Submit your post

Follow Us

पड़ताल : क्या महाराणा प्रताप के किले में कांग्रेस ने नमाज पढ़ने की इजाज़त दी?

3.00 K
शेयर्स

सोशल मीडिया पर राजस्थान सरकार को लेकर एक पोस्ट वायरल हो रही है. वायरल ही क्या, झमाझम वायरल हो रही है. पोस्ट में दावा किया गया है कि महाराणा प्रताप के किले में कांग्रेस सरकार ने मुस्लिम समुदाय को इज़्तिमा करने की इजाज़त दे दी है. अब आप कहेंगे कि इज़्तिमा की इजाज़त देने में क्या बुराई है. कोई भी सरकार दे सकती है. लेकिन बात इतनी सी नहीं है. पहले वायरल हो रहे पोस्ट पर नज़र मारिए-

जो अकबर न कर सका वो अशोक गहलोत ने कर दिखाया. राजस्थान सरकार ने महाराणा प्रताप के कुम्भलगढ़ किले में इज्तेमा की इजाजत प्रदान की. जिस किले में हमेशा एकलिंगनाथ, हर-हर महादेव का जयघोष होता रहा, वहा पहली बार अल्ला हु अकबर गूंजेगा। This is @INCIndia for u. think before u vote.

एक ही स्क्रीनशॉट में ट्विटर और फेसबुक दोनों पर किए जा रहे दावों की तस्वीर है
एक ही स्क्रीनशॉट में ट्विटर और फेसबुक दोनों पर किए जा रहे दावों की तस्वीर है

10 मार्च की तारीख में किए गए इस ट्वीट को 6 हज़ार से भी ज़्यादा बार रीट्वीट किया गया. इसी कैप्शन के साथ फेसबुक पर भी खूब लोगों ने शेयर किया. वैसे जिस गौरव प्रधान ने इस पोस्ट को ट्वीट किया, उन्हें ट्विटर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह भी फॉलो करते हैं.

एक और पोस्ट देखिए.
एक और पोस्ट देखिए.

क्या है सच्चाई?

इंडिया टुडे की फैक्ट चेक टीम ने इस मामले की पड़ताल की. इसके बाद पता चला कि कुंभलगढ़ का किला ASI के अंदर आता है. इसीलिए यहां होने वाले किसी भी आयोजन की अनुमति राज्य सरकार नहीं दे सकती. इसलिए गहलोत सरकार इस किले के अंदर किसी धार्मिक कार्यक्रम करने की इजाज़त दें, ऐसा मुमकिन ही नहीं है. इंडिया टुडे की टीम फिर भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग के सुपरिटेंडेंट डी आर बडिगर से बात की. उन्होंने भी यही जानकारी दी कि राज्य सरकार के पास किले के भीतर आयोजन करने की इजाज़त देने की अथॉरिटी ही नहीं है. अनुमति सिर्फ एएसआई ही दे सकता है.

यानी कि यहां से तो साफ हो गया कि किले के भीतर इज़्तिमा की इजाज़त गहलोत सरकार नहीं दे सकती है. इसके बाद टीम ने ये जानकारी जुटाने की कोशिश  की कि ये इज़्तिमा वाली बात आई कहां से. पड़ताल करने पर पता चला कि किले के बाहर ‘जश्न ए गरीब नवाज’ नाम का एक कार्यक्रम होना था. विरोध के बाद इसे रद्द कर दिया गया. इस कार्यक्रम का आयोजन करने वाले कमिटी के अध्यक्ष अब्दुल शेख ने इंडिया टुडे से बातचीत में बताया कि ये कार्यक्रम उन्होंने अपनी मां नसीबन बेगम के हज यात्रा से लौटने की खुशी में रखा था. विरोध हुआ तो इसे  कैंसिल कर दिया.

चिट्ठी में आम बोल-चाल की भाषा इस्तेमाल की गई है. इसीलिए कार्यक्रम किले पर होने की बात लिखी गई है. इंडिया टुडे से बातचीत में उन्होंने स्पष्ट किया कि कार्यक्रम किले के बाहर होना था.
चिट्ठी में आम बोल-चाल की भाषा इस्तेमाल की गई है. इसीलिए कार्यक्रम किले पर होने की बात लिखी गई है. इंडिया टुडे से बातचीत में उन्होंने स्पष्ट किया कि कार्यक्रम किले के बाहर होना था.

इंडिया टुडे की पड़ताल में ये खबर झूठी पाई गई. इसका अशोक गहलोत सरकार या फिर कांग्रेस से कोई लेना देना नहीं है.

तो आपके पास भी इसी तरह की कोई पोस्ट या फिर कोई वीडियो या फिर तस्वीर हो, जिसपर आपको शक हो, तो उसकी पड़ताल के लिए भेजिए padtaalmail@gmail.com पर. हम उसकी पड़ताल करेंगे और उसकी सच्चाई आपको बताएंगे


लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें
social media claims ashok gehlot permitted to muslim community for their iztima in kumbalgarh fort

10 नंबरी

डिंपल कपाड़िया को हॉलीवुड के इतने बड़े डायरेक्टर की फिल्म कैसे मिल गई?

क्रिस्टफर नोलन! नाम तो सुना ही होगा!

देश में चुनाव लड़ रही हीरोइनों के क्या हाल हैं?

नतीजे आते रहेंगे, मोदी जी आ चुके हैं. ;)

सेना से जुड़े वो 5 मुद्दे जिन्होंने बीते 6 महीने में नरेंद्र मोदी के लिए माहौल बनाया

सर्जिकल स्ट्राइक और एयर स्ट्राइक तो केवल दो हैं.

जब आलिया को पता चलेगा कि सलमान ने उनके बारे में क्या कहा है, तो वो खबर खोजकर पढ़ेंगी

सलमान खान ने अलिया भट्ट के बारे एक नहीं दो प्यारी बातें कहीं है.

इंटरनेट से गायब हुआ पीएम नरेंद्र मोदी का ट्रेलर वापस आ गया, इस बार मामला थोड़ा अलग है

इसमें ये भी पता चलेगा कि मोदी-शाह की पहली मुलाकात कहां हुई थी.

आदित्य चोपड़ा ने अपनी पहली फिल्म DDLJ में टॉम क्रूज़ के बदले शाहरुख़ को क्यों लिया?

नोटबंदी का सबसे बड़ा नुकसान आदित्य को ही हुआ!

'साहो' के पोस्टर रिलीज़ पर इससे जुड़ी 5 बातें- फिल्म के एक हिस्से को शूट करने में 25 करोड़ रुपए लग गए

'बाहुबली' वाले प्रभास की इस फिल्म के स्टंट कोरियोग्राफर, 'ट्रांसफॉर्मर्स', 'मिशन इमपॉसिबल', 'रश ऑवर' और 'आर्मागेडन' जैसी फिल्मों पर काम कर चुके हैं.

वो 5 वजहें, जिनके चलते अक्खा इंडिया सूर्यवंशम के हीरा ठाकुर से प्रेम करता है

आधार लिंक करवाया? पोलियो ड्रॉप्स पिलाई? सूर्यवंशम देखी?

फ़िल्म 'लाल कप्तान' की 6 ज़रूरी बातेंः सैफ का कैरेक्टर कहानी में नागा साधु क्यों बनता है?

पहला पोस्टर आ गया है. ये भी जानें रिलीज कब हो रही है सैफ अली खान स्टारर ये फिल्म.

वो लेखक, जिसके नाटकों को अश्लील, संस्कृति के मुंह पर कालिख मलने वाला बोला गया

जब एक नाटक में गुंडों ने तोड़फोड़ की तो बालासाहेब ठाकरे को राज़ी करके उसका मंचन करवाया गया.