Submit your post

Follow Us

गुजरात में दलित कपल को नंगा कर घुमाया, वीडियो बनाया. मगर क्या ये खबर सच है?

अपने यहां पब्लिक की याद्दाश्त इतनी कमज़ोर होती है कि एक ही खबर तीस बार अलग अलग पैकेजिंग से चलाई जा सकती है. तथ्यों में हेरफेर कर के एक पूरी नई खबर गढ़ी जा सकती है. फिर बस एक काम बचता है – उसे सोशल मीडिया पर चिपकाना. यहां खबर चलती नहीं है, वायरल होती है. लोग बिना तस्दीक किए ‘खबर’ शेयर कर देते हैं, राय बना लेते हैं.

 

 

ऐसा ही एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है जिसके आधार पर ‘गुजरात मॉडल’ पर सवाल उठाया जा रहा है. उस वीडियो के कुछ स्क्रीनशॉट हम यहां दे रहे हैंः

 

sc1

 

वीडियो में एक लड़के और लड़की को निर्वस्त्र कर के घुमाया जा रहा है. पहले लड़की को लड़के के कंधे पर बैठने पर मजबूर किया जाता है, फिर लड़के को लड़की के कंधे पर बैठाया जाता है.

 

sc2

 

उन्हें घुमाते हुए लोग ढोल पीट रहे हैं, शोर मचा रहे हैं. जब वो गिर जाते हैं तो उन्हें पीटा जाता है. इसी भीड़ में से कुछ लोग वीडियो बना रहे हैं.

 

 

sc3

 

फेसबुक पर इस वीडियो को शेयर करते वक्त सवाल किया गया है, कब रुकेगा दलितों पर अत्याचार? इस तरह देखने पर ये लगता है कि ये ऊना कांड की तरह की ही एक और घटना है जिसमें दलितों पर अगड़ी जातियों के लोगों ने अत्याचार किए हैं.

 

fb

गुजरात में साल के अंत में चुनाव होने वाले हैं. वहां ऊना कांड जैसी घटनाएं भी हुई हैं जिनके बाद राज्य में दलितों पर होने वाले अत्याचार पर देशभर की नज़र पड़ी. यही वजह है कि दलितों पर अत्याचार के बताए जा रहे इस वीडियो को अब तक 66000 से ज़्यादा बार देखा जा चुका है और 1100 से ज़्यादा बार शेयर किया जा चुका है.

असल बात ये है

लल्लनटॉप ने इस वीडियो का तियां-पाचा मालूम किया. तब मालूम चला कि गुजरात मॉडल पर सवाल उठाते हुए शेयर किया गया ये वीडियो दरअसल गुजरात का है ही नहीं. वीडियो राजस्थान के बांसवाड़ा का है. 19 अप्रैल 2017 को यहां के शंभूपुरा गांव में कचरू और कंचन (बदला हुआ नाम) को निर्वस्त्र कर के गांव भर घुमाया गया था और उनके साथ मारपीट हुई थी.

मारपीट करने वालों में लड़के और लड़की के पिता, चाचा और दूसरे रिश्तेदार भी शामिल थे. इन्होंने अपने ही बच्चों के साथ ऐसा इसलिए किया क्योंकि ये दोनों एक दूसरे से प्यार करते थे. दोनों आदिवासी समाज से आते थे और गुजरात में दिहाड़ी मजदूरी का काम करते थे, जहां इन्हें एक दूसरे से प्यार हुआ और इन्होंने शादी करने का मन बना लिया. ये बात इन्होंने अपने घर नहीं बताई क्योंकि इन्हें लगता था कि इनके मां-बाप इस रिश्ते की इजाज़त नहीं देंगे. जब लड़की के रिश्ते की बात कहीं और चली, तो दोनों भाग गए. गांव वालों ने पुलिस को खबर करने की बजाए खुद इन्हें ढूंढा और गांव ले आए. इनके रिश्ते को गांव की बेइज़्ज़ती समझा गया. और इस ‘जुर्म’ के लिए इन्हें गांव भर निर्वस्त्र कर के घुमाने की ‘सज़ा’ सुनाई गई. कुछ लोगों ने इस कवायद का वीडियो बनाया और सोशल मीडिया पर अपलोड कर दिया.

वीडियो वायरल होने पर पुलिस तक पहुंचा और फिर पुलिस ने इस मामले में 18 लोगों की गिरफ्तारी की. 20 और 21 अप्रैल को इस घटना की कवरेज स्थानीय और राष्ट्रीय मीडिया ने की थीः

बीबीसी हिंदी

bbc

 

कोबरा पोस्ट

 

cobra post

 

न्यूज़ 18

 

news 18

 

कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में कहा गया कि लड़का और लड़की अलग-अलग जातियों से आते थे. कुछ जगह कहा गया कि दोनों चचेरे भाई बहन थे. दोनों सूरतों में रिश्ता ‘समाज’ को मंज़ूर नहीं था. लेकिन कुछ बातें बिलकुल साफ हो जाती हैंः

1. वीडियो वाला वाकया राजस्थान का है, गुजरात का नहीं.

2. वीडियो में दिख रहा जोड़ा दलित नहीं बल्कि आदिवासी समाज से आता है.

3. मामला अगड़ी जातियों के दलितों पर अत्याचार का नहीं बल्कि अपनी मर्ज़ी से साथी चुनने वालों को ‘सबक’ सिखाने का था.

ये सब कहने का मतलब ये कतई नहीं है कि वाकया गुजरात का नहीं है तो उसे हल्के में लिया जाए या फिर एक दलित जोड़े की जगह एक आदिवासी जोड़े को निर्वस्त्र कर के पीटा जाना कम निंदनीय है. प्यार करने की सज़ा के तौर पर किसी को इस तरह से शर्मसार करना हर तरह से गलत है. लेकिन ‘गुजरात’ और ‘दलित’ शब्द इस वाकये को एक बहुत दूसरा मतलब दे देते हैं.

तो कुल जमा बात ये रही कि इस वीडियो को गुजरात में दलितों पर हो रहे अत्याचार का नमूना बताने वाले आपको बरगला रहे हैं.


ये भी पढ़ेंः

अगर इस्लाम कबूलने से समस्याएं हल होती हैं, तो पूरे मुल्क को इस्लाम कबूल लेना चाहिए

इस वीडियो को देखकर यकीन होता है कि मौत से पहले इंसान को कोई नहीं मार सकता

वो जुर्म जिसके चलते एक हाथी को फांसी दे दी गई

फिजेट स्पिनर, जिसे स्ट्रेस की दवा बताकर बेचा जा रहा है जबकि असल काम कुछ और है

‘CRPF जवान को मारते मुसलमान’ वाले वीडियो की सच्चाई ये है!

 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

10 नंबरी

भारतीय सिनेमा के वो 6 किरदार जो 2021 में हमारे दिमाग में अटक गए

भारतीय सिनेमा के वो 6 किरदार जो 2021 में हमारे दिमाग में अटक गए

कोई अपनी फन की वजह से याद रहा, तो कोई अपनी सनक की वजह से. कोई सिर्फ इसलिए याद रहा क्योंकि वो रेगुलर से अलग था.

साल भर चर्चा में रहे ये 10 यू-ट्यूबर्स, किसी को बॉलीवुड में काम मिला तो किसी के खिलाफ FIR हुई

साल भर चर्चा में रहे ये 10 यू-ट्यूबर्स, किसी को बॉलीवुड में काम मिला तो किसी के खिलाफ FIR हुई

इनमें से कितनों को आप फॉलो करते हैं?

नसीरुद्दीन शाह ने मुगलों के लिए क्या कह दिया कि लोग भड़क गए

नसीरुद्दीन शाह ने मुगलों के लिए क्या कह दिया कि लोग भड़क गए

नसीर ने देश में बहुत जल्द गृह युद्ध होने की भी आशंका जताई.

अमेज़न प्राइम पर 2021 में रिलीज़ हुए ये शोज़ और फ़िल्में हर कीमत पर देख डालें

अमेज़न प्राइम पर 2021 में रिलीज़ हुए ये शोज़ और फ़िल्में हर कीमत पर देख डालें

2021 में अमेज़न प्राइम पर रिलीज़ हुआ बेस्ट कॉन्टेंट.

2021 की वो 12 नन्हीं, प्यारी फिल्में जो आपकी वॉचलिस्ट पर होनी ही चाहिए

2021 की वो 12 नन्हीं, प्यारी फिल्में जो आपकी वॉचलिस्ट पर होनी ही चाहिए

कुछ दिल खुश कर देंगी, कुछ को देख दिमाग फिरेगा.

2021 में ज़ी5 पर जो भी रिलीज़ हुआ, उनमें ये सीरीज़ और फ़िल्में मस्ट वॉच हैं

2021 में ज़ी5 पर जो भी रिलीज़ हुआ, उनमें ये सीरीज़ और फ़िल्में मस्ट वॉच हैं

तमिल, पंजाबी, तेलुगु, हिंदी हर भाषा के शोज़ और फ़िल्में हैं इस लिस्ट में.

क्या अक्षय की फ़िल्म में हिंदू आस्था का मजाक उड़ाया गया है?

क्या अक्षय की फ़िल्म में हिंदू आस्था का मजाक उड़ाया गया है?

ट्विटर पर लोग बॉयकॉट की मांग कर रहे हैं.

क्या शहनाज़ पर कमेंट करते हुए आसिम ने हद पार कर दी?

क्या शहनाज़ पर कमेंट करते हुए आसिम ने हद पार कर दी?

आसिम के इस ट्वीट पर लोग भड़के हुए हैं.

डिज़्नी+हॉटस्टार पर 2021 में रिलीज़ हुईं ये 20 फ़िल्में और शोज़ भूले से भी मिस मत करिएगा

डिज़्नी+हॉटस्टार पर 2021 में रिलीज़ हुईं ये 20 फ़िल्में और शोज़ भूले से भी मिस मत करिएगा

एक से एक बेहतरीन शोज़ और फ़िल्में आई हैं इस साल यहां.

2021 में स्पोर्ट्स पर बनी 13 कमाल की फिल्में, जिन्हें देख भीतर का एथलीट जाग जाएगा

2021 में स्पोर्ट्स पर बनी 13 कमाल की फिल्में, जिन्हें देख भीतर का एथलीट जाग जाएगा

इसमें खो खो और रस्सा खींच जैसे खेल भी शामिल हैं.