Submit your post

रोजाना लल्लनटॉप न्यूज चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं !

Follow Us

बनारस हादसे में मरे लोगों के पोस्टमॉर्टम के पैसे मांगने वाले ये लोग इंसान हैं या जानवर?

3.45 K
शेयर्स

जीतेंद्र यादव. रहने वाले जौनपुर के हैं. 15 मई की शाम को टीवी पर उन्हें खबर दिखी कि वाराणसी में फ्लाईओवर का एक हिस्सा गिर गया है, जिसमें 18 लोगों की मौत हो गई है. खबर सुनने के बाद जीतेंद्र अपने ड्राइवर रघुनाथ बहेलिया को फोन करने लगे, जो अपने परिवार के साथ इलाज के लिए वाराणसी आया था. रघुनाथ का फोन नहीं लगा, जिसके बाद जीतेंद्र 16 मई की सुबह करीब 6 बजे वाराणसी पहुंचे. हादसे वाली जगह पर जाकर उन्होंने देखा कि उनकी भी बोलेरो गाड़ी हादसे का शिकार हो गई है.

जीतेंद्र यादव, जिन्होंने वीडियो बनाकर दिखाया कि पोस्टमॉर्टम के लिए पैसे लिए जा रहे हैं. (फोटो : ABP)

इसके बाद वो बीएचयू की इमरजेंसी में गए, जहां कोई जानकारी नहीं मिल पाई. ट्रॉमा सेंटर में भी रघुनाथ या किसी के भर्ती होने की जानकारी नहीं मिली तो वो पोस्टमॉर्टम हाउस पहुंचे. वहां उन्होंने देखा कि उनके ड्राइवर रघुनाथ की मौत हो गई है. हादसे में रघुनाथ के अलावा रघुनाथ की पत्नी विद्या, बेटा अरुण, बहनोई रामचेत और पड़ोसी रामचंद्र की भी मौत हो गई है.

पोस्टमॉर्टम करने वाले कर्मचारियों ने शवों को उठाने के लिए पैेसे लिए.
पोस्टमॉर्टम करने वाले कर्मचारियों ने शवों को उठाने के लिए पैेसे लिए.

जीतेंद्र के मुताबिक जब उन्होंने अपने ड्राइवर और उसके परिवार के लोगों का पोस्टमॉर्टम करवाने और शवों को घर ले जाने की बात की, तो अस्पताल में मौजूद कर्मचारियों ने पोस्टमॉर्टम के लिए 300-300 रुपये मांगे. जीतेंद्र ने पैसे दे दिए. इस दौरान उन्होंने देखा कि गाजीपुर के एक परिवार के चार लोगों की मौत हो गई है. परिवार से पोस्टमॉर्टम के लिए 400-400 रुपये मांगे जा रहे हैं.

पैसे लेने के बाद कर्मचारियों ने पोस्टमॉर्टम किया. बाद में उन्हें सस्पेंड कर दिया गया.
पैसे लेने के बाद कर्मचारियों ने पोस्टमॉर्टम किया. बाद में उन्हें सस्पेंड कर दिया गया.

जीतेंद्र ने इसका वीडियो बना लिया. जब ये वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ, तो पोस्टमॉर्टम के लिए पैसे मांगने वाले कर्मचारी को सस्पेंड कर दिया गया. वहीं वाराणसी के डीएम योगेश्वर राम मिश्रा ने कार्रवाई का आश्वासन देते हुए पल्ला झाड़ लिया.

ये भी पढ़ें:

मुख्यमंत्रीजी! अब आपको भ्रष्टाचार के कितने सबूत चाहिए?

बनारस में गाड़ियों के ऊपर गिरा 100 टन वजनी पुल, 18 लोग मर गए

जब एक रहस्यमयी ज्योतिषी ने कुमारस्वामी से कहा – ‘तुम्हारे मुख्यमंत्री बनने का ये सबसे सही समय है’

कर्नाटक के मुख्यमंत्री: एच डी देवेगौड़ा – जिन्हें एक नाटकीय घटनाक्रम ने देश का प्रधानमंत्री बनाया

18वीं सदी का राजा टीपू सुल्तान क्यों 2018 के चुनाव में बन गया मुद्दा?

वो छह सीटें जहां कर्नाटक के मुख्यमंत्री रहे चार नेताओं की इज़्ज़त दांव पर लगी है

कांग्रेस के इस दलित नेता की मुख्यमंत्री बनने की हसरत फिर अधूरी रह गई!

कर्नाटक के मुख्यमंत्री: धरम सिंह – जिनको इंदिरा गांधी ने 1 लाख वोटों से जीती सीट छोड़ने को कहा

जो शीराहट्टी जीता, वो कर्नाटक जीता! ये कहावत इस बार सच हो रही है क्या?

लल्लनटॉप न्यूज चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं !

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें
Varanasi Accident : Flyover collapsed 18 people killed and BHU demanded 300 rupees for postmortem of dead bodies

10 नंबरी

पाकिस्तान पर 12 साल राज करने वाला हिंदुस्तानी

हॉलीवुड की बड़ी फिल्म में पाकिस्तानी डिक्टेटर जनरल ज़िया-उल-हक़ का रोल करने के लिए मेकर्स ने किसी पाक एक्टर को नहीं ओम पुरी को चुना.

पंकज कपूर का ये फेमस सीरियल वेब सीरीज़ बनकर आ रहा है, उसका ट्रेलर आ गया!

जानिए कौन किसका किरदार निभा रहा है.

ABCD 3 में वरुण धवन और कटरीना कैफ के अलावा और क्या-क्या होगा, हम आपको बता रहे हैं

इस फिल्म का सलमान खान कनेक्शन भी जान लीजिए.

सुबह लगा था कि मैच दो दिन और चलेगा, शाम होते-होते 16 विकेट गिर गए

करीब 19 साल बाद पहली बार एक काम हुआ है.

क्या पृथ्वी शॉ और ऋषभ पंत टेस्ट क्रिकेट को पलट कर रख देने वाले हैं?

क्या मजेदार बल्ला चलाते हैं दोनों.

अशोक कुमार की 32 मज़ेदार बातेंः इंडिया के पहले सुपरस्टार थे पर कहते थे 'भड़ुवे लोग हीरो बनते हैं'

महान एक्टर दिलीप कुमार उनको भैय्या कहते थे और उनसे पूछ-पूछकर सीखते थे.

एयरफोर्स डे: पहले एयरफोर्स मार्शल अर्जन सिंह के 4 किस्से, जो शरीर में खून की गर्मी बढ़ा देंगे

लाख चाहने के बावजूद अंग्रेज इनके खिलाफ कोर्ट मार्शल में कोई एक्शन नहीं ले पाए थे.

राज कुमार के 42 डायलॉगः जिन्हें सुनकर विरोधी बेइज्ज़ती से मर जाते थे!

हिंदी सिनेमा में सबसे ज्यादा अकड़ किसी सुपरस्टार के किरदारों में थी तो वो इनके.

एक प्रेरक कहानी जिसने विनोद खन्ना को आनंदित होना सिखाया

हिंदी फिल्मों के इन कद्दावर अभिनेता के जन्मदिन पर आज पढ़ें उनके 8 किस्से.