Submit your post

Follow Us

मोदी से पहले नेहरू कर चुके हैं पटेल की मूर्ति का अनावरण

स्टेच्यू ऑफ यूनिटी बनकर तैयार है. पीएम नरेंद्र मोदी ने इनॉगरेशन भी कर दिया है. अच्छे खर्चे के बाद ये ग्रैंड स्टेच्यू बनकर तैयार हुई है. इस पर खुश होने वाले भी हैं, कोसने वाले भी हैं. दोनों की बातें छोड़ दें तो मेन कोसने वाले पीएम मोदी हैं. जो कांग्रेस और पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू को कोसने का कोई मौका नहीं छोड़ते. पहले बात सरदार पटेल के स्टेच्यू को लेकर. ये वाली तो सबसे ऊंची है. लेकिन पटेल की एक और मूर्ति का अनावरण खुद नेहरू ने किया था. वो भी उनके जीते हुए. उनके उप प्रधानमंत्री रहते हुए. ये हम नहीं कह रहे, एक अखबार की कटिंग कह रही है.

patel nehru

वैसे तो आपने पढ़ लिया होगा इसमें जो लिखा है. फिर भी सेफ साइड के लिए लिख देते हैं. लिखा है- सरदार पटेल की पहली प्रतिमा उनके उपप्रधानमंत्री रहते 1949 में गोधरा में स्थापित की गई थी. जिसका अनावरण नेहरू ने 22 फरवरी 1949 को किया था. गोधरा में ही पटेल की गांधी से पहली मुलाकात हुई थी, 1917 में. फोटो में नेहरू पटेल की प्रतिमा के अनावरण के मौके पर मोरार जी देसाई से बात कर रहे हैं.

ये किस अखबार में छपा था, हमने बहुत खोजा लेकिन नहीं मिला. ये पक्का हो गया कि तस्वीर फोटोशॉप्ड नहीं है. क्योंकि ये भारत की बड़ी अंग्रेजी पत्रिका Illustrated weekly of india का कवर बनी थी. 27 फरवरी 1949 को.

illustrated weekly cover

तार से तार जोड़ते हुए हम टाइम्स कॉन्टेंट वेबसाइट पर पहुंचे. वहां पर भी सेम टू सेम जानकारी लिखी थी. “गोधरा में सरदार वल्लभ भाई पटेल की मूर्ति के अनावरण के बाद प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू मोरार जी देसाई के साथ बातचीत करते हुए.” तारीख भी 22 फरवरी ही लिखी हुई है. लेकिन साथ में साल 1951 लिखा है जिसके साथ ‘tentative’ जुड़ा है. यानी ये तारीख पक्की नहीं है. इसको पक्का करने के लिए सरदार पटेल की जीवनी पढ़ लीजिए. वो 1950 तक ही गृहमंत्री और उपप्रधानमंत्री थे. यानी ये तस्वीर 1949 की ही है.

patel statue jawaharlal nehru

इन तस्वीरों की मानें तो जवाहर लाल नेहरू ने पटेल की मूर्ति का अनावरण किया था. पीएम मोदी का वो दावा धराशायी हो जाता है कि जवाहर लाल नेहरू ने या कांग्रेस ने अपने नेता की कद्र नहीं की.


देखें वीडियो, पीएम मोदी ने स्टेच्यू अनावरण के मौके पर भी कांग्रेस को घेरा

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

10 नंबरी

गूगल के इन नए फीचर्स से 'क्रोमवीरों' का दिल गार्डन-गार्डन हो जाएगा

दुनिया के नंबर-1 इंटरनेट ब्राउज़र ने कई नए फ़ीचर जोड़े हैं, जो बहुत काम के हैं, आइए जानें

आप बस ऑनलाइन क्लास पर फोकस कीजिए, टीचर के लेक्चर से नोट्स ये सॉफ्टवेयर लिख देंगे

बड़े काम के हैं ये जुगाड़, कोई भी बोलता रहे, ये लिखते रहेंगे

देश-दुनिया के वो पांच रोपवे जिनपर चढ़ने में सांस अटक जाएगी!

असम में देश का सबसे लंबा रिवर रोपवे शुरू हुआ है.

पहली बार धरती पर किसी ने कमाए 200 बिलियन डॉलर, इसमें कितने बोरी आलू आएंगे, हम बताते हैं

जेफ बेजोस पहले इंसान बने, जिन्होंने 15 लाख करोड़ रुपये जितनी दौलत कमा ली है.

शोले के 'रहीम चाचा' जो बुढ़ापे में फिल्मों में आए और 50 साल काम करते रहे

ताउम्र मामूली रोल करके भी महान हो गए हंगल सा'ब को 8 साल हुए गुज़रे हुए.

'इतना सन्नाटा क्यों है भाई' कहने वाले 'शोले' के रहीम चाचा अपनी जवानी में दिखते कैसे थे?

जिस आदमी को सिनेमा के परदे पर हमेशा बूढा देखा वो अपनी जवानी के दौर में राज कपूर से ज्यादा खूबसूरत हुआ करता था.

एक ऐसा हवाई जहाज़, जो उड़ने के 35 साल बाद क्रैश-लैंड हुआ और सनसनी फ़ैल गई

अभय देओल की वेब सीरीज़ का ट्रेलर आया है.

इस धांसू साइंस-फिक्शन फिल्म को देखकर पता चलेगा कि लोग मरने के बाद कहां जाते हैं

'कार्गो' टीज़र- एक स्पेसशिप है, जो मर चुके लोगों को रोज सुबह लेने आता है. लेकिन लेकर कहां जाता है?

ईशान-अनन्या की नई फिल्म, जो डिसलाइक्स के मामले में 'सड़क 2' का भी रिकॉर्ड तोड़ सकती है

'खाली-पीली' का टीज़र आपको कोरोना काल में बहुत राहत देने वाला है.

वो राज्य, जहां राज्यपाल और मुख्यमंत्री एकदूसरे से खार खाए बैठे हैं

साथ में, राज्यपाल की 'दादागिरी' का एक किस्सा भी.