Submit your post

Follow Us

कुमकुम भाग्य में अटके दुखियारों, ये 5 TV शो देखो

टीवी के ऑस्कर अवॉर्ड Emmy के 68वें संस्करण के नामांकनों की घोषणा गुरुवार को हो गई. एक से एक मजेदार और थ्रिलिंग टीवी सीरीज को नामांकन मिले हैं. अब पुरस्कार वितरण 18 सितंबर को होगा. एबीसी नेटवर्क पर सेरेमनी प्रसारित होगी. लेकिन हमें क्या? हम तो कुमकुम भाग्य देख रहे हैं. या फिर साथ निभाना साथिया. ये रिश्ता क्या कहलाता है और चक्रवर्ती अशोक सम्राट भी तो है.

ठीक है कोई बुरी बात नहीं लेकिन ये तो तय है कि इन कार्यक्रमों ने आपको एंटरटेनमेंट की दुनिया के सबसे ताजा और आधुनिक कंटेंट से सदियों दूर रखा हुआ है. बीस साल पहले दूरदर्शन पर नारी तू नारायणी, अपराजिता, अर्धांगिनी देखते थे और आज एक था राजा एक थी रानी और कवच, तो कोई फर्क नहीं है. अगर वाकई में मजा लेना है ऐसे किस्सों का जो दिमाग खोल देंगे तो अमेरिका और ब्रिटेन की टीवी सीरीज का मजा लीजिए. जो वहां प्रसारित होती हैं और बहुत सी नेटफ्लिक्स पर मौजूद है जिन्हें ऑनलाइन देख सकते हैं.

बात करते हैं उन 5 अमेरिकी टीवी सीरीज की जो बेहद अलग और प्रभावी हैं. बांधकर रखेंगी. इनके अलावा भी इन दिनों Black-ish, UnREAL, Modern Family, Game of Thrones, Orange is the New Black, Peaky Blinders जैसी सीरीज चल रही हैं जिन्हें बहुत देखा जा रहा है, इन्हें भी हाथ लगे तो देखिएगा.

1. The Americans

अमेरिका के वॉशिंगटन डीसी के बाहर एक कॉलोनी में प्यारे से पति-पत्नी एलिजाबेथ और फिलिप रहते हैं. दो बच्चे हैं. पड़ोसी हैं. पड़ोस में एक एफबीआई ऑफिसर स्टैन भी रहता है. लेकिन किसी को नहीं पता कि एलिजाबेथ और फिलिस सोवियत रूस की जासूसी एजेंसी केजीबी के लोग हैं और छद्म रूप से रह रहे हैं. ये कहानी 1980 के दशक की है जब अमेरिका और रूस के बीच शीत युद्ध जारी था और दोनों ने अपने जासूस दूसरे मुल्क में छोड़ रखे थे. एलिजाबेथ को अपना कवर भी बचाना है और केजीबी द्वारा दिए जाने वाले मिशन भी पूरे करने हैं. लेकिन इस बीच एक आम इंसान वाली समस्याएं भी उनके जीवन में है. एक पराए मुल्क में वे रहते हैं. ये ऐसी कहानी है जिससे हम देशों की सीमाएं भूल जाते हैं. ये कहानी कुछ वैसी ही है कि एक पाकिस्तानी दंपत्ति भारत में रहता है और जासूसी करता है और हम उन्हें 52 कड़ियों से देख रहे हैं लेकिन हमें उनसे घृणा नहीं होती बल्कि हम उन्हें पसंद करने लगते हैं. फिल्म माध्यम में ऐसी कहानियों का चुनाव ही मौजूदा दौर में हमारा स्वाद तय कर रहा है.

इस सीरीज को पूर्व सीआईए अधिकारी जो वाइज़बर्ग ने रचा है. 2013 में शुरू हुई द अमेरिकन्स के FX चैनल (फॉक्स एक्सटेंडेड) पर चार सीज़न आ चुके हैं. सीज़न पांच 2017 में और अंतिम सीजन 6 2018 में प्रसारित होगा।

2. The People v. O.J. Simpson: American Crime Story

(1994 में) पूर्व अमेरिकी नेशनल फुटबॉल लीग के स्टार रहे और एक्टर ओ. जे. सिम्पसन (क्यूबा गुडलिंग जूनियर) को अपनी पूर्व-पत्नी निकोल और एक वेटर रॉन गोल्डमैन की हत्या के आरोप में गिरफ्तार किया जाता है. अपने बचाव के लिए सिम्पसन वकीलों की हाई-प्रोफाइल टीम हायर करता है. यहां से कहानी भारी उतार-चढ़ावों, खुलासों, 24×7 मीडिया ट्रायल (खासकर सीएनएन), नस्लवाद के एंगल, कोर्टरूम ड्रामा, दोस्तियों, दुश्मनियों और सच-झूठ से गुजरती है. अमेरिकी इतिहास का ये सबसे चर्चित केस कहा जाता है और ऐसे में इसकी कहानी लोगों के लिए नई नहीं है, ऐसे में इस सीरीज में परदे के पीछे की घटनाओं और उठा-पटक को दिखाने की कोशिश की गई है जिसे ज्यादा नहीं जाना जाता.

FX चैनल पर फरवरी 2016 को शुरू हुई अमेरिकन क्राइम स्टोरी के पहले सीज़न का नाम है द पीपुल वर्सेज़ ओ. जे. सिम्पसन: द अमेरिकन क्राइम स्टोरी. 10 कड़ियों वाला पहला सीजन अप्रैल में निपट गया. ये कहानी उस मर्डर ट्रायल की है जिसे इस सदी की सबसे बड़ी ट्रायल कहा जाता है. अमेरिकन क्राइम स्टोरी का दूसरा सीजन अमेरिका में आए कटरीना तूफान पर आधारित होगा. पहला सीजन बेहद चर्चित रहा है.

3. House of Cards

फ्रैंक अंडरवुड (केविन स्पेसी) डेमोक्रेट सांसद है. अमेरिकी राजनीति में वो सबसे ऊपर पहुंचना चाहता है और इसके लिए कुछ भी करेगा. वह धूर्त, निर्दयी और चीजों को साम, दाम, दंड, भेद से अपने पक्ष में करता है. इसका ये स्वरूप तब सामने आता है जब उसे विदेश मंत्री के तौर पर नामांकित करने से मना कर दिया जाता है. उसके बाद वह एक विस्तृत योजना बनाता है जिसमें ऐसे-ऐसे मोड़ आते हैं जो किसी को नहीं पता होते. इसमें उसकी पत्नी क्लेयर उसका साथ देती है. सत्ता के ऐसे गलियारे आपने कभी नहीं देखे होंगे. फ्रैंक आपको जितना घृणित लगेगा उतना ही जरूरी भी क्योंकि एक वही है जो हमें राजनीति के अंदर की गंदगी यूं खुलकर बताता जाता है. नहीं तो आमतौर पर हम सोप ओपेरा देखने वाले भोले-भाले बने रहते हैं और सत्ता की जालसाजियां नहीं समझ पाते.

प्रधानमंत्री मार्गरेट थैचर का कार्यकाल खत्म होने के बाद ब्रिटेन की राजनीति की कुरूप कहानी को लेकर दिसंबर 1990 में हाउस ऑफ कार्ड्स नाम की सीरीज आई थी. उसकी सिर्फ चार कड़ियां थीं. उसी को 2013 में अमेरिकी राजनीति के संदर्भ में नए सिरे से रचा गया. इस साल मार्च में इसका चौथा सीजन खत्म हुआ है. पांचवा 2017 में आएगा.

4. Homeland

कहानी की शुरुआत आतंकी अबु नाजिर के ठिकाने पर एक अमेरिकी डेल्टा फोर्स के छापे से होती है. वहां उन्हें बुरे हालात में एक आदमी मिलता है. उसका नाम है निकोलस ब्रोडी. वो एक अमेरिकी सैनिक था और युद्ध क्षेत्र से 2003 में गायब हो गया था. उसे आतंकियों ने बंदी बनाकर रखा था. अब वह लौट रहा है तो पूरे देश में राष्ट्रवादी महौल है, अमेरिकी राजनेता और सेना इस मौके को एक हीरो की वापसी के तौर पर दिखाना चाहती है और इस दौरान अमेरिकी गुप्तचर एजेंसी सीआईए की अधिकारी कैरी मैथिसन को लगता है कि जरूर निकोलस को अल-कायदा ने अपने पक्ष में कर लिया है. वो बिना मंजूरी के भी निकोलस की जासूसी करने लगती है. ये महज शुरुआत है. आगे चलकर ये कहानी बहुत ज्यादा फैलती है. इसमें सीआईए और उसके अन्य मुल्कों में चलने वाले ऑपरेशन, उनके काम करने के तरीके, सीआईए के जासूसों के जीवन, मिडिल ईस्ट, अमेरिकी विदेश नीति, आतंकी और एकदम बांध देने वाले अन्य किस्से आते जाते हैं. एक बार देखना शुरू करने के बाद आपको होमलैंड का नशा हो जाता है.

इजरायली टीवी सीरीज हुतुफिम पर आधारित होमलैंड के पांच सीजन आ चुके हैं. पिछला सीजन दिसंबर 2015 में खत्म हुआ था. हर सीजन में 12 कड़ियां होती हैं. अब छठा सीजन 2017 में आएगा.

5. Mr. Robot

एक लड़का है इलियट (रामी मालेक). न्यू यॉर्क में रहता है. वह ऑलसेफ नाम की कंपनी में साइबर सिक्योरिटी इंजीनियर है. हैकर है. उसे social anxiety disorder है. सामाजिक व्यवहार के बीच और लोगों से मिलने में उसे बेचैनी होने लगती है. वह एक किस्म के तनाव से भी ग्रस्त है. उसे मि. रोबोट नाम का एक आदमी हायर करता है. उसका ऐसे लोगों का समूह fsociety है जो कथित तौर पर सोशल एक्टिविज़्म के लिए हैकिंग करते हैं. इस ग्रुप का इरादा बहुत बड़ी कंपनी ई-कॉर्प पर साइबर हमला करके उपभोक्ताओं के सारे कर्ज रद्द कर देने का है. कहानी का केंद्रीय पात्र इलियट जिस तरह से अपने आस-पास के समाज और लोगों को देखता है और कमियों पर टिप्पणी करता है वो आह्लादकारी है क्योंकि टेलीविजन पर ऐसा कंटेंट पहले नहीं रहा है. एक सीमित फिल्म में ऐसा किया जा सकता है लेकिन सीरीज में कई कड़ियों में इस दर्शन को फैलाव दे पाना कठिन काम है.

यूएसए नेटवर्क पर पिछले साल जून में मि. रोबोट का पहला सीजन प्रसारित होना शुरू हुआ. सीज़न दिसंबर में खत्म हुआ. अब इसी हफ्ते इसका दूसरा सीजन शुरू हुआ है. इस सीरीज को बहुत सराहा जा रहा है. इसे बेस्ट ड्रामा का गोल्डन ग्लोब भी मिल चुका है.

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

पोस्टमॉर्टम हाउस

वेब सीरीज़ रिव्यू- फ्लेश

एक बार इस सीरीज़ को देखना शुरू करने के बाद मजबूत क्लिफ हैंगर्स की वजह से इसे एक-दो एपिसोड के बाद बंद कर पाना मुश्किल हो जाता है.

फिल्म रिव्यू- क्लास ऑफ 83

एक खतरनाक मगर एंटरटेनिंग कॉप फिल्म.

बाबा बने बॉबी देओल की नई सीरीज़ 'आश्रम' से हिंदुओं की भावनाएं आहत हो रही हैं!

आज ट्रेलर आया और कुछ लोग ट्रेलर पर भड़क गए हैं.

करोड़ों का चूना लगाने वाले हर्षद मेहता पर बनी सीरीज़ का टीज़र उतना ही धांसू है, जितने उसके कारनामे थे

कद्दावर डायरेक्टर हंसल मेहता बनायेंगे ये वेब सीरीज़, सो लोगों की उम्मीदें आसमानी हो गई हैं.

फिल्म रिव्यू- खुदा हाफिज़

विद्युत जामवाल की पिछली फिल्मों से अलग मगर एक कॉमर्शियल बॉलीवुड फिल्म.

फ़िल्म रिव्यू: गुंजन सक्सेना - द कारगिल गर्ल

जाह्नवी कपूर और पंकज त्रिपाठी अभिनीत ये नई हिंदी फ़िल्म कैसी है? जानिए.

फिल्म रिव्यू: शकुंतला देवी

'शकुंतला देवी' को बहुत फिल्मी बता सकते हैं लेकिन ये नहीं कह सकते इसे देखकर एंटरटेन नहीं हुए.

फ़िल्म रिव्यूः रात अकेली है

नवाज़ुद्दीन सिद्दीकी और राधिका आप्टे अभिनीत ये पुलिस इनवेस्टिगेशन ड्रामा आज स्ट्रीम हुई है.

फिल्म रिव्यू- यारा

'हासिल' और 'पान सिंह तोमर' वाले तिग्मांशु धूलिया की नई फिल्म 'यारा' ज़ी5 पर स्ट्रीम होनी शुरू हो चुकी है.

फिल्म रिव्यू- दिल बेचारा

सुशांत के लिए सबसे बड़ा ट्रिब्यूट ये होगा कि 'दिल बेचारा' को उनकी आखिरी फिल्म की तरह नहीं, एक आम फिल्म की तरह देखा जाए.