Submit your post

रोजाना लल्लनटॉप न्यूज चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं !

Follow Us

क्या राम मंदिर के लिए बटोरी गई ईंटों से नाली बनवाई जा रही है?

6.22 K
शेयर्स

पिछले कुछ दिनों से राम मंदिर का मुद्दा फिर से गरम है. सुप्रीम कोर्ट की संवैधानिक पीठ इसकी सुनवाई शुरू करने वाली है. तमाम पार्टियां इससे जुड़ी बयानबाजी करती रही हैं. इसके बीच एक ऐसी तस्वीर वायरल हो रही है, जिसमें नाली के किनारे श्रीराम लिखी ईंटें दिख रही हैं.

भयानक वायरल हो रही है
भयानक वायरल हो रही है

पोस्ट शेयर करने वालों का दावा है कि राम मंदिर बनवाने के लिए बटोरी गई ईंटों से नाली बनवाई जा रही है. ऐसे ही मिलते-जुलते कैप्शन के साथ ये तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है.

ईंटों पर मोटे-मोटे अक्षरों में 'श्रीराम' लिखा है
ईंटों पर मोटे-मोटे अक्षरों में ‘श्रीराम’ लिखा है

इस तस्वीर को शेयर करने वाले बीजेपी और योगी सरकार को बहुत ही बुरा-भला कह रहे हैं, कह रहे हैं कि राम मंदिर तो बनवा नहीं पाए, ईंटों से नाला बनवा रहे हैं. एक और तस्वीर देखिए.

हर तरफ गुस्से के साथ लोग इसे शेयर कर रहे हैं
हर जगह बीजेपी और योगी सरकार पर लोग गुस्सा निकाल रहे हैं

तस्वीर में ये तो साफ दिखता है कि नाली बनाने के काम में जो ईंटें इस्तेमाल की गई हैं, उन पर श्रीराम लिखा हुआ है. लेकिन ईंट के बारे में थोड़ी भी जानकारी रखने वाला बता देगा कि ईंटों पर ऐसा नाम वो छापा जाता है, जो ईंट-भट्ठे का नाम होता है.

नाला बनाने के लिए बिल्कुल नई ईटों का इस्तेमाल हुआ है
नाला बनाने के लिए बिल्कुल नई ईटों का इस्तेमाल हुआ है

इसके बारे में खोजने पर हमें ‘मुरारी स्वामी’ नाम का एक फेसबुक पेज मिला. इस पेज पर वही फोटो थी. लेकिन वहां जगह अयोध्या से 301 किलोमीटर दूर शाहजहांपुर बताई गई थी. इस पोस्ट के मुताबिक शाहजहांपुर नगर निगम नाली बनवा रहा था, जिसमें श्रीराम मार्का ईंटों का इस्तेमाल हो रहा था. पोस्ट में दो बातों पर नाराजगी जताई गई थी. एक नाली बनाने में मानक के मुताबिक सीमेंट आदि का इस्तेमाल न करने पर. और दूसरा श्रीराम मार्का ईंट इस्तेमाल करने पर. पोस्ट में इंडियन ऑपिनियन समाचार पत्र के लिए शाहजहांपुर से मनोज मिश्र की रिपोर्ट का हवाला दिया गया था. इस पोस्ट में न तो अयोध्या का जिक्र था और न ही राम मंदिर के लिए बटोरी गई ईंटों का.

शाहजहांपुर का ज़िक्र इसी पोस्ट में है
इस पोस्ट में शाहजहांपुर का ज़िक्र है, जहां से हमें आगे की पड़ताल का क्लू मिला

ये नाली शाहजहांपुर की ही निकली

हमारी बात शाहजहांपुर में आज तक से जुड़े पत्रकार विनय से हुई. इस पोस्ट में स्टेशन रोड का ज़िक्र था. विनय स्टेशन रोड गए. वहां जलाल नगर गली में जाने पर पता चला कि वाकई में नाली का निर्माण हो रहा है और निर्माण कार्य में जिन ईंटों का इस्तेमाल हुआ है, उन पर श्रीराम लिखा है.

ये तस्वीर हमारे शाहजहांपुर में आज तक से जुड़े पत्रकार विनय ने भेजी
ये तस्वीर हमारे शाहजहांपुर में आज तक से जुड़े पत्रकार विनय ने भेजी

विनय ने हमें कई तस्वीरें भेजीं. उन्होंने स्थानीय लोगों से बात की, जिससे पता चला कि वो ईंटें पास के ही भट्ठे से मंगवाई गई थीं.

ये तस्वीर हमारे शाहजहांपुर में आज तक से जुड़े पत्रकार विनय ने भेजी
ये तस्वीर हमारे शाहजहांपुर में आज तक से जुड़े पत्रकार विनय ने भेजी

यानी इन ईंटों का वास्ता न अयोध्या से है, न ये राम-मंदिर के लिए बटोरी गई थीं.

देखा होगा आपने जब आपके आसपास भी जब कुछ बनता है, तो उनमें इस्तेमाल होने वाली ईंटों पर अलग-अलग तरह के नाम छपे होते हैं. हालांकि महानगरों में तो अब दूसरी तरह की ईंटें आने लगी हैं, लेकिन कई जगह पर मार्का वाली ईंटें ही आती हैं.

वैसे बात जब राममंदिर के लिए बटोरी गई ईंटों की हुई, तो हम उस बारे में भी बता दें. साल 1988 के दौरान जब राम मंदिर निर्माण की आवाज़ पूरे देश में काफी ज़ोर-शोर से उठ रही थी. तब देश में तमाम लोगों ने मंदिर निर्माण के लिए ईंट इकट्ठी की. फिर अगले साल यानी 9 नवंबर, 1989 को उन ईंटों के इस्तेमाल से राम चबूतरे का शिलान्यास भी किया गया था.

राम मंदिर निर्माण के लिए इकट्ठा की गई ईंटों की सही तस्वीर
राम मंदिर निर्माण के लिए इकट्ठा की गई ईंटों की सही तस्वीर

तो हमारी पड़ताल में वायरल हो रही तस्वीर के साथ लिखी बात बिल्कुल झूठ साबित हुई.

अगर आपके पास भी ऐसी कोई पोस्ट, फोटो, वीडियो या मैसेज है जिस पर आपको शक है तो आप उसे  lallantopmail@gmail.com,  फेसबुक पर हमारे वेरिफाइड पेज The Lallantop और हमारे वेरिफाइड ट्विटर हैंडल @TheLallantop पर भेज सकते हैं. हम उसकी पड़ताल कर सच्चाई पता करेंगे.

लल्लनटॉप न्यूज चिट्ठी पाने के लिए अपना ईमेल आईडी बताएं !

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें
Truth behind viral images of Shree Ram bricks used for sewage construction

10 नंबरी

इन पांच चुनौतियों को पार करें, तभी कोई चमत्कार दिखा पाएंगी प्रियंका गांधी वाड्रा

प्रियंका गांधी वाड्रा की कांग्रेस में ऑफिशियल एंट्री हो गई है.

जब मैदान पर सांप घुस आया, खेल रोकना पड़ा और बल्लेबाज बैट लेकर सांप को मारने दौड़ पड़ा

जानिए ऐसी ही 7 विचित्र घटनाएं जब अजीबोगरीब वजहों से मैच रोका गया.

ऑस्कर 2019 में नॉमिनेट हुई फिल्मों की लिस्ट यहां देखें

भारतीय समय अनुसार 25 फरवरी की सुबह 91वें ऑस्कर्स के विजेताओं को अवॉर्ड मिलेंगे.

परेश रावल के बेटे का अनुराग कश्यप करेंगे 'बमफाड़' डेब्यू

ये एक सोशल मैसेज देने वाली रोमांटिक फिल्म होगी.

इस सरकार और पिछली सरकार में फर्क जानना हो तो ये 7 फिल्में देखो!

रेलमंत्री ने सिर्फ 2 फिल्में बताई थीं लेकिन लिस्ट लंबी है.

'भूल भुलैया' के बाद अक्षय कुमार ये हॉरर कॉमेडी फिल्म करने जा रहे हैं

लोग कह रहे हैं कि ये साउथ की मूवी की कॉपी है. पर सच क्या है?

'आज फ़िर जीने की तमन्ना है', एक गीत, सात लोग और नौ किस्से

जिस गाने को लिखनेवाले ने इस अल्बम के लिए रेगुलर से कई गुना ज़्यादा पैसे मांग लिए थे. आज के दिन फिल्म 'गाइड' के डायरेक्टर विजय आनंद का बड्डे होता है.

कहानी राजू गाइड की, जिसने सबको धोखा दिया और अंत मे साधु बनकर गांव को बचा लिया

आज फिल्म के डायरेक्टर और देव आनंद के भाई विजय आनंद का बड्डे है.

'टोटल धमाल' का ट्रेलर देखकर पगलाने के लिए तैयार हो जाइए

'धमाल' सीरीज़ की इस तीसरी फिल्म में 20 से ज़्यादा एक्टर्स काम करते आएंगे नज़र. आमिर खान भी दिख सकते हैं .

पहले वो धोनी का फैन था, बाद में धोनी उसका फैन बना

आज रील लाइफ के धोनी का बर्थडे है, जानिए उनकी ज़िंदगी के कुछ सुने-अनसुने किस्से!