Submit your post

Follow Us

मूवी रिव्यू: स्पाइडर मैन - फार फ्रॉम होम

स्पाइडर मैन वापस आया है. अवेंजर्स-एंड गेम के बाद मार्वल सिनेमैटिक यूनिवर्स के फैन्स के बीच जो एक सूनापन फैला था, उसे भरने. कितने हद तक कामयाब हुआ है, आइए जानते हैं. इस शुक्रवार ‘स्पाइडर मैन-फार फ्रॉम’ होम रिलीज़ हुई है जो 2017 में आई स्पाइडर-होमकमिंग का सीक्वल है, और मार्वल सीरीज़ की 23वीं फिल्म.

अवेंजर्स-एंड गेम की आपाधापी ख़त्म होने के बाद स्पाइडर मैन उर्फ़ पीटर पार्कर अपने हाई स्कूल लौट आया है. और अपने क्रश एमजे के दिल में जगह बनाने के लिए ताबड़तोड़ कोशिशें कर रहा है. ऐसे में स्कूल की यूरोप ट्रिप से उसे बहुत उम्मीदें हैं. उधर शील्ड्स वाले निक फ्यूरी और उनकी टीम एक अजीब तरह के विलेन से लोहा ले रही है. ये विलेन तूफ़ान की शक्ल का है और भयंकर तबाही मचा रहा है. ऐसे में एंट्री होती है मिस्टेरियो उर्फ़ क्वेंटिन बेक की. वो इस नए विलेन से पूरी कामयाबी से निपट कर दिखाता है. तो क्या बेक अपना नया सुपरहीरो है. क्या एंडगेम के बाद जो सुपरहीरोज़ की शॉर्टेज हुई है उसे बेक पूरा करने वाला है?

उधर हरदिलअज़ीज़ आयरन मैन उर्फ़ टोनी स्टार्क ने पीटर पार्कर में तगड़ा भरोसा जताया है. उसमें अगले आयरन मैन की छवि देखी है. उसके लिए एडिथ नाम का एक गैजेट छोड़ भी गया है. क्या पीटर उसके इस भरोसे पर खरा उतर पाएगा? या उम्र और तजुर्बे की कमी उससे कोई बेवकूफी करवा देगी? बेक कौन है? हीरो, साइड हीरो, विलेन, आखिर कौन? इन सब सवालों के जवाब तो आपको फिल्म देखकर ही मिलेंगे.

जेक जिलनहाल एक्शन सीन्स में अच्छे लगते हैं.
जेक जिलनहाल एक्शन सीन्स में अच्छे लगते हैं.

स्पाइडर मैन-फार फ्रॉम होम, आपको वो सब देती है जो आप मार्वल की फिल्मों से उम्मीद करके जाते हैं. आंखें चौंधियां देने वाला एक्शन, दिल धड़काने वाला ड्रामा, टेंशन में डाल देने वाला थ्रिल और गुदगुदाने वाला ह्यूमर. यानी की कम्प्लीट मार्वल पैकेज. हां, अवेंजर्स-एंड गेम जैसी ग्रैंड फिल्म के बाद ये आपको ऐसी ही लगेगी जैसे छप्पन भोग की थाली के बाद कोई राजमा चावल परोस दें. लेकीन ये भी है कि राजमा चावल ढंग से बने हो तो वो भी अद्भुत आनंद दे जाते हैं. कहने की बात ये कि एंड गेम जितनी आसमानी उम्मीद लेकर जाएंगे तो शायद थोड़े से निराश हों लेकिन अगर इंडिविजुअल फिल्म के तौर पर देखेंगे तो पसंद करेंगे खूब.

एक्टिंग की बात की जाए तो पीटर पार्कर के रोल में टॉम हॉलंड इम्प्रेसिव काम करते हैं. एक टीन एजर, जिसकी प्रायोरिटीज़ अलग है और जो अपने जीवन के सबसे अच्छे दिन अपनी मर्ज़ी की चीज़ें करते हुए बिताना चाहता है. जैसे एमजे को इम्प्रेस करना, न कि दुनिया पर आने वाले खतरों से लड़ना-भिड़ना. हां लेकिन इसका मतलब ये भी नहीं है कि वो अपने फ़र्ज़ से मुंह मोड़ देगा. टॉम एक टीन एजर की हड़बड़ी, उसकी मासूमियत सटीक ढंग से पेश करने में कामयाब हैं. वो सहज लगते हैं.

आयरन मैन के असिस्टेंट हैप्पी आपका कॉमिक रिलीफ हैं फिल्म में.
आयरन मैन के असिस्टेंट हैप्पी आपका कॉमिक रिलीफ हैं फिल्म में.

क्वेंटिन बेक के रोल में जेक जिलनहाल भी प्रभावित कर जाते हैं. ख़ास तौर से एक्शन सीन्स में. एक सीन में जब पीटर उनके किरदार को एडिथ सौंपकर चला जाता है तो चंद सेकंड्स में वो अपने एक्सप्रेशंस, अपनी टोन में कमाल का चेंज ले आते हैं. बहुत उम्दा बन पड़ा है वो सीन. एमजे के रोल में ज़ेंडाया ने बेफिक्री और इंटेलिजेंस का बढ़िया कॉम्बो परदे पर उतारा है. बाकी सैम्युअल एल जैक्सन समेत मार्वल वाले तमाम स्टॉक किरदार हैं ही जो अपना काम शानदार ढंग से करते हैं.

स्पाइडर मैन की फिल्म हो और एक्शन की बात न हो ये कैसे हो सकता है? एक्शन सीन्स हमेशा की तरह ज़बरदस्त हैं. चाहे वो पानी वाले राक्षस द्वारा मचाई तबाही के दृश्य हो या लाखों ड्रोन्स का शहर पर अटैक. एक्शन टॉप क्वालिटी का है. वर्चुअल रियलिटी वाला एक सीन तो सांस रोकने के काबिल बन पडा है. उस सीन में आप हीरो के साथ-साथ दिमाग लड़ाते रहते हैं कि जो दिख रहा है उसमें सच कितना है और नज़रों का धोखा कितना.

तो इन शॉर्ट बात ये कि अवेंजर्स-एंड गेम के ग्रैंड-फिनाले के बाद भी मार्वल का कारवां आगे बढ़ रहा है. अभी काफी फ़िल्में आएंगी. ‘स्पाइडर मैन-फार फ्रॉम’ होम आपको मार्वल की दुनिया से दोबारा कनेक्ट होने का अच्छा मौक़ा देती है. वही दुनिया जो थ्रिल, सस्पेंस, एक्शन, ह्यूमर, इमोशंस से गुलज़ार है. जहां स्टाइलिश सुपर हीरोज़ और डरावने विलेन्स की भरमार है. अगर आप मार्वल सिनेमैटिक यूनिवर्स के फैन हैं तो आपके नज़दीकी सिनेमा हॉल ये तोहफा आपका इंतज़ार कर रहा है.


वीडियो:

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

10 नंबरी

इबारत : शरद जोशी की वो 10 बातें जिनके बिना व्यंग्य अधूरा है

आज शरद जोशी का जन्मदिन है.

इबारत : सुमित्रानंदन पंत, वो कवि जिसे पैदा होते ही मरा समझ लिया था परिवार ने!

इनकी सबसे प्रभावी और मशहूर रचनाओं से ये हिस्से आप भी पढ़िए

गिरीश कर्नाड और विजय तेंडुलकर के लिखे वो 15 डायलॉग, जो ख़ज़ाने से कम नहीं!

आज गिरीश कर्नाड का जन्मदिन और विजय तेंडुलकर की बरसी है.

पाताल लोक की वो 12 बातें जिसके चलते इस सीरीज़ को देखे बिन नहीं रह पाएंगे

'जिसे मैंने मुसलमान तक नहीं बनने दिया, आप लोगों ने उसे जिहादी बना दिया.'

ऑनलाइन देखें वो 18 फ़िल्में जो अक्षय कुमार, अजय देवगन जैसे स्टार्स की फेवरेट हैं

'मेरी मूवी लिस्ट' में आज की रेकमेंडेशन है अक्षय, अजय, रणवीर सिंह, आयुष्मान, ऋतिक रोशन, अर्जुन कपूर, काजोल जैसे एक्टर्स की.

कैरीमिनाटी का वीडियो हटने पर भुवन बाम, हर्ष बेनीवाल और आशीष चंचलानी क्या कह रहे?

कैरी के सपोर्ट में को 'शक्तिमान' मुकेश खन्ना भी उतर आए हैं.

वो देश, जहां मिलिट्री सर्विस अनिवार्य है

क्या भारत में ऐसा होने जा रहा है?

'हासिल' के ये 10 डायलॉग आपको इरफ़ान का वो ज़माना याद दिला देंगे

17 साल पहले रिलीज़ हुई इस फ़िल्म ने ज़लज़ला ला दिया था

4 फील गुड फ़िल्में जो ऑनलाइन देखने के बाद दूसरों को भी दिखाते फिरेंगे

'मेरी मूवी लिस्ट' में आज की रेकमेंडेशंस हमारी साथी स्वाति ने दी हैं.

आर. के. नारायण, जिनका लिखा 'मालगुडी डेज़' हम सबका नॉस्टैल्जिया बन गया

स्वामी और उसके दोस्तों को देखते ही बचपन याद आता है