Submit your post

Follow Us

कोविड काल में इन देशों ने भारत के लिए बड़ी मदद भेजी है

कोविड-19 की दूसरी लहर का भारत पर बहुत बुरा असर पड़ा है. देश की चिकित्सा व्यवस्था चरमरा गई है. भारत के हालात पर विदेशों की भी नज़र बनी हुई है. इस मुश्किल वक्त में कई देशों ने भारत की तरफ मदद का हाथ बढ़ाया है.

चलिए एक नज़र डालते हैं कि किस देश ने भारत के लिए क्या मदद भेजी हैः

UK से वेंटिलेटर

UK से वेंटिलेटर की एक खेप भारत भेजी गई है. इसी वीकेंड में इस खेप के पहुंच जाने की उम्मीद है. इसके अलावा 400 से ज़्यादा ऑक्सीजन कॉन्सेंट्रेटर भी भेजे जा रहे हैं. ये होम क्वारंटीन में रह रहे मरीजों के लिए ऑक्सीजन सिलेंडर के विकल्प के तौर पर काम करेंगे, जो हवा से ऑक्सीजन खींचकर उसे प्यूरीफाई करते हैं. वेंटिलेटर कितने आ रहे हैं, ये अभी स्पष्ट नहीं है. इसकी संख्या करीब 150 तक हो सकती है. UK के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने एक स्टेटमेंट जारी किया,

“कोविड-19 का ये समय काफी मुश्किल भरा है. हम इस दौरान अपने दोस्त भारत के साथ कदम से कदम मिलाकर खड़े हैं.”

Uk
UK से आए तमाम ऑक्सीजन कंसंट्रेटर 29 अप्रैल की सुबह भारत पहुंच भी गए. (फोटो- PTI)

अमेरिका से रॉ मटेरियल

भारत में सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया में कोविशील्ड के अलावा एक और वैक्सीन बन रही है- कोवैक्स. इसका काम अभी अंडर प्रोसेस है. इसके लिए अमेरिका से रॉ मटेरियल चाहिए थे. लेकिन अमेरिका ने ये कहते हुए मटेरियल भेजने से मना कर दिया था कि वो पहले अपने देश की ज़रूरतें पूरी करेंगे. बाद में विवाद हुआ तो अमेरिका ने ये बैन हटा लिया. अब रॉ मटेरियल भारत भेज रहा है. इसके अलावा वहां से तमाम प्रोटेक्टिव गियर जैसे PPE किट्स वगैरह भी आ रही हैं.

Usa
अमेरिकी एयरफोर्स का विमान 30 अप्रैल को काफी मदद सामग्री लेकर भारत पहुंचा. (फोटो- AP)

फ्रांस से भी मदद

फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने ट्वीट करके बताया था कि वहां से भारत के लिए मेडिकल उपकरण, वेंटीलेटर और ऑक्सीजन जनरेटर भेजे जा रहे हैं. ये जनरेटर हवा को खींचकर ऑक्सीजन उत्पादन कर सकेंगे. मैक्रों का कहना है कि ये जनरेटर किसी भी अस्पताल को ऑक्सीजन के मामले में लंबे समय तक आत्मनिर्भर रख सकेंगे.

France
फ्रांस के राष्ट्रपति मैक्रों ने जल्द से जल्द भारत के लिए मदद भेजने का आश्वासन दिया है. (फाइल फोटो- AP)

UAE से ऑक्सीजन टैंकर

कोविड की दूसरी वेव के बीच भारत को सबसे पहले मदद भेजने वाले देशों में संयुक्त अरब अमीरात का नाम था. UAE ने भारत की मदद के लिए हाई कैपैसिटी ऑक्सीजन टैंकर भेजे हैं. एयरलिफ्ट करके ये टैंकर भारत लाए गए. देश में बढ़ते ऑक्सीजन संकट के बीच ये मदद काफी अहम रही.

Uae Help
शुक्रवार को भी UAE से 150 से अधिक ऑक्सीजन कंसंट्रेटर भेजे गए. (फोटो- ANI)

रूस से वेंटिलेटर और मेडिकल सामान

29 अप्रैल को रूस से भी काफी मदद सामग्री भारत पहुंची है. वहां से 20 ऑक्सीजन कंसंटेटर, 75 वेंटिलेटर, 150 बेडसाइड मॉनिटर और तमाम दवाइयां भारत आई हैं. इसकी जानकारी विदेश मंत्रालय ने भी ट्वीट करके दी. इसके अलावा मई के पहले हफ्ते में ही रूस से कोविड वैक्सीन स्पुतनिक-वी भी भारत आने वाली है. भारत में इसके इस्तेमाल को अप्रूवल दे दिया गया है.

Russia
रूस से मदद के तौर पर आया मेडिकल सामान 29 अप्रैल को भारत पहुंचा. (फोटो- PTI)

इसके अलावा सिंगापुर से भी भारत के लिए 250 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर, मेडिकल इक्विपमेंट्स और तमाम अन्य सप्लाई भेजी गई हैं.

वहीं, जर्मनी ने भी भारत को मदद की पेशकश की है. ऑस्ट्रेलिया की विदेश मंत्री मेरिस पायने (Marise Payne) ने भी भारत की मदद का भरोसा दिया है. उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा कि भारत ने हमें वैक्सीन उपलब्ध कराई थी. हम लोग साथ काम करेंगे और इस वैश्विक महामारी से निपटेंगे. रूस से भी रेमडेसिविर इंजेक्शन को लेकर बात हो रही है. यूरोपियन यूनियन ने भी कहा है कि वे भारत को किसी भी समय ऑक्सीजन सप्लाई देने के लिए तैयार हैं.


इंडिया में कोरोनावायरस से दो लाख से अधिक की मौत, विदेशी मीडिया ने क्या लिखा?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

पोस्टमॉर्टम हाउस

वेब सीरीज़ रिव्यू: कार्टेल

वेब सीरीज़ रिव्यू: कार्टेल

क्या 'कार्टेल' में कुछ नया देखने को मिला या एक बार सेम ओल्ड गैंगस्टर स्टफ ने पका दिया?

मूवी रिव्यू: 200 हल्ला हो

मूवी रिव्यू: 200 हल्ला हो

उस सच्ची घटना पर आधारित फिल्म, जहां 200 औरतों ने एक आदमी को कोर्ट में घुस कर मार डाला.

नेटफ्लिक्स की नई सीरीज़ का ट्रेलर कैसा है, जिसमें हथौड़ा त्यागी पुतले से प्यार कर रहे हैं

नेटफ्लिक्स की नई सीरीज़ का ट्रेलर कैसा है, जिसमें हथौड़ा त्यागी पुतले से प्यार कर रहे हैं

तीन दिग्गज डायरेक्टर अपनी-अपनी कहानियां एक सीरीज़ में लेकर आ रहे हैं.

शॉर्ट फ़िल्म रिव्यू: नियति चक्र

शॉर्ट फ़िल्म रिव्यू: नियति चक्र

टाइम ट्रेवल पर बनी ये शॉर्ट फ़िल्म कैसी है?

फिल्म रिव्यू- बेल बॉटम

फिल्म रिव्यू- बेल बॉटम

'बेल बॉटम' की सबसे अच्छी बात ये लगती है कि ये अक्षय कुमार ब्रांड ऑफ लाउड देशभक्ति सिनेमा नहीं बनती.

कंडोम खरीदने की हिचकिचाहट पर बनी अपारशक्ति खुराना की नई फ़िल्म 'हेलमेट' का ट्रेलर कैसा है?

कंडोम खरीदने की हिचकिचाहट पर बनी अपारशक्ति खुराना की नई फ़िल्म 'हेलमेट' का ट्रेलर कैसा है?

मेडिकल स्टोर पर कंडोम मांगने से डरते हो, तो ये फ़िल्म आपके लिए है.

फिल्म रिव्यू- भुज: द प्राइड ऑफ इंडिया

फिल्म रिव्यू- भुज: द प्राइड ऑफ इंडिया

ये फिल्म ज़्यादा से ज़्यादा लोगों को देखनी चाहिए.

फ़िल्म रिव्यू: नेत्रिकन

फ़िल्म रिव्यू: नेत्रिकन

कोरियाई थ्रिलर फिल्म का रीमेक है 'नेत्रिकन'.

मूवी रिव्यू: शेरशाह

मूवी रिव्यू: शेरशाह

क्या कैप्टन विक्रम बत्रा की कमाल कहानी के साथ करन जौहर एंड कंपनी ने न्याय किया है?

फ़िल्म रिव्यू : कुरुति

फ़िल्म रिव्यू : कुरुति

कैसी है ये सस्पेंस थ्रिलर फिल्म?