Submit your post

Follow Us

उत्तराखंड के पूर्व CM ने घर का फ्रिज अस्पताल पहुंचाया, तो लोगों ने क्लास लगा दी

त्रिवेंद्र सिंह रावत. उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हैं. BJP के नेता हैं. इस वक्त सोशल मीडिया पर इनकी काफी किरकिरी हो रही है. वजह है उनकी तरफ से अस्पताल को डोनेट किया गया एक पुराना फ्रिज. साथ ही इस फ्रिज के लिए किया गया एक फेसबुक पोस्ट.

मामला क्या है?

‘इंडिया टुडे’ के दिलीप सिंह राठौड़ की रिपोर्ट के मुताबिक, त्रिवेंद्र सिंह रावत 29 अप्रैल को उत्तराखंड की राजधानी देहरादून के कोरोनेशन अस्पताल गए थे. जायजा लेने के लिए. उसी दौरान उन्हें पता चला कि अस्पताल का फ्रिज काम नहीं कर रहा है, ऐसे में डॉक्टर्स और मेडिकल स्टाफ को इंजेक्शन वगैरह रखने में दिक्कत हो रही है. चूंकि कोरोना की वजह से देहरादून बंद था, कोई दुकान खुली नहीं थी, इसलिए त्रिवेंद्र सिंह रावत ने अपने घर का सिंगल डोर फ्रिज अस्पताल पहुंचा दिया.

यहां तक तो ठीक है. लेकिन ट्रोलिंग तब शुरू हो गई, जब पूर्व सीएम ने इस मदद का बखान फेसबुक पर कर दिया. वो भी फ्रिज की प्रॉपर तस्वीर के साथ. रावत ने लिखा-

“फ्रिज की ज़रूरत थी, जिसके बाद तत्काल वहां फ्रिज भेंट किया. बहुत जल्दी थी इसलिए घर का ही भिजवा दिया. मैं आशा करता हूं कि इससे हमारे देवतुल्य चिकित्सकों को इलाज करने में सुविधा होगी. कोरोना के इस संकटकाल में हम सभी अपना धैर्य बनाए रखें. भगवान बदरी विशाल व बाबा केदार हमें इस कठिन समय से बाहर निकालें तथा हमें शक्ति प्रदान करें ऐसी प्रार्थना करता हूं.”
लोगों ने जमकर घेरा

Trivendra Singh Rawat Fb Post
पूर्व सीएम का फेसबुक पोस्ट

लोगों ने जमकर घेरा

पूर्व सीएम के इस पोस्ट के बाद लोगों का गुस्सा फूटा. एक ने कमेंट किया-

“जब आप 5 दिवसीय गैरसैंण विधानसभा सत्र को 2 दिन में निबटा सकते हैं तो कृपया एक दुकान खुलवाकर नया फ्रिज ही भेंट कर देते. गोदाम में पड़ा पुराना देने से तो अच्छा होता.”

एक और फेसबुक यूज़र ने लिखा-

“तीनों लोकों से देवता भी प्रसन्न हो गए, स्वयं त्रिदेव आपको मिलने आएंगे इतना बड़ा काम करने के लिए. शर्म आनी चाहिए. कितने करोड़ रूपये डकारे होंगे जनता के, और घर का सेकेंड हैंड फ्रिज देने पर पोस्ट डालने के लिए उतावले हो रहे हैं.”

अगले यूज़र ने लिखा-

“एक भूतपूर्व महान सीएम से इससे ज्यादा उम्मीद भी बेमानी है. हार्दिक आभार. एक 180 लीटर का फ्रिज देकर और सोशल मीडिया पर इस महान कार्य की फोटो अपलोड करके, आपने पूरे हॉस्पिटल को बचा लिया.”

Trivendra Singh Rawat (4)
विरोध में पोस्ट

इसी बीच एक यूज़र ने फ्रिज की दूसरे एंगल से ली गई एक तस्वीर पोस्ट की. और दावा किया कि फ्रिज की एक टांग टूटी हुई है. कटाक्ष करते हुए लिखा-

“माननीय त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कोरोनेशन अस्पताल को तीन टांग वाला फ्रिज दान किया.”

कुछ लोगों ने इस बात पर तंज कसा कि त्रिवेंद्र सिंह रावत जब मुख्यमंत्री थे, तब हेल्थ मिनिस्ट्री भी उनके हाथ में थी, और कोरोना का संकट अभी का नहीं, बल्कि एक साल पुराना है, ऐसे में हेल्थ सिस्टम की ऐसी जर्जर हालात त्रिवेंद्र सिंह रावत के लिए शर्म की बात होनी चाहिए. इसके अलावा कुछ लोग ये भी कह रहे हैं कि पूर्व सीएम ने अपने घर का नहीं, बल्कि स्टोर में पड़ा पुराना फ्रिज दिया है.

Trivendra Singh Rawat (1)
विरोध में पोस्ट

केवल फेसबुक पर ही नहीं, ट्विटर पर भी लोग पूर्व सीएम को जमकर घेर रहे हैं. एक यूज़र ने त्रिवेंद्र सिंह रावत के फेसबुक पोस्ट का स्क्रीनशॉट शेयर करते हुए लिखा-

“देहरादून के कोरोनेशन अस्पताल, जिसका नाम दीन दयाल उपाध्याय अस्पताल कर दिया गया है, उसके कोविड वार्ड में फ्रिज नहीं थी, तब पूर्व सीएम ने अपना पुराना छोटा फ्रिज अपने घर से पहुंचाया, और उसमें से एक फेसबुक पोस्ट भी निकाल लिया.”

पक्ष लेने वाले भी हैं

वही बहुत सारे लोग ऐसे भी हैं जो त्रिवेंद्र सिंह रावत के इस काम की तारीफ कर रहे हैं. तरफदारी करते हुए कह रहे हैं कि त्रिवेंद्र के अंदर कूट-कूटकर मानवता भरी हुई है. एक यूज़र ने पक्ष लेते हुए लिखा-

“ध्यान में रखना चाहिए की प्रदेश का पूर्व मुख्यमंत्री भी उसी तीन टांग वाले फ्रीज़ से काम चला रहे थे, जो समस्या थी उसका समाधान हुआ फिर 3 हो या 4 टांग, और अगर आपको 3 टांग के फ्रीज़ से दिक्कत है तो अपने घर से 4 टांग वाला फ्रीज़ भेंट करें.”

Trivendra Singh Rawat (2)
समर्थन में पोस्ट
Trivendra Singh Rawat (3)
समर्थन में पोस्ट

अब तो भई पूर्व सीएम की जमकर किरकिरी हो रही है, लेकिन अभी तक उनकी तरफ से इस मामले में कोई सफाई नहीं आई है. हम भी क्या कहें, जो कहना था जनता कह ही रही है. और हमने आपको बता ही दिया है. बाकी आप खुद सोचें, और अपनी राय बनाएं.


वीडियो देखें: गोरखपुर: श्मशान के बाहर लगे ‘फोटोग्राफी वर्जित’ के पोस्टर, सोशल मीडिया पर हल्ला हुआ तो गायब

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

10 नंबरी

सत्यजीत राय के 32 किस्से: इनकी फ़िल्में नहीं देखी मतलब चांद और सूरज नहीं देखे

सत्यजीत राय के 32 किस्से: इनकी फ़िल्में नहीं देखी मतलब चांद और सूरज नहीं देखे

ये 50 साल पहले ऑस्कर जीत लाते, पर हमने इनकी फिल्में ही नहीं भेजीं. अंत में ऑस्कर वाले घर आकर देकर गए.

कोविड काल में इन देशों ने भारत के लिए बड़ी मदद भेजी है

कोविड काल में इन देशों ने भारत के लिए बड़ी मदद भेजी है

ऑक्सीजन कंसंट्रेटर से लेकर दवाओं के रॉ मटेरियल तक, सब भेजा है.

ऋषि कपूर के ये 13 गीत सुनकर समझ आता है, ये लवर बॉय पर्दे पर कैसे मेच्योर हुआ

ऋषि कपूर के ये 13 गीत सुनकर समझ आता है, ये लवर बॉय पर्दे पर कैसे मेच्योर हुआ

ऋषि कपूर को गुज़रे एक साल हो गए.

इरफ़ान को पहली बरसी पर इन एक्टर्स और वाइफ सुतपा ने कुछ यूं याद किया

इरफ़ान को पहली बरसी पर इन एक्टर्स और वाइफ सुतपा ने कुछ यूं याद किया

मानव कौल, अर्जुन कपूर, राधिका मदान, दिव्या दत्ता, रणदीप हुड्डा जैसे एक्टर्स ने इरफ़ान के लिए ट्रिब्यूट लिखे.

सुधीर मिश्रा की बताईं ये 11 जोरदार फ़िल्में और सीरीज़ जल्द से जल्द देख डालिए

सुधीर मिश्रा की बताईं ये 11 जोरदार फ़िल्में और सीरीज़ जल्द से जल्द देख डालिए

बॉलीवुड, हॉलीवुड, साउथ कोरिया, जापान हर जगह की फ़िल्में हैं.

ये 5 वेबसाइट कोविड मरीज़ के लिए ऑक्सीजन, बेड, दवा की खोज को आसान बना देती हैं

ये 5 वेबसाइट कोविड मरीज़ के लिए ऑक्सीजन, बेड, दवा की खोज को आसान बना देती हैं

ये 36 जगहों पर डाली हुई ज़रूरत की पोस्ट को एक जगह पर समेट देती हैं!

कोरोना संकट के बीच ये ऐप्स आपकी मानसिक सेहत का ख्याल रखने में मदद करेंगे!

कोरोना संकट के बीच ये ऐप्स आपकी मानसिक सेहत का ख्याल रखने में मदद करेंगे!

मेडिटेशन और योगा ऐप्स की मदद लीजिए और खुद को शांत रखिए.

ऑस्कर 2021 की नौ जोरदार बातें और सबसे बड़े हाइलाइट्स

ऑस्कर 2021 की नौ जोरदार बातें और सबसे बड़े हाइलाइट्स

क्या हुआ जब ऑस्कर जीतने बाद डेनियल कलूया ने सेक्स की बात की और उनकी मां ने सुन लिया?

ऑस्कर अवॉर्ड्स में धमाका मचाने वाली 12 जाबड़ फिल्में, जिन्हें आप घर बैठे देख सकते हैं

ऑस्कर अवॉर्ड्स में धमाका मचाने वाली 12 जाबड़ फिल्में, जिन्हें आप घर बैठे देख सकते हैं

इनमें से कई फिल्मों ने तो ऑस्कर का इतिहास बदल के रख दिया.

ऑक्सीमीटर न मिले तो ये 5 सस्ती स्मार्टवॉच कोविड मरीज़ों के लिए बहुत काम की हैं

ऑक्सीमीटर न मिले तो ये 5 सस्ती स्मार्टवॉच कोविड मरीज़ों के लिए बहुत काम की हैं

इन वॉच का SpO2 सेन्सर खून में ऑक्सीजन का लेवल नापकर बताता है.