Submit your post

Follow Us

दुनिया में भारतीय सिनेमा का डंका बजाने वाले इस फिल्मकार की 10 बातें सबको सुननी चाहिए

सत्यजीत राय (2 मई 1921 – 23 अप्रैल 1992 ). जिनकी वजह से दुनिया ने भारत के सिनेमा को जाना. राय अकेले भारतीय हैं, जिसे लाइफ टाइम अचीवमेंट का ऑस्कर दिया गया, जबकि उनकी कोई फ़िल्म कभी किसी ऑस्कर में नॉमिनेट भी नहीं हुई थी. 1992 में उन्हें ये स्पेशल ऑस्कर अवॉर्ड दिया गया था. वे बीमार थे और कलकत्ता के बेल व्यू क्लिनिक में भर्ती थे. वहां जा नहीं सकते थे, इसलिए एकेडमी अवॉर्ड्स के सदस्य कलकत्ता आकर उन्हें अवॉर्ड दिया. आज सत्यजीत राय की बरसी है. उनकी कही वो दस बातें सुनिए, जो सत्यजीत का पूरी दुनिया को सबक़ है –

#1

मैं निश्चित रूप से बम्बई के एक्टर्स जितना धनी नहीं हूं. लेकिन मैं आराम से जी सकता हूं. मुझे बस इतना ही चाहिए. मैं वो किताबें और रिकॉर्ड ख़रीद सकता हूं, जो चाहता हूं.

Ray 01 Copy

#2

निर्देशक इकलौता शख्स होता है, जिसे मालूम होता है कि उसकी फ़िल्म किस बारे में है.

Ray 02 Copy

#3

सिनेमा की ख़ासियत ये है कि वो इंसानी दिमाग़ के सबसे बारीक संवाद को भी पर्दे पर उतार सकता है.

Ray 03 Copy

#4

सुधार की गुंजाइश हमेशा रहती है.

Ray 04 Copy

#5

कोई भी समाधान तब वाक़ई समाधान होता है, जब उसमें आप ख़ुद को खोज लेते हैं.

Ray 05 Copy

#6

अगर आपकी थीम साधारण है, तो आप उसमें सैकड़ों ऐसे तत्व जोड़ सकते हैं, जो सच्चाई के भ्रम को और बेहतर दिखा सकते हैं.

Ray 06 Copy

#7

जब मैं ओरिजिनल स्टोरी लिखता हूं, तो मैं उन लोगों के बारे में लिखता हूं, जिन्हें मैं जानता हूं, जिन्हें ख़ुद पहचानता हूं. मैं उन्नीसवीं शताब्दी की कहानियां नहीं लिखता.

Ray 07 Copy

#8

‘बाइसाइकिल थीव्ज़’ सिनेमा के मूल सिद्धांतों की एक शानदार खोज है.

Ray 08 Copy

#9

जैसे ही आपकी कहानी में कोई नया किरदार आता है, आपको उसकी शक्ल और कपड़ों के बारे में बताना ही चाहिए, वरना पाठक ख़ुद से कल्पना कर लेगा

Ray 09 Copy

#10

‘Dominus Omnium Magister’ इसका मतलब होता है ‘भगवान हर चीज़ का मालिक है’

Ray 10 Copy


ये वीडियो भी देखें:

अल्लामा इक़बाल की कही इन 10 बातों को हमेशा याद रखना चाहिए

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

पोस्टमॉर्टम हाउस

रामायण में 'त्रिजटा' का रोल आयुष्मान खुराना की सास ने किया था?

रामायण की सीता, दीपिका चिखालिया ने किए 'त्रिजटा' से जुड़े भयानक खुलासे.

क्या दूरदर्शन ने 'रामायण' मामले में वाकई दर्शकों के साथ धोखा किया है?

क्योंकि प्रसार भारती के सीईओ ने जो कहा, वो पूरी तरह सही नहीं है. आपको टीवी पर जो सीन्स नहीं दिखे, वो यहां हैं.

शी- नेटफ्लिक्स वेब सीरीज़ रिव्यू

किसी महिला को संबोधित करने के लिए जिस सर्वनाम का इस्तेमाल किया जाता है, उसी के ऊपर इस सीरीज़ का नाम रखा गया है 'शी'.

असुर: वेब सीरीज़ रिव्यू

वो गुमनाम-सी वेब सीरीज़, जो अब इंडिया की सबसे बेहतरीन वेब सीरीज़ कही जा रही है.

फिल्म रिव्यू- अंग्रेज़ी मीडियम

ये फिल्म आपको ठठाकर हंसने का भी मौका देती है मुस्कुराते रहने का भी.

गिल्टी: मूवी रिव्यू (नेटफ्लिक्स)

#MeToo पर करण जौहर की इस डेयरिंग की तारीफ़ करनी पड़ेगी.

कामयाब: मूवी रिव्यू

एक्टिंग करने की एक्टिंग करना, बड़ा ही टफ जॉब है बॉस!

फिल्म रिव्यू- बागी 3

इस फिल्म को देख चुकने के बाद आने वाले भाव को निराशा जैसा शब्द भी खुद में नहीं समेट सकता.

देवी: शॉर्ट मूवी रिव्यू (यू ट्यूब)

एक ऐसा सस्पेंस जो जब खुलता है तो न सिर्फ आपके रोंगटे खड़े कर देता है, बल्कि आपको परेशान भी छोड़ जाता है.

ये बैले: मूवी रिव्यू (नेटफ्लिक्स)

'ये धार्मिक दंगे भाड़ में जाएं. सब जगह ऐसा ही है. इज़राइल में भी. एक मात्र एस्केप है- डांस.'