में खड़े हुए थे. इन तीनों ने बैट्समैन के पीछे से जोर जोर से तालियां बजानी शुरू कीं. इनकी तालियों का शोर पूरे स्टेडियम में गूंजने लगा. इन्हें देख दिल्ली की जनता ने भी शोर मचाना शुरू किया. ये एक तरीका था सेट हो चुके बैट्समेन को एल ऐसा माहौल देना जो उसके ख़िलाफ़ भी था और काफी बदला हुआ भी था क्यूंकि काफी देर से वो शांत हो चुके दर्शकों के बीच में खेल रहे थे. साथ ही इसने तेज़ गेंदबाज इशांत शर्मा को भी ऊर्जा से भर दिया जो उस वक़्त गेंद थामे हुए थे. उन्होंने दो गेंदों में ही एक गेंद रोशन सिल्वा के पैड्स पर दे मारी.

मैच अपने आखिरी घंटे में पहुंचकर दोनों कप्तानों की आपसी सहमति के बाद ड्रॉ क़रार दे दिया गया. श्रीलंका ने पांच विकेट खोकर 299 रन बनाये. सीरीज़ ख़त्म होने पर इंडिया ने 1-0 से सीरीज़ जीती. विराट कोहली को मैन-ऑफ़-द-मैच और मैन-ऑफ़-द-सीरीज़ क़रार दिया गया.


 ये भी पढ़ें:

रवीन्द्र जडेजा को सबसे बड़ा बर्थडे गिफ्ट तो अम्पायर ने दिया

‘डिक्लेयर कब करें?’ इस सवाल के लिए एक प्लेयर शास्त्री और कोहली के बीच कबूतर बना हुआ था

जब कोहली और दिल्ली की जनता श्रीलंका के प्लेयर के लिए ताली बजा रहे थे

साहा के अलावा कल एक और बेहतरीन कैच लिया गया था

 

लल्लनटॉप न्यूज चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं !

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें
Virat Kohli asks crowd to gear up and back the bowler in order to intimidate Sri Lanka batsman

10 नंबरी

पंकज कपूर का ये फेमस सीरियल वेब सीरीज़ बनकर आ रहा है, उसका ट्रेलर आ गया!

जानिए कौन किसका किरदार निभा रहा है.

ABCD 3 में वरुण धवन और कटरीना कैफ के अलावा और क्या-क्या होगा, हम आपको बता रहे हैं

इस फिल्म का सलमान खान कनेक्शन भी जान लीजिए.

वो इंडियन डायरेक्टर जिसने अपनी फिल्म बनाने के लिए हैरी पॉटर सीरीज़ की फिल्म ठुकरा दी

आज अपना 61 वां बड्डे मना रही हैं मीरा नायर

सुबह लगा था कि मैच दो दिन और चलेगा, शाम होते-होते 16 विकेट गिर गए

करीब 19 साल बाद पहली बार एक काम हुआ है.

क्या पृथ्वी शॉ और ऋषभ पंत टेस्ट क्रिकेट को पलट कर रख देने वाले हैं?

क्या मजेदार बल्ला चलाते हैं दोनों.

अशोक कुमार की 32 मज़ेदार बातेंः इंडिया के पहले सुपरस्टार थे पर कहते थे 'भड़ुवे लोग हीरो बनते हैं'

महान एक्टर दिलीप कुमार उनको भैय्या कहते थे और उनसे पूछ-पूछकर सीखते थे.

एयरफोर्स डे: पहले एयरफोर्स मार्शल अर्जन सिंह के 4 किस्से, जो शरीर में खून की गर्मी बढ़ा देंगे

लाख चाहने के बावजूद अंग्रेज इनके खिलाफ कोर्ट मार्शल में कोई एक्शन नहीं ले पाए थे.

राज कुमार के 42 डायलॉगः जिन्हें सुनकर विरोधी बेइज्ज़ती से मर जाते थे!

हिंदी सिनेमा में सबसे ज्यादा अकड़ किसी सुपरस्टार के किरदारों में थी तो वो इनके.

एक प्रेरक कहानी जिसने विनोद खन्ना को आनंदित होना सिखाया

हिंदी फिल्मों के इन कद्दावर अभिनेता के जन्मदिन पर आज पढ़ें उनके 8 किस्से.

भारत ने रूस से कहा- सौ साल पहले हमें तुमसे प्यार था, आज भी है और कल भी रहेगा

10 बातों में जानिए मोदी जी और पुतिन की मीटिंग से हमें क्या फायदा हुआ.