Submit your post

Follow Us

सैफ अली खान की फिल्म 'कालाकांडी' की असल कहानी ये है!

#1. ये फिल्म छह लोगों के बारे में है जो समाज के तीन अलग वर्गों से ताल्लुक रखते हैं. मुंबई में बरसात की एक रात में इनकी स्टोरीज़ किसी तरह से टकरा जाती है और रात में न जाने क्या-क्या घटता है.

#2. कहानी में सैफ अली ख़ान एक बैंकर राइलीन का कैरेक्टर निभा रहे हैं. बताया जाता है कि उसने जिंदगी में हर काम अनुशासन और संयम से किया है. कभी जिंदगी में सिगरेट तक नहीं पी, कभी लाल बत्ती तक क्रॉस नहीं की. लेकिन जब उसे पता चलता है कि उसे कैंसर है तो वो चकरा जाता है. पैरों तले ज़मीन सरक जाती है. फिर वो अपनी बची जिंदगी को पूरी तरह बदलने का फैसला लेता है. वो ऐसे-ऐसे लोगों से मिलता है और ऐसे काम करता है जो सपने में भी कभी नहीं सोचे थे.

फिल्म में सैफ अपने किरदार में.
फिल्म में सैफ अपने किरदार में.

इन्हीं लोगों में कुछ अंडरवर्ल्ड के गैंगस्टर भी होते हैं. ये भूमिकाएं दीपक डोबरियाल, विजय राज और नील भूपलम की मानी जा रही हैं. राइलीन के छोटे भाई के रोल में हैं अक्षय ओबेरॉय जो अमायरा दस्तूर से प्यार करता है. कहानी में कुणाल रॉय कपूर, शेनाज ट्रेज़री और सोभिता धूलिपाला के पात्र भी आते हैं.

#3. इस फिल्म के डायरेक्टर हैं अक्षत वर्मा जिनकी डायरेक्टर के तौर पर ये पहली फिल्म है. इससे पहले उन्होंने आमिर खान के बैनर की ‘डेल्ही बैली’ (2011) लिखी थी जिसके कंटेंट पर आलोचकों को आपत्ति हुई थी लेकिन युवाओं को पसंद आई थी. उस फिल्म में इमरान खान, कुणाल रॉय कपूर और वीर दास तीन दोस्तों के रोल में थे जो गैंगस्टर लोगों के बीच मुसीबत में पड़ जाते हैं. उस फिल्म से कुणाल, विजय राज और शेनाज ट्रेजरी को अक्षत ने ‘कालाकांडी’ में भी रिपीट किया है.

#4. अक्षत ने सैफ को लीड रोल में सोचकर ही ‘कालाकांडी’ लिखी थी. ये डार्क कॉमेडी ‘डेल्ही बैली’ जैसी ही धमा-चौकड़ी से भरी हुई है लेकिन मेकर्स का कहना है कि ये वाली ज्यादा डार्क है. इसमें जिंदगी, मौत, लव, दनदनाती बंदूकें और कर्म सब मानसून की रात में साथ भीगते हैं.

अक्षत वर्मा.
अक्षत वर्मा.

#5. यू.के. और भारत में स्थित सिनेस्तान फिल्म कंपनी ने भी इस फिल्म में पैसा लगाया है. इससे पहले उसने 2016 में राकेश मेहरा की ‘मिर्जया’ प्रोड्यूस की थी.

#6. ‘कालाकांडी’ की रिलीज डेट पिछले महीने घोषित कर दी गई थी. फिल्म 8 सितंबर को सिनेमाघरों में लग रही है. इसका पहला लुक और पहला टीज़र हाल ही में आया है. ट्रेलर जल्द ही आना है.

और पढ़ें :
अनुष्का शर्मा की फिल्म ‘परी’ की 5 बातें जो आपको जाननी चाहिए!
भारतीय सेना की अनूठी कहानियों पर एक-दो नहीं, 8 फिल्में बन रही हैं!
राज कुमार के 42 डायलॉगः जिन्हें सुनकर विरोधी बेइज्ज़ती से मर जाते थे!
‘बादशाहो’ की असल कहानीः ख़जाने के लिए इंदिरा गांधी ने गायत्री देवी का किला खुदवा दिया था!
इंडिया में राजकुमार राव की फिल्म ‘न्यूटन’ का ट्रेलर नहीं आया है पर यहां देखिए
भंसाली ने ‘पद्मावती’ में कुछ ऐसा किया है कि राजपूत उन्हें गले लगा लेंगे

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

पोस्टमॉर्टम हाउस

वेब सीरीज़ रिव्यू- अनपॉज़्ड: नया सफर

वेब सीरीज़ रिव्यू- अनपॉज़्ड: नया सफर

इस सीरीज़ की सभी 5 कहानियों में एक चीज़ कॉमन है- सबकुछ बेहतर हो जाने की उम्मीद.

'रॉकेट बॉयज़' में क्या ख़ास है, जो दो महान वैज्ञानिक विक्रम साराभाई और होमी भाभा की कहानी दिखाएगी?

'रॉकेट बॉयज़' में क्या ख़ास है, जो दो महान वैज्ञानिक विक्रम साराभाई और होमी भाभा की कहानी दिखाएगी?

ट्रेलर आया है, जिसमें एक बड़े वैज्ञानिक का कैमियो भी है.

मूवी रिव्यू: 36 फार्महाउस

मूवी रिव्यू: 36 फार्महाउस

अगर Knives Out को बहुत ही बुरे ढंग से बनाया जाए, तो रिज़ल्ट ’36 फार्महाउस’ जैसी फिल्म होगी.

वेब सीरीज़ रिव्यू- ये काली काली आंखें

वेब सीरीज़ रिव्यू- ये काली काली आंखें

'ये काली काली आंखें' में आपको बहुत सी ऐसी चीज़ें दिखेंगी, जो आप पहले देख चुके हैं. बस उन चीज़ों के मायने, यहां थोड़ा हटके हैं.

वेब सीरीज रिव्यू: ह्यूमन

वेब सीरीज रिव्यू: ह्यूमन

न ही इसे सिरे से खारिज किया जा सकता है, न ही इसे मस्ट वॉच की कैटेगरी में रखा जा सकता है

साउथ इंडिया के 8 कमाल एक्टर्स, जो हिंदी सिनेमा में डेब्यू करने वाले हैं

साउथ इंडिया के 8 कमाल एक्टर्स, जो हिंदी सिनेमा में डेब्यू करने वाले हैं

अब इनकी हिंदी डब फिल्में खोजने की ज़रूरत नहीं पड़ेगी.

वेब सीरीज़ रिव्यू: हम्बल पॉलिटिशियन नोगराज

वेब सीरीज़ रिव्यू: हम्बल पॉलिटिशियन नोगराज

अगर पॉलिटिकल कॉमेडी से ऑफेंड होते हैं, तो दूर ही रहिए.

वेब सीरीज़ रिव्यू: कौन बनेगी शिखरवटी

वेब सीरीज़ रिव्यू: कौन बनेगी शिखरवटी

नसीरुद्दीन शाह, रघुबीर यादव और लारा दत्ता जैसे एक्टर्स लिए लेकिन....

वेब सीरीज़ रिव्यू- क्यूबिकल्स 2

वेब सीरीज़ रिव्यू- क्यूबिकल्स 2

Cubicles 2 एक सपने के साथ शुरू होती है. और इसका एंड भी बिल्कुल ड्रीमी होता है. एक ऐसा सपना, जिसके पूरे होने की सिर्फ उम्मीद और इंतज़ार किया जा सकता है.

वेब सीरीज़ रिव्यू: कैंपस डायरीज़

वेब सीरीज़ रिव्यू: कैंपस डायरीज़

कैसा है यूट्यूब स्टार्स हर्ष बेनीवाल और सलोनी गौर का ये नया शो?