Submit your post

Follow Us

प्लेन में की हुई टट्टी आखिर जाती कहां है?

लोग कहते हैं कि कभी कभी आसमान से ‘ब्लू आइस’ की बारिश होती है. जो असल में प्लेन के टॉयलेट का गंध होता है. लोग ये भी कहते हैं कि उड़ती फ्लाइट में अगर दरवाजा खोल दो तो बाहर की ओर खिंच जाते हैं.  लेकिन अफ़सोस, आपकी करोड़ों साल पुरानी ये मान्यता सच नहीं है. पढ़िए प्लेन के 8 सबसे बड़े झूठों के बारे में:

1. पायलट लोग प्लेन में स्टोर की हुई टट्टी हवा में खाली करते हैं

तुम लोग मिडिल क्लास के मिडिल क्लास ही रहोगे. ट्रेन से जैसे पॉटी डायरेक्ट बाहर जाती है, सोचते हो वैसा कोई सिस्टम प्लेन में भी होगा. कुछ लोग ये भी कहते हैं कि कभी कभी नीली बर्फ की बारिश होती है. जो असल में प्लेन से गिरती पॉटी होती है. हालांकि ये सच है कि प्लेन से टॉयलेट से निकला हुआ गंध नीले रंग के एक लिक्विड से ट्रीट किया जाता है. जिसके कारण वो नीला हो जाता है. लेकिन उसको कभी हवा में खोला नहीं जाता. क्योंकि हवा के प्रेशर की वजह से खोला जा ही नहीं सकता. इतना ही नहीं, जिस हैंडल के इस्तेमाल से टैंक को खोला जाता है, वो बाहरी होता है.


2. पॉट पर बैठकर फ़्लश करोगे तो अंदर खिंच जाओगे

plane toilet
फोटो क्रेडिट: Corbis

प्लेन का फ्लश हवा के तेज़ प्रेशर से अंदर की ओर खींचता है. इसीलिए कहते हैं पॉट पर बैठकर फ्लश नहीं करना चाहिए. लेकिन ये अफवाह है. कुछ लोगों ने पॉट पर बैठ फ्लश कर चेक किया कि क्या ऐसा सचमुच होता है. और तेजी से अंदर खिंचने के बावजूद वो आराम से उठ खड़े हुए.


3. ऑक्सीजन मास्क लगाकर नशा होता है

Stock Photo by Sean Locke www.digitalplanetdesign.com

ऑक्सीजन मास्क का काम सिर्फ और सिर्फ आपको ऑक्सीजन देना है. वो भी तब, जब जहाज में हवा का प्रेशर घट जाता है.


4. जहाज हमेशा बंद रहता है, इसलिए उसकी हवा में जर्म्स होते हैं

ये भी झूठ. जहाज की हवा का उसी तरह खयाल रखा जाता है जिस तरह अस्पताल की हवा का रखा जाता है. जहाज में एयर फिल्टर होते हैं, जिससे आपको हमेशा साफ़ हवा मिलती है.


5 . उड़ते जहाज का दरवाजा खोला तो लोग बाहर खिंच जाएंगे

exit
Photo Credit: Alamy

ऐसा भी नहीं हो सकता. और इसका सिंपल कारण ये है कि उड़ते जहाज के अंदर इतना प्रेशर होता है कि उसका दरवाजा खोला ही नहीं जा सकता. आप चाहकर भी उड़ते जहाज में इमरजेंसी दरवाजे नहीं खोल सकते.


6 . प्लेन पर बिजली गिरी तो क्रैश हो जाएगा

हर साल लगभग एक जहाज पर बिजली गिरती है. लेकिन कोई भी क्रैश नहीं हुआ.


7 . फ्लाइट में शराब पियो तो ज्यादा चढ़ती है

vodka

इसको भी जानकारों ने चेक किया है. इस बात का कोई प्रूफ नहीं है कि ज्यादा ऊंचाई पर शराबी ज्यादा चढ़ती है. हां, अगर आप खुद ही ज्यादा पी लें तो बात अलग है.


8. प्लेन के टॉयलेट में ऐश ट्रे सुट्टा मारने के लिए होती है

प्लेन में सिगरेट पीना सख्त मन होता है. लेकिन हर टॉयलेट में फिर भी ऐश ट्रे लगाई जाती है. पर सुट्टा मारने के लिए नहीं. जिससे अगर कोई मनचला खुद को कंट्रोल न कर पाए और छुपकर टॉयलेट में सिगरेट जला ले, उसे सिगरेट बुझाने के लिए सही जगह मिल पाए. वरना प्लेन में आग लगने का खतरा रहता है.

 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

पोस्टमॉर्टम हाउस

वेब सीरीज़ रिव्यू- ये काली काली आंखें

वेब सीरीज़ रिव्यू- ये काली काली आंखें

'ये काली काली आंखें' में आपको बहुत सी ऐसी चीज़ें दिखेंगी, जो आप पहले देख चुके हैं. बस उन चीज़ों के मायने, यहां थोड़ा हटके हैं.

वेब सीरीज रिव्यू: ह्यूमन

वेब सीरीज रिव्यू: ह्यूमन

न ही इसे सिरे से खारिज किया जा सकता है, न ही इसे मस्ट वॉच की कैटेगरी में रखा जा सकता है

साउथ इंडिया के 8 कमाल एक्टर्स, जो हिंदी सिनेमा में डेब्यू करने वाले हैं

साउथ इंडिया के 8 कमाल एक्टर्स, जो हिंदी सिनेमा में डेब्यू करने वाले हैं

अब इनकी हिंदी डब फिल्में खोजने की ज़रूरत नहीं पड़ेगी.

वेब सीरीज़ रिव्यू: हम्बल पॉलिटिशियन नोगराज

वेब सीरीज़ रिव्यू: हम्बल पॉलिटिशियन नोगराज

अगर पॉलिटिकल कॉमेडी से ऑफेंड होते हैं, तो दूर ही रहिए.

वेब सीरीज़ रिव्यू: कौन बनेगी शिखरवटी

वेब सीरीज़ रिव्यू: कौन बनेगी शिखरवटी

नसीरुद्दीन शाह, रघुबीर यादव और लारा दत्ता जैसे एक्टर्स लिए लेकिन....

वेब सीरीज़ रिव्यू- क्यूबिकल्स 2

वेब सीरीज़ रिव्यू- क्यूबिकल्स 2

Cubicles 2 एक सपने के साथ शुरू होती है. और इसका एंड भी बिल्कुल ड्रीमी होता है. एक ऐसा सपना, जिसके पूरे होने की सिर्फ उम्मीद और इंतज़ार किया जा सकता है.

वेब सीरीज़ रिव्यू: कैंपस डायरीज़

वेब सीरीज़ रिव्यू: कैंपस डायरीज़

कैसा है यूट्यूब स्टार्स हर्ष बेनीवाल और सलोनी गौर का ये नया शो?

वेब सीरीज़ रिव्यू: ब्लैक माफिया फैमिली

वेब सीरीज़ रिव्यू: ब्लैक माफिया फैमिली

'नार्कोस' और 'ब्रेकिंग बैड' जैसे शोज़ पसंद हैं, तो ये शो आपके लिए ही है.

फिल्म रिव्यू: मिन्नल मुरली

फिल्म रिव्यू: मिन्नल मुरली

ये देसी सुपरहीरो फिल्म कभी नहीं भूलती कि सुपरहीरो का कॉन्सेप्ट ही विदेशी है.

फिल्म रिव्यू- अतरंगी रे

फिल्म रिव्यू- अतरंगी रे

'अतरंगी रे' बोरिंग फिल्म नहीं है. इसे देखते हुए आपको फन फील होगा. मगर फन के अलावा इसमें कुछ भी नहीं है.