Submit your post

Follow Us

क्या 'हिंदू' महिलाओं ने छेड़छाड़ से परेशान होकर बुर्का पहन कर कांवड़ उठाई?

पहले लोग अपनी बात रखने के लिए तर्क करते थे. लेक्चर दिया करते थे. सेमीनार किया करते थे. थीसिस देते थे और प्रैक्टिकल करते थे तब जाकर एक बात को प्रूव कर पाते थे. अब एक नया तरीका आया है जो सबसे बढ़िया है. सोशल मीडिया पर एक फोटो डालो. इस फोटो से मिलता-जुलता अपनी मर्जी का मेसेज लिखो और बस इंतजार करो. थोड़े टाइम में वो इतना वायरल हो जाएगा कि सारी पीएचडी धरी रह जाएगी.

ऐसे ही एक मेसेज आया है जो बता नहीं रहा बल्कि प्रूव कर रहा है कि बुर्का पहनने से छेड़छाड़ की घटनाओं में कमी आई है. पढ़िए ये मेसेज और इसके साथ आई फोटो और फिर जानेंगे इसकी सच्चाई-

पहले ये हिन्दू बहने बिना हिजाब के कावड़ यात्रा निकालती थी। लोग इनसे छेड़छाड़ किया करते थे। फिर इनको एक पर्दानशीं खातून ने कहा हिजाब पहन के यात्रा में जाया कीजिये आसानी होगी छेड़छाड़ से भी बच जाएंगी। हिन्दू बहनो ने पूछा हिजाब मिलेगा कहा खातून ने जमील की दुकान से सबको तीन तीन सौ वाले हिजाब दिलवा दिये। फिर इन हिन्दू बहनो ने वही हिजाब पहन के कावड़ यात्रा निकाली इनका कहना है छेड़छाड़ में काफी कमी आई है। ये फोटो उसी दौरान ली गई थी।

इस जानकारी को ज़्यादा से ज़्यादा शेयर करके दूसरे भाइयो तक पहुँचाये।

(नोट- हमेशा की तरह मेसेज की भाषा से कोई छेड़छाड़ नहीं की है. जैसा आया था वैसा आपके सामने है. वर्तनी और ग्रामर की गलती पर ध्यान न दें)

फेसबुक पर वायरल हो रही पोस्ट.
फेसबुक पर वायरल हो रही पोस्ट.

फेसबुक पर बुर्के के समर्थक इस पोस्ट को जमकर शेयर कर रहे हैं. जैसे छेड़छाड़ जैसी घटनाओं की रोकथाम का पक्का तरीका मिल गया हो.

फेसबुक पर वायरल होती पोस्ट.
फेसबुक पर वायरल होती पोस्ट.

अब इस फोटो की सच्चाई क्या है?

यह फोटो 2016 का है. मध्य प्रदेश के इंदौर में सावन महीने के लास्ट सोमवार के दिन कांवड़ यात्रा निकली. यह यात्रा मधुमिलन चौराहे से गीता भवन तक गई. इस कांवड़ यात्रा में हिंदुओं के अलावा मुस्लिम, सिख, ईसाई और पारसी समुदाय के लोग भी शामिल थे. इसमें मुस्लिम महिलाओं ने बुर्का पहन कर हिस्सा लिया था. मुस्लिम महिलाओं ने कांवड़ भी उठाई थी.

फोटो इंदौर की है जहां सब धर्मों के लोगों ने सामूहिक यात्रा निकाली थी.
फोटो इंदौर की है जहां सब धर्मों के लोगों ने सामूहिक यात्रा निकाली थी. (फोटो- पत्रिका)

सभी धर्मों के लोगों ने सांप्रदायिक सद्भाव बनाए रखने के लिए एक अच्छा कदम उठाया. लेकिन सोशल मीडिया एक्सपर्ट्स ने इस मेसेज को अपने हिसाब से सर्कुलेट करना शुरू कर दिया. हमारी पड़ताल में यह फोटो तो सही निकला लेकिन जो मेसेज फैलाया जा रहा है वो गलत निकला.

हिंदू-मुस्लिम सब साथ में कावड़ यात्रा निकालते हुए. (फोटो-पत्रिका)
हिंदू-मुस्लिम सब साथ में कावड़ यात्रा निकालते हुए. (फोटो-पत्रिका)

अगर आपके पास भी ऐसी कोई पोस्ट, फोटो, वीडियो या मैसेज है जिस पर आपको शक है तो आप उसे  lallantopmail@gmail.com,  फेसबुक पर हमारे वेरिफाइड पेज The Lallantop और हमारे वेरिफाइड ट्विटर हैंडल @TheLallantop पर भेज सकते हैं. हम उसकी पड़ताल कर सच्चाई पता करेंगे.


ये भी पढ़ें-

राहुल गांधी के मोबाइल में पॉर्न देखने की सच्चाई क्या है?

क्या धरती के पास से गुजरने वाली कॉस्मिक किरणों से मोबाइल फट सकता है?

सूअर और इंसान के मेल से बना यह बच्चा कहां पैदा हुआ है?

उस वीडियो की सच्चाई, जिसमें इलाहाबाद के संगम से बादल पानी ले रहे हैं!

क्या मोदी सरकार के दबाव के कारण चीन के विदेश मंत्री ने इस्तीफा दे दिया है?

केरल के संगठन PFI के दफ्तर में भारी मात्रा में मिले हथियारों का सच क्या है?

इस ‘भाजपा विधायक’ की सच्चाई जानकर कोई भाजपाई इसकी फोटो शेयर नहीं करेगा

ये विशालकाय कंकाल किसका है जिसे घटोत्कच का बताया जा रहा है?

वीडियो-क्या इलाहाबाद में गंगा से बादलों में पानी जाता है?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

10 नंबरी

वो देश, जहां मिलिट्री सर्विस अनिवार्य है

क्या भारत में ऐसा होने जा रहा है?

'हासिल' के ये 10 डायलॉग आपको इरफ़ान का वो ज़माना याद दिला देंगे

17 साल पहले रिलीज़ हुई इस फ़िल्म ने ज़लज़ला ला दिया था

4 फील गुड फ़िल्में जो ऑनलाइन देखने के बाद दूसरों को भी दिखाते फिरेंगे

'मेरी मूवी लिस्ट' में आज की रेकमेंडेशंस हमारी साथी स्वाति ने दी हैं.

आर. के. नारायण, जिनका लिखा 'मालगुडी डेज़' हम सबका नॉस्टैल्जिया बन गया

स्वामी और उसके दोस्तों को देखते ही बचपन याद आता है

वो 22 एक्टर्स जिनको यशराज फिल्म्स ने बॉलीवुड में लॉन्च किया

यश और आदि चोपड़ा के इस प्रोडक्शन हाउस ने इस साल 50 बरस पूरे कर लिए हैं.

इन 8 बॉलीवुड सेलेब्स के मदर्स डे वाले वीडियोज़ और फोटो आप मिस नहीं करना चाहेंगे

बच्चन ने मां को गाकर याद किया है, वहीं अनन्या पांडे ने बचपन के दो बेहद क्यूट वीडियोज़ पोस्ट किए हैं.

मंटो, जिन्हें लिखने के फ़ितूर ने पहले अदालत फिर पागलखाने पहुंचाया, उनकी ये 15 बातें याद रहेंगी

धर्म से लेकर इंसानियत तक, सबपर सब कुछ कहा है मंटो ने.

सआदत हसन मंटो को समझना है तो ये छोटा सा क्रैश कोर्स कर लो

जानिए मंटो को कैसे जाना जाए.

महाराणा प्रताप के 7 किस्से: जब वफादार मुसलमान ने बचाई उनकी जान

9 मई, 1540 को पैदा होने वाले महाराणा प्रताप की मौत 29 जनवरी, 1597 को हुई.

दुनिया के 10 सबसे कमज़ोर पासवर्ड कौन से हैं?

रिस्की पासवर्ड का पता कैसे चलता है?