Submit your post

Follow Us

फिल्म रिव्यू- तूफान

इस हफ्ते एमेज़ॉन प्राइम वीडियो पर दो फिल्में रिलीज़ हुईं. फहाद फाज़िल स्टारर मलयालम फिल्म ‘मालिक’ और फरहान अख्तर की राकेश ओमप्रकाश मेहरा डायरेक्टेड ‘तूफान’. ‘मालिक’ के बारे में हम पहले बात कर चुके हैं. उसका रिव्यू आप हमारी वेबसाइट और यूट्यूब चैनल पर जाकर देख सकते हैं. आज बात बहुप्रतीक्षित राकेश मेहरा और फरहान अख्तर की जुगलबंदी ‘तूफान’ की. ये जोड़ी पहले ‘भाग मिल्खा भाग’ जैसी तगड़ी स्पोर्ट्स बायोपिक पर साथ काम कर चुकी है. उन्होंने एक बार फिर से स्पोर्ट्स फिल्म ‘तूफान’ पर कोलैबरेट किया है. कैसी है उनकी ये फिल्म आगे हम इसी बारे में बात करेंगे.

फिल्म की कहानी 

मुंबई में अजीज़ अली नाम का एक बंदा रहता है. यतीम है. भाईगिरी-लुक्खागिरी करके अपनी लाइफ का सत्यानाश कर रहा है. फिर उसकी लाइफ में एक लड़की आती है डॉ. अनन्या, जो उसे बॉक्सर बनने के लिए प्रेरित करती है. अजीज़, नाना प्रभु नाम के एक ट्रेनर से बॉक्सिंग सीखना शुरू करता है. नाना भले हिंदु पैदा हुआ. मगर उसकी धर्म-जाति सब बॉक्सिंग है. यही धर्म-समाज-परिवार वाली बातें इस फिल्म में कॉनफ्लिक्ट पैदा करती हैं. मगर किसी रेगुलर मसाला स्पोर्ट्स फिल्म की तरह अजीज़ उस लड़की के फेर में एक गलती करता है, जिससे उसका करियर बर्बाद हो जाता है. आगे की कहानी ये है कि अजीज़ क्या कभी बॉक्सिंग रिंग में वापस उतर पाएगा? अगर उतर गया, तो क्या पहले जैसा तूफान उठा पाएगा? मिर्च-मसाले के साथ इन्हीं बेहद औसत सवालों के जवाब के बारे में है ये फिल्म.

अज्जू भाई उर्फ अजीज़ अली, जिसके सामने लोग डर के मारे घुटने टेक देते हैं. मगर अब इन्हें चाहिए फुल इज्ज़त.
अज्जू भाई उर्फ अजीज़ अली, जिसके सामने लोग डर के मारे घुटने टेक देते हैं. मगर अब इन्हें चाहिए फुल इज्ज़त.

एक्टर्स की परफॉरमेंस

फरहान अख्तर ने फिल्म में अजीज़ अली नाम के लड़के का रोल किया है. उसे एक मवाली ने नाली से निकालकर पाला. अपना बोन मैरो देकर जान बचाई. इन्हीं एहसानों के बदले अजीज़ उसके लिए वसूली का काम करता है. शरीर से बुलंद है, इसलिए हाथ छोड़ने में देर नहीं लगाता. रेगुलर हिंदी फिल्म कैरेक्टर होने के बावजूद, फरहान इस किरदार को गहराई देते हैं. फरहान को देखकर लगता है कि यार ये गज़ब का पैशनेट आदमी है. ये चीज़ ऑटोमैटिकली उनके निभाए किरदारों में भी झलकने लगती है. जब उनकी भाग मिल्खा भाग आई थी, तब मैं 11वीं-12वीं में पढ़ता था. उस फिल्म को देखने के बाद मुझे लगने लगा कि मैं लाइफ के जिस स्टेज पर हूं, वहां से मैं कोई भी करियर चुन सकता हूं. बेसिकली मैं वो फिल्म देखने के बाद अथलीट बनना चाहता था. ये बात अभी सुनने में फनी लग सकती है. मगर तब मैं इस चीज़ को लेकर बहुत सीरियस था. हालांकि वो सीरियसनेस ज़्यादा दिन टिकी नहीं. फरहान के बारे में ये रियलाइज़ेशन मुझे ‘तूफान’ को देखने के बाद हुई.

अजीज़ अली, जो ज़ीरो शुरू करके हीरो बनता है. मगर एक गलती उसे अर्श से फर्श पर पहुंचा देती है.
अजीज़ अली, जो ज़ीरो शुरू करके हीरो बनता है. मगर एक गलती उसे अर्श से फर्श पर पहुंचा देती है.

अजीज़ के खास दोस्त मुन्ना का रोल किया है हुसैन दलाल ने. ये सर्किट टाइप एक रेगुलर साइडकिक है, जो अपने मुन्ना भाई के लिए कुछ भी करने को तैयार है. उसका काम फिल्म को कॉमिक रिलीफ देने का है. वो हुसैन बड़ी आसानी से कर ले जाते हैं. मगर वो कॉमिक से ज़्यादा फिल्म के इमोशनल सीन्स में अच्छे लगते हैं.

अजीज़ के खास दोस्त मुन्ना के रोल में हुसैन दलाल ने. हुसैन कई फिल्मों के डायलॉग लिख चुके हैं. जिसमें से 'ये जवानी है दीवानी' भी एक है.
अजीज़ के खास दोस्त मुन्ना के रोल में हुसैन दलाल ने. हुसैन कई फिल्मों के डायलॉग लिख चुके हैं. जिसमें से ‘ये जवानी है दीवानी’ भी एक है.

अजीज़ की प्रेमिका और डॉक्टर अनन्या के रोल में हैं मृणाल ठाकुर. फिल्म में उनका किरदार एक ऐसी लड़की है, जो अपना सबकुछ दांव पर लगाकर अजीज़ की ज़िंदगी बना देना चाहती है. इसमें कुछ भी नया नहीं है. कैरेक्टर को अप्रोच करने के तरीके के सिवा. मृणाल को देखकर गर्ल नेक्स्ट डोर वाली फीलिंग आती है. यही चीज़ उन्हें रिलेटेबल बनाती है. एक फ्रेशनेस है उनके दिखने और परफॉर्म करने में. मगर उन्होंने ‘लव सोनिया’ को छोड़कर अब तक इससे अलग कुछ नहीं किया.

अजीज़ की प्रेमिका और डॉक्टर अनन्या के रोल में हैं मृणाल ठाकुर.
अजीज़ की प्रेमिका और डॉक्टर अनन्या के रोल में हैं मृणाल ठाकुर.

अजीज़ के कोच नाना प्रभु का कैरेक्टर प्ले किया है परेश रावल ने. पर्सनल वजहों से ये आदमी मुसलमानों को पसंद नहीं करता है. इसे लगता है कि हर मुसलमान टेररिस्ट होता है. बेसिकली ये कैरेक्टर परेश रावल के रियल लाइफ से इंस्पायर्ड लगता है. काश हम इस लाइन के बाद जोक्स असाइड कह पाते! बहरहाल, मज़ेदार बात ये कि परेश के निभाए नाना वाले किरदार से आपके ख्यालात भले न मिलें. मगर उन्हें परफॉर्मेंस फिल्म की बड़ी हाइलाइट है. इनके अलावा फिल्म में सुप्रिया पाठक कपूर और लंबे समय के बाद मोहन आगाशे भी नज़र आते हैं.

अजीज़ के कोच नाना प्रभु के रोल में परेश रावल.
अजीज़ के कोच नाना प्रभु के रोल में परेश रावल.

फिल्म की बुरी बातें

जैसे कि हमने आपको शुरुआत में बताया था कि फरहान अख्तर और राकेश ओमप्रकाश मेहरा की जोड़ी से हमें बेहद उम्मीदें थीं. मगर उस फ्रंट पर ये फिल्म निराश करती है. ‘तूफान’ को देखकर ऐसा लगता है मानो इन्होंने हिंदी सिनेमा में आज़माए हर फॉर्मूले को इस्तेमाल करने की कसम खा रखी हो. आप ये चीज़ बेसिक स्टोरी आइडिया से लेकर फिल्म की तमाम छोटी-बड़ी बातों में आसानी से नोटिस कर सकते हैं. इसलिए कई बार इस फिल्म को देखते हुए झिलने जैसी फीलिंग आने लगती है.

कहानी को एस्टैब्लिश करने में इसके मेकर्स बहुत समय ले लेते हैं. इसलिए जब तक फिल्म मेन मुद्दे पर आती है, आप थका-थका महसूस करने लगते हैं. मगर ये थकान बॉक्सिंग चंक्स के शुरू होने के बाद जाती रहती है. जिस दौर में पब्लिक पौने 2 से लेकर सवा 2 घंटे की फिल्म देखने की आदी हो चुकी है. ऐसे में ‘तूफान’ पौने 3 घंटे का रनिंग टाइम लेती है. जो कि ज़ाहिर तौर पर बहुत लंबा समय है. खासकर तब, जब आपके पास कॉन्टेंट के नाम पर कुछ नया या एक्साइटिंग नहीं है.

फिल्म के एक सीन में फरहान अख्तर और उनकी प्रेमिका का रोल करने वाली मृणाल ठाकुर.
फिल्म के एक सीन में फरहान अख्तर और उनकी प्रेमिका का रोल करने वाली मृणाल ठाकुर.

फिल्म की अच्छी बातें

अपनी तमाम खामियों के बीच ‘तूफान’ कुछ चीज़ें ऐसी भी करती है, जिन्हें देखकर इस फिल्म में आपकी दिलचस्पी बनी रहती है. जिस तरह से नाना प्रभु मुसलमानों को देखता है, उससे आप बड़ी आसानी से रिलेट कर सकते हैं. क्योंकि आपको अपने आसपास उस तरह की विचारधारा रखने वाले ढेरों लोग मिल जाएंगे. अलग ये है कि नाना के उस नज़रिए के पीछे एक त्रासद कहानी है. मगर ये चीज़ किसी धर्म विशेष के प्रति उसकी नापसंद को नहीं, उसके नज़रिए को जस्टिफाई करती है.

फिल्म में एक सीन है, जहां अजीज़ अनन्या के साथ एक घर किराए पर लेने जाता है. सारी बात फाइनल हो जाती है. आखिर में ब्रोकर कहता है कि सोसाइटी में जब भी कोई पूछे, तो अजीज़ को अपना नाम अर्जुन बोलना होगा. इन्हीं तरह के बिट्स एंड पीसेज़ में ये फिल्म अपनी सार्थकता बनाए रखने की कोशिश करती है.

मजबूरन बॉक्सिंग छोड़ने के बाद वापस रिंग में उतरने को लेकर कंफ्यूज़ अजीज़ अली. इस सीन को देखकर 'सुल्तान' से सलमान खान वाला आइकॉनिक मोमेंट याद आता है.
मजबूरन बॉक्सिंग छोड़ने के बाद वापस रिंग में उतरने को लेकर कंफ्यूज़ अजीज़ अली. इस सीन को देखकर ‘सुल्तान’ से सलमान खान वाला आइकॉनिक मोमेंट याद आता है.

ओवरऑल एक्सपीरियंस

‘तूफान’ एक ऐसी फिल्म है, जिसमें ओरिजिनैलिटी की भारी कमी है. मगर ये फिल्म आपको एंटरटेन या एजुकेट नहीं करती, तो किसी गलत थॉट या आइडिया को प्रमोट भी नहीं करती. एक साफ-सुथरी मेनस्ट्रीम मसाला फिल्म, जिसे देखने या नहीं देखने से आपके जीवन में कोई खास बदलाव नहीं आएगा.

‘तूफान’ को एमेज़ॉन प्राइम वीडियो पर स्ट्रीम किया जा सकता है.


वीडियो देखें: मालिक मूवी रिव्यू

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

10 नंबरी

क्या 'राम तेरी गंगा मैली' वाली मंदाकिनी फिर से पिक्चरों में दिखने वाली हैं?

क्या 'राम तेरी गंगा मैली' वाली मंदाकिनी फिर से पिक्चरों में दिखने वाली हैं?

अक्षय कुमार एक्टिंग के गुण सिखाएंगे.

क्या हुआ जब 'ज़िंदगी ना मिलेगी दोबारा' के सारे एक्टर्स ने दस साल बाद फिर से बैठक जमा ली?

क्या हुआ जब 'ज़िंदगी ना मिलेगी दोबारा' के सारे एक्टर्स ने दस साल बाद फिर से बैठक जमा ली?

बड़े मज़ेदार किस्से निकलकर आए हैं बॉस!

आलिया की RRR में एक गाने का बजट इत्ता ज़्यादा होगा?

आलिया की RRR में एक गाने का बजट इत्ता ज़्यादा होगा?

तापसी ने नया प्रोडक्शन हाउस शुरू किया है.

कारगिल के शहीद कैप्टन विक्रम बत्रा की बायोपिक 'शेरशाह' की ख़ास बातें जान लीजिए

कारगिल के शहीद कैप्टन विक्रम बत्रा की बायोपिक 'शेरशाह' की ख़ास बातें जान लीजिए

करण जौहर बना रहे हैं और सिद्धार्थ मल्होत्रा लीड रोल करेंगे.

कान में स्क्रीन हुई वो बेहतरीन इंडियन फिल्में, जिन्होंने तहलका मचा दिया

कान में स्क्रीन हुई वो बेहतरीन इंडियन फिल्में, जिन्होंने तहलका मचा दिया

एक फिल्म तो ऐसी है जो पहले कान में ही अवॉर्ड ले आई.

शाहरुख खान और संजय दत्त बहुत बड़ी पिक्चर बनाने वाले हैं?

शाहरुख खान और संजय दत्त बहुत बड़ी पिक्चर बनाने वाले हैं?

क्राइम रिपोर्टर बनेंगी यामी गौतम.

सुशांत के फैन्स ने अबकी बार अपना गुस्सा किस एक्टर पर निकाला है?

सुशांत के फैन्स ने अबकी बार अपना गुस्सा किस एक्टर पर निकाला है?

कृति सेनन की 'मिमि' का ट्रेलर रिलीज़ हो गया है.

सारा अली खान ने मंदिर से फोटो शेयर की, लोगों ने कमेंट बॉक्स में ज़हर उगल दिया

सारा अली खान ने मंदिर से फोटो शेयर की, लोगों ने कमेंट बॉक्स में ज़हर उगल दिया

अजय देवगन की 'भुज' का ट्रेलर हुआ रिलीज़.

8 किस्से, जो बताते हैं, कैसे दिलीप कुमार ने शाहरुख, अमिताभ, धर्मेंद्र की लाइफ बना दी थी

8 किस्से, जो बताते हैं, कैसे दिलीप कुमार ने शाहरुख, अमिताभ, धर्मेंद्र की लाइफ बना दी थी

जब अमिताभ बच्चन नोटबुक लिए चिल्लाते रहे और दिलीप कुमार ऑटोग्राफ दिए बिना चल दिए!

भारत की पहली एरियल एक्शन फिल्म 'फाइटर' की ख़ास आठ बातें, जिसमें हृतिक और दीपिका हैं

भारत की पहली एरियल एक्शन फिल्म 'फाइटर' की ख़ास आठ बातें, जिसमें हृतिक और दीपिका हैं

क्या होती है एरियल एक्शन फिल्म?