Submit your post

Follow Us

क्या जापान का ये आर्क ऐटम बम और सुनामी झेलने के बाद भी जस का तस खड़ा है?

597
शेयर्स

जापान, 6,852 द्वीपों से मिलकर बना एक देश. दो बड़ी आपदाओं के बाद भी फिर से उठ खड़ा होने वाला देश जो टेक्नॉलोजी में सबसे आगे रहने वाले देशों में से एक है. दूसरे विश्व युद्ध के दौरान इस देश के हिरोशिमा शहर पर अमेरिका ने 6 अगस्त 1945 को दुनिया का पहला परमाणु हमला किया. जापान कुछ समझ पाता उससे पहले ही 9 अगस्त को दूसरे शहर नागासाकी पर परमाणु हमला हुआ. लाखों लोग मारे गए.

बावजूद इस त्रासदी के उगते सूरज का देश कहा जाने वाला जापान फिर से खड़ा हो गया.

करीब 66 साल बाद 11 मार्च, 2011 को एक भंयकर भूकंप के बाद सुनामी आई. पूरा देश फिर से अस्त-व्यस्त हो गया.

लेकिन, सोशल मीडिया के मुताबिक इन दोनों घटनाओं में कुछ ऐसा भी था जो ये देश दोनों बार सही-सलामत खड़ा रहा. यह था- नागासाकी का एक आर्क. अब ये आर्क क्या है? जापान में जो धार्मिक स्थल होते हैं उनके गेट को जापानी भाषा में टोरी कहते हैं. यह आर्क मतलब चाप की शेप का होता है इसलिए दूसरे देशों में इस आर्क कहते हैं. नीचे दोनों फोटोज देखिए-

1) 

Hiroshima arch

2.) 

Hiroshima arch (1)

इन दोनों फोटोज में जो चीजें कॉमन दिख रही हैं वो हैं बर्बादी के निशान और दूसरा एक आर्क. सोशल मीडिया पर इन दोनों तस्वीरों के साथ मेसेज चलाया जाने लगा कि यह आर्क नागासाकी की दोनों घटनाओं के बाद भी ऐसे खड़ा है. आखिर यह बना किस चीज से है?

इस आर्क की सच्चाई क्या है?

सच्चाई यह है कि ये दोनों फोटो अगल-अगल आर्क की तस्वीरें हैं. पहली यानी ब्लैक एंड वाइट फोटो नागासाकी की है. 10 अगस्त, 1945 को जापानी आर्मी के फोटोग्राफर योसुके यमाहता ने परमाणु हमले के बाद यह फोटो क्लिक किया था. आर्क की दूसरी यानी कलर्ड फोटो नागासाकी की है ही नहीं. यह तस्वीर जापान के ऑटसुकी (ऑटसुची, Ōtsuchi ) शहर की है. ऑटसुकी शहर के कोज़ुकी (Kozuchi) श्राइन (धार्मिक स्थल) के बाहर का है. कोज़ुकी वहां का मशहूर टूरिस्ट स्पॉट है. न्यूज़ एजेंसी रॉयटर्स के कैमरामैन ने ये फोटो क्लिक की है.

इसके अलावा एक बड़ी बात ये भी कि 2011 की सुनामी नागासाकी में नहीं आई थी. जापान के जिन शहरों में सुनामी ने तांडव मचाया था, उनमें नागासाकी का नाम है ही नहीं.

जिन दो अलग-अलग जगहों पर ये आर्क हैं वो जापान के दो बिल्कुल अलग छोर पर हैं. दोनों के बीच लगभग 1800 किलोमीटर की दूरी है.

कुल मिलाकर बात ये कि एक और बार फर्जी खबर मार्केट में है. भरोसा न कीजिए.


ये भी पढ़ें:

अगर पाकिस्तान ने हम पर परमाणु हमला कर दिया तो क्या होगा?
बिना बिजली के ये आदमी अपने शरीर से बल्ब कैसे जला रहा है?
पड़ताल: क्या अहमदाबाद में सरकार ने जानबूझकर मस्जिद तोड़ी?
क्या ‘हिंदू’ महिलाओं ने छेड़छाड़ से परेशान होकर बुर्का पहन कर कांवड़ उठाई?


वीडियो देखें: क्या कांग्रेस प्रेसिडेंट राहुल गांधी अपने मोबाइल में पॉर्न देख रहे थे?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

10 नंबरी

इस टीज़र में आयुष्मान ने वो कर दिया जो सलमान, शाहरुख़ करने से पहले 100 बार सोचते

फिल्म 'बाला' का ये एक मिनट का टीज़र आपको फुल मज़ा देगा.

'इतना सन्नाटा क्यों है भाई' कहने वाले 'शोले' के रहीम चाचा अपनी जवानी में दिखते कैसे थे?

जिस आदमी को सिनेमा के परदे पर हमेशा बूढा देखा वो अपनी जवानी के दौर में राज कपूर से ज्यादा खूबसूरत हुआ करता था.

शोले के 'रहीम चाचा' जो बुढ़ापे में फिल्मों में आए और 50 साल काम करते रहे

ताउम्र मामूली रोल करके भी महान हो गए हंगल सा'ब को 7 साल हुए गुज़रे हुए.

जानिए वर्ल्ड चैंपियन पी वी सिंधु के बारे में 10 खास बातें

37 मिनट में एकतरफा ढंग से वर्ल्ड चैंपियन का खिताब अपने नाम कर लिया.

सलमान की अगली फिल्म के विलेन की पिक्चर, जिसके एक मिनट के सीन पर 20-20 लाख रुपए खर्चे गए हैं

'पहलवान' ट्रेलर: साउथ के इस सुपरस्टार को सुनील शेट्टी अपनी पहली ही फिल्म में पहलवानी सिखा रहे हैं.

संत रविदास के 10 दोहे, जिनके नाम पर दिल्ली में दंगे हो रहे हैं

जो उनके नाम पर गाड़ियां जला रहे हैं उन्होंने शायद रविदास को पढ़ा ही नहीं है.

'सेक्रेड गेम्स' वाले गुरुजी के ये 11 वचन, आपके जीवन की गोची सुलझा देंगे

ग़ज़ब का ज्ञान बांटा है गुरुजी ने.

'मैं मरूं तो मेरी नाक पर सौ का नोट रखकर देखना, शायद उठ जाऊं'

आज हरिशंकर परसाई का जन्मदिन है. पढ़ो उनके सबसे तीखे, कांटेदार कोट्स.

वो एक्टर, जिनकी फिल्मों की टिकट लेते 4-5 लोग तो भीड़ में दबकर मर जाते हैं

आज इन मेगास्टार का बड्‌डे है.

अक्षय कुमार की भयानक बासी फिल्म का सीक्वल, जिसकी टक्कर रणबीर की सबसे बड़ी फिल्म से होगी

'पंचनामा सीरीज़' और 'दोस्ताना' के बाद कार्तिक आर्यन के हत्थे एक और सीक्वल.